अब पीएफ खाते से भर सकते हैं LIC प्रीमियम, जानें शर्तें और क्या मिलेगी सुविधा

अब पीएफ खाते से भर सकते हैं LIC प्रीमियम, जानें शर्तें और क्या मिलेगी सुविधा

अगर आप ईपीएफ के खाते से एलआईसी का प्रीमियम भरने का सोच रहे है तो सबसे पहले जान ले कि आपके ईपीएफ अकाउंट में कम से कम एलआईसी के दो साल के प्रीमियम के बराबर की रकम उपलब्ध होनी चाहिए। इसके बाद आप अपना एलआईसी का पॉलिसी नंबर और ईपीएफको लिंक करेंगे।

जीवन बीमा पॉलिसी का प्रीमियम समय से अगर नहीं भरा जाए तो ग्राहकों को काफी समसम्या का सामना करना पड़ता है। बता दें कि, अगर आप समय पर प्रीमियम नहीं भरते है तो इससे बीमा कवर होने का खतरा बढ़ा रहता है जिससे बाद में क्लेम मिलने में काफी परेशानी आती है। लेकिन अगर आपके पास भरतीय जीवन बीमा निगम की पॉलिसी है तो आप बहुत ही आसानी से समय पर अपना प्रीमियम भर सकते है। इसका उपाय है यह कि आप ईपीएफ यानि की कर्मचारी भविष्य निधि के अपने अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन कुछ शर्तों के साथ। अगर आप भी अपना प्रीमियम समय से ईपीएफ के खाते से भरना चाहते है तो इन नियमों का खास ध्यान रखना होगा।टैक्स सलाहकार के.सी. गोदुका के मुताबिक, जीवन बीमा पॉलिसी और ईपीएफ दोनों काफी महत्वपूर्ण हैं और इनपर निवेश करने से धारा 80 सी के तहत टैक्स छूट मिलती है। अगर आप मुश्किल समय में है और प्रीमियम भरने में समस्या आ रही है तो आप ऐसे समय में ईपीएफ से एलआईसी का प्रीमियम भर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, कोविड-19 के कारण 30,000 करोड़ का नुकसान

कैसे मिलेगी सुविधा

बता दें कि अगर आप ईपीएफ के खाते से एलआईसी का प्रीमियम भरने का सोच रहे है तो सबसे पहले जान ले कि आपके ईपीएफ अकाउंट में कम से कम एलआईसी के दो साल के प्रीमियम के बराबर की रकम उपलब्ध होनी चाहिए। इसके बाद आप अपना एलआईसी का पॉलिसी नंबर और ईपीएफको लिंक करेंगे। लिंक करने से पहले ईपीएफओ को फॉर्म 14 भरना होगा। यह एक तरह का परमिशन लेटर होगा जिसमें आपकी ओर से ईपीएफओ को एलआईसी का प्रीमियम भरने की सहमति दी जाएगी। इन सबके होने के बाद एलआईसी प्रीमियम सही समय पर आपके ईपीएफ अकाउंट से कट जाएगा। 

ध्यान रखना होगा यह

ग्राहकों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि यह सवुिधा केवल एलआईसी के प्रीमियम के भुगतान के लिए उपलब्ध होगा। किसी दूसरी बीमा कंपनी का प्रीमियम आप ईपीएफ के खाते से नहीं भर सकेंगे। साथ ही यह सुविधा केवल सालाना प्रीमियम वाली पॉलिसी पर ही उपलब्ध होगा न कि तिमाही और छमाही प्रीमियम के लिए।