CBIC का निर्देश- जीवन रक्षक दवाओं, ऑक्सीजन उपकरणों को दी जाए सर्वोच्च प्राथमिकता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2021   15:05
CBIC का निर्देश- जीवन रक्षक दवाओं, ऑक्सीजन उपकरणों को दी जाए सर्वोच्च प्राथमिकता

सीबीआईसी आयातित जीवन रक्षक दवाओं, ऑक्सीजन उपकरणों के निपटान को सर्वोच्च प्राथमिकता देगा।गौरतलब है कि कोविड-19 संक्रमण के मामलों के तेजी से बढ़ने के कारण जीवन रक्षक दवाओं और अन्य उपकरणों की भारी किल्लत हो गई है।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने अपने सभी फील्ड अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन उपकरणों सहित कोविड-19 के उपचार में इस्तेमाल होने वाली सभी आयातित खेपों का सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर निपटान किया जाए। गौरतलब है कि कोविड-19 संक्रमण के मामलों के तेजी से बढ़ने के कारण जीवन रक्षक दवाओं और अन्य उपकरणों की भारी किल्लत हो गई है।

इसे भी पढ़ें: IFFCO बरेली में लगाएगी ऑक्सीजन प्लांट, अस्पतालों को मिलेगी फ्री ऑक्सीजन

बोर्ड ने ट्वीट किया, ‘‘सीबीआईसी ने अपने सभी फील्ड अधिकारियों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ इन खेपों का निपटान करने के निर्देश दिए हैं।’’ देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,46,786 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,66,10,481 पर पहुंच गए जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 25 लाख से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। इन आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में 2,624 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,89,544 हो गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।