श्रीलंका की सारी उम्मीदें खत्म, विश्व बैंक ने कर्ज देने से किया इनकार

World Bank
Google common license
‘पर्याप्त’ व्यापक आर्थिक नीति लागू होने तक श्रीलंका को कोई नया वित्तपोषण नहीं होगी।विश्व बैंक ने यह बयान बृहस्पतिवार को जारी किया। इससे दो दिन पहले एक अन्य वैश्विक वित्तीय निकाय अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने श्रीलंका से कहा था कि वह चीन सहित अपने ऋणदाताओं के साथ कर्ज पुर्नगठन करे।

कोलंबो। विश्व बैंक ने कहा कि संकटग्रस्त श्रीलंका को तब तक नया वित्तपोषण नहीं दिया जाएगा, जब तक कि वहां एक ‘पर्याप्त’ व्यापक आर्थिक नीति का मसौदा तैयार नहीं हो जाता है। विश्व बैंक ने यह बयान बृहस्पतिवार को जारी किया। इससे दो दिन पहले एक अन्य वैश्विक वित्तीय निकाय अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने श्रीलंका से कहा था कि वह चीन सहित अपने ऋणदाताओं के साथ कर्ज पुर्नगठन करे। इसके बाद ही उसे राहत पैकेज दिया जा सकता है। श्रीलंका अभूतपूर्व आर्थिक संकट का सामना कर रहा है, जिसके कारण वहां ईंधन और अन्य जरूरी वस्तुओं की भारी कमी हो गई है।

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका: ध्वज का अपमान करने के आरोप में श्रमिक संगठन का नेता गिरफ्तार

विश्व बैंक ने बयान में कहा, ‘‘जब तक एक पर्याप्त व्यापक आर्थिक नीति ढांचा लागू नहीं हो जाता, तब तक विश्व बैंक श्रीलंका को नए वित्तपोषण की पेशकश करने की योजना नहीं बना रहा है।’’ बयान के मुताबिक, ‘‘इसके लिए गहन संरचनात्मक सुधारों की आवश्यकता है, जो आर्थिक स्थिरीकरण पर ध्यान केंद्रित करते हैं।’’ विश्व बैंक ने कहा कि भविष्य में श्रीलंका का पुनरुद्धार मजबूत और समावेशी होना चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़