IL&FS संकट की जांच कराने के लिए ममता ने मोदी को लिखी चिठ्ठी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 19, 2019   10:56
IL&FS संकट की जांच कराने के लिए ममता ने मोदी को लिखी चिठ्ठी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर कहा कि इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड में संकट के कारण देश की प्रमुख क्रेडिट रेटिंग संस्थानों के साथ-साथ जीवन बीमा निगम और भारतीय स्टेट बैंक की भूमिका पर सवाल उठाता है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड में ऋण संकट के कारण उत्पन्न आर्थिक विसंगतियां एवं आम लोगों की बचत में संभावित गड़बड़ी की एक उच्च स्तरीय जांच कराने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने लिखा है कि इस संकट ने निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के ‘लाखों कर्मचारियों’ को जोखिम में डाल दिया है, जिन्होंने अपनी गाढ़ी कमाई इस कंपनी में लगायी है।

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने पुलवामा हमले के समय को लेकर सवाल किए

मोदी को लिखे अपने पत्र में ममता ने कहा कि इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (आईएल एंड एफएस) में संकट के कारण देश की प्रमुख क्रेडिट रेटिंग संस्थानों के साथ-साथ जीवन बीमा निगम और भारतीय स्टेट बैंक की भूमिका पर सवाल उठाता है। जीवन बीमा निगम (एलआईसी) और एवं भारतीय स्टेट बैंक(एसबीआई) दोनों बुनियादी ढांचे के इस समूह में हितधारक हैं।

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी निजी कंपनी की तरह पश्चिम बंगाल में चला रहीं सरकार

मुख्यमंत्री ने लिखा कि केंद्र सरकार के तहत बेरोकटोक जारी इस गंभीर वित्तीय अनियमितताओं ने लोगों की आर्थिक सुरक्षा को गंभीर खतरे में डाल दिया है। नोटबंदी और जल्दबाजी में तथा बिना योजना के लागू की गयी जीएसटी के प्रदर्शन ने आम लोगों की आजीविका छीन ली। अब आईएल एंड एफएस के वित्तीय संकट से उनकी बचत जा रही है। उन्होंने लिखा है, ‘इसलिए, मैं आपसे आग्रह करती हूं कि आईएल एंड एफएस की विफलता के कारण आर्थिक विसंगतियां एवं लोगों के जीवन की गाढ़ी कमाई के संभावित संभावित दुरुपयोग की उच्च-स्तरीय एवं निष्पक्ष और स्वतंत्र जांच शुरू की जाए।’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।