• कर्ज से परेशान पूर्व मैनेजर ने रची ICICI बैंक में डकैती की साजिश, एक महिला की चाकू घोंपकर की हत्या

वराडे ने बताया कि दुबे को बाद में लोगों ने पकड़ लिया और उसका साथी मौके से फरार हो गया। लोगों ने वर्तक को बैंक में खून से लथपथ पड़े देखा जबकि उसकी सहकर्मी बुरी तरह घायल हो गयी।

पालघर। महाराष्ट्र में पालघर जिले के विरार में एक निजी बैंक की महिला अधिकारी की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गयी जबकि हमले में उसकी महिला सहकर्मी घायल हो गयी। पुलिस के अनुसार, हमले में दो लोग शामिल थे जिनमें से एक व्यक्ति बैंक की उसी शाखा का पूर्व प्रबंधक था जिसने कर्ज ले रखा था। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि यह घटना आईसीआईसीआई बैंक की विरार पूर्व शाखा में बृहस्पतिवार रात करीब साढ़े आठ बजे हुई। घटना के समय बैंक में दोनों महिलाएं ही काम कर रही थीं।

इसे भी पढ़ें: मिजोरम के राज्यपाल हरिबाबू कंभमपति ने राष्ट्रपति कोविंद से की मुलाकात

विरार पुलिस थाने के वरिष्ठ इंस्पेक्टर सुरेश वराडे ने बताया कि मामले में एक आरोपी अनिल दुबे को गिरफ्तार किया गया है। दुबे बैंक की इसी शाखा का पूर्व प्रबंधक है। उन्होंने बताया, ‘‘दोनों आरोपी बैंक में घुसे और उसकी सहायक प्रबंधक योगिता वर्तक तथा खजांची श्रद्धा देवरुखकर को चाकू दिखाकर धमकी दी।’’ उन्होंने बताया कि आरोपियों ने उन्हें नकदी और आभूषण देने को कहा तथा लूट के माल के साथ भागने की कोशिश की लेकिन दोनों महिलाओं ने शोर मचा दिया और उन्हें रोकने की कोशिश की। आरोपियों ने वर्तक और देवरुखकर को चाकू मार दिया।

वराडे ने बताया कि दुबे को बाद में लोगों ने पकड़ लिया और उसका साथी मौके से फरार हो गया। लोगों ने वर्तक को बैंक में खून से लथपथ पड़े देखा जबकि उसकी सहकर्मी बुरी तरह घायल हो गयी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां वर्तक को मृत घोषित कर दिया गया। उन्होंने बताया, ‘‘दुबे बैंक की उसी शाखा का पूर्व प्रबंधक है जहां यह पूरी घटना हुई। उसने एक करोड़ रुपये का कर्ज लिया था और उसे चुकाने के लिए बैंक को लूटने की साजिश रची। वह अभी जिले में एक अन्य निजी बैंक में काम करता है।’’ पुलिस दुबे के साथी को पकड़ने के लिए तलाश कर रही है।

अनिल दुबे ने रची थी साजिश

टीओआई में छपी एक खबर के मुताबिक, अनिल दुबे ने 1 करोड़ की डकैती की साजिश रची थी। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ के दौरान 3 करोड़ रुपये से अधिक की लूट के साथ पकड़े गए अनिल दुबे ने कबूल किया है कि उसने अपराध इसलिए किया क्योंकि उसने तीन बैंकों से 1 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज लिया था और 1.2 लाख रुपये की मासिक किस्तें चुकानी थीं। गुरुवार को बैंक में घुसे दुबे ने देर तक काम कर रही दो महिला कर्मचारियों को धमकाया और लॉकरों से नकदी व सोना लूट लिया। महिलाओं के विरोध करने पर एक दुबे ने एक महिला के चाकू से वार किया जहां उसकी मौके पर ही मौत हो गई।वहीं एक गंभीर रूप से घायल है।पकड़े जाने के बाद दुबे ने पुलिस को बताया कि उसका साथी फरार हो गया है। हालांकि, विरार के संजीवनी अस्पताल में भर्ती कैशियर श्रद्धा देवरुखकर ने पुलिस को बताया कि वह अकेले आया था। बता दें कि अनिल दुूबे  दोनों महिलाओं को जानता था और यह भी जानता था कि दोनों महिलाएं बैंक में देर तक काम करेंगी। दुबे पर हत्या, हत्या के प्रयास और डकैती का मामला दर्ज किया गया है। उसे एक सप्ताह के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस ने दुबे को पकड़ने में मदद करने वाली दो महिलाओं और एक पुरुष को भी सम्मानित किया है।