भारत, यूरोपीय संघ को व्यापार, निवेश समझौते को लेकर बातचीत समय पर पूरा होने की उम्मीद

India EU
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा कि विचार-विमर्श के दौरान दोनों पक्षों ने भारत-यूरोपीय संघ के बीच संबंधों में आई प्रगाढ़ता और राजनीतिक स्तर पर तेजी पर प्रसन्नता जतायी।

भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) ने मंगलवार को व्यापार और निवेश समझौतों को लेकर जारी बातचीत के समय पर पूरा होने की उम्मीद जतायी। साथ ही दोनों पक्ष संपर्क भागीदारी के क्रियान्वयन में अधिक महत्वाकांक्षा की जरूरत पर भी सहमत हुए। नौवीं भारत-यूरोपीय संघ विदेश नीति और सुरक्षा परामर्श बैठक की सह-अध्यक्षता विदेश मंत्रालय में सचिव (पश्चिम) संजय वर्मा और ‘यूरोपीयन एक्सर्टनल एक्शन सर्विस’ में राजनीतिक मामलों के उप-महासचिव एनरिक मोरा ने की।

विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा कि विचार-विमर्श के दौरान दोनों पक्षों ने भारत-यूरोपीय संघ के बीच संबंधों में आई प्रगाढ़ता और राजनीतिक स्तर पर तेजी पर प्रसन्नता जतायी। दोनों पक्षों ने भारत-यूरोपीय संघ व्यापार और प्रौद्योगिकी परिषद सहित प्रमुख द्विपक्षीय गतिविधियों का जायजा लिया। बैठक में भारत-ईयू व्यापार और निवेश समझौतों पर बातचीत में हुई प्रगति पर संतोष जताया गया।

बयान के अनुसार, दोनों पक्षों ने बातचीत को समय पर निष्कर्ष पर पहुंचाने को लेकर उम्मीद जतायी। इसको लेकर दो दौर की वार्ता पहले ही हो चुकी है। दोनों पक्षों ने भारत और यूरोपीय संघ के बीच विभिन्न संस्थागत व्यवस्था के कामकाज की भी समीक्षा की। इसमें साइबर सुरक्षा, आतंकवाद निरोधक उपाय, समुद्री सुरक्षा आदि शामिल हैं। साथ ही भारत-ईयू रणनीतिक भागीदारी के तहत सुरक्षा और रक्षा के क्षेत्र में सहयोग को नई ऊंचाई पर ले जाने की संभावना भी टटोली गयी। दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय हितों से जुड़े क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया और अगले भारत-ईयू शिखर सम्मेलन पर मिलकर काम करने की सहमति जतायी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़