ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफार्म ब्रेनली ने राजेश बिसानी को CPO के रूप में नियुक्त किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2020   18:49
ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफार्म ब्रेनली ने राजेश बिसानी को CPO के रूप में नियुक्त किया

ऑनलाइन शिक्षण समुदाय, ब्रेनली ने हाल ही में राजेश बिसानी को अपना मुख्य उत्पाद अधिकारी (सीपीओ) नियुक्त किया।सीपीओ के रूप में अपनी भूमिका में, बिसाणी विश्व स्तरीय उत्पादों के निर्माण के लिए टीम का नेतृत्व करने के लिए ज़िम्मेदार होंगे, जो एक अग्रणी वैश्विक शैक्षिक मंच बनने की कंपनी की दूरदर्शिता के अनुरूप है।

दिल्ली। ज्ञान साझा करने और जानने के लिए छात्रों के लिए एक सहयोगी समुदाय की सुविधा देने के उद्देश्य से, छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन शिक्षण समुदाय, ब्रेनली ने हाल ही में राजेश बिसानी को अपना मुख्य उत्पाद अधिकारी (सीपीओ) नियुक्त किया। जबकि ब्रेनली खुद को भारत के प्रमुख ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफार्मों में से एक के रूप में स्थापित करने में सफल रहा है, उत्पाद प्रबंधन के इस दिग्गज को शामिल करना देश में अपनी उपस्थिति को और मजबूत करने की दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है।

इसे भी पढ़ें: ब्रेनली सर्वे के अनुसार भारतीय छात्र लेते हैं ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म का सहारा

सीपीओ के रूप में अपनी भूमिका में, बिसाणी विश्व स्तरीय उत्पादों के निर्माण के लिए टीम का नेतृत्व करने के लिए ज़िम्मेदार होंगे, जो एक अग्रणी वैश्विक शैक्षिक मंच बनने की कंपनी की दूरदर्शिता के अनुरूप है। ब्रेनली में शामिल होने से पहले, बिसाणी के पास विभिन्न प्रोफाइलों में स्थापित और उभरती दोनों कंपनियों के साथ काम करने का 15 से अधिक वर्षों का एक समृद्ध पेशेवर अनुभव रहा है। वह गूगल में मोबाइल ट्रांसफॉर्मेशन लीड, ज़ूमकार में सीपीओ, फ्रीचार्ज पर एवीपी (उत्पाद और विकास) और रेडबस और बुकमाइशो में शुरुआती उत्पाद टीमों का एक प्रमुख हिस्सा थे। अपने विपुल करियर के दौरान, उन्हें कुछ सबसे नवीन और पथ-प्रदर्शक उत्पादों को बनाने, क्रियान्वित करने, और विकसित करने का काम सौंपा गया है, जिन्होंने लाखों लोगों के जीवन को सरल और समृद्ध बनाया है।

बिसाणी ने टिप्पणी की, "अनुभवी उत्पाद प्रबंधक के रूप में, जिसके पास पिछले डेढ़ दशक में देश के कुछ सबसे नवीन तकनीकी-आधारित उत्पादों को विकसित करने में मदद करने का प्रत्यक्ष अनुभव रहा है, मेरे काम के पीछे का मार्गदर्शक सिद्धांत हमेशा से यह सिद्धांत रहा है कि हमारे दैनिक जीवन में सुधार करने और उन समस्याओं को हल करने में मदद करने के लिए के लिए तकनीक हमेशा मौजूद रही है जिनका सामना लोग नियमित रूप से करते हैं।”

इसे भी पढ़ें: ब्रेनली ने 2019 का समापन 20 मिलियन यूजर्स के साथ किया, पाई दोगुनी कामयाबी

ब्रेनली का ‘कम्यूनिटी लर्निंग’ मॉडल ऑनलाइन शिक्षा, सोशल मीडिया और मशीन लर्निंग को मिलाकर वैश्विक स्तर पर यूएसडी 2.6 बिलियन के शिक्षा बाजार को विविधता फैला रहा है। एक वर्ष के भीतर, यह प्लेटफार्म 100 मिलियन सक्रिय मासिक उपयोगकर्ताओं से 150 मिलियन सक्रिय मासिक उपयोगकर्ताओं तक बढ़ने में सफल रहा, जो शैक्षणिक शिक्षण के लिए बहुत जरूरी ‘अतिरिक्त कोच’ के रूप में काम कर रहा था। क्राकोव, पोलैंड और न्यूयॉर्क शहर में मुख्यालय के साथ, ब्रेनली इस विश्वास से प्रेरित है कि ऑनलाइन शिक्षण समुदाय दुनिया भर के छात्रों को ज्ञान और जानकारी से सशक्त बना सकता है। 

बिसाणी ने आगे कहा, “अपने मूल भावना के रूप में, दुनिया भर के छात्रों के लिए शैक्षिक परिणामों में सुधार करने और डिजिटल वातावरण में वास्तविक जीवन के सहयोग के सभी लाभों को स्थानांतरित करने के लिए ब्रेनली मौजूद है। यह पूरी तरह से मेरे स्थायी विश्वास से मिलता जुलता है कि तकनीक में लोगों के जीवन में बेहतर बदलाव लाने की शक्ति है, और मैं ऐसी अभिनव कंपनी के साथ काम करने के लिए रोमांचित हूं, जो डिजिटल युग में वैश्विक शिक्षा पर जबरदस्त सकारात्मक प्रभाव डाल रही है। मैं इस विजन को और फैलाने, उत्पाद की अगली पीढ़ी को विकसित करने और मजबूत करने में मदद करने, और इस विजन को आगे बढ़ाने के अवसर का इंतजार कर रहा हूं।”

इसे भी पढ़ें: ब्रेनली के 90 प्रतिशत भारतीय यूजर बेस को लगता है यह प्लेटफार्म शैक्षणिक प्रदर्शन में फायदेमंद

यह नियुक्ति ऐसे समय में हुई है जब ब्रेनली ने 100% से अधिक की साल दर साल वृद्धि और 20 मिलियन+ के उपयोगकर्ता-आधार साथ, भारत में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की है, जो नवंबर 2018 में घोषित 10 मिलियन की अपनी पिछली गणना से दोगुना है। आगे, भारतीय शिक्षा परिदृश्य में प्रमुख रुझानों को मापते हुए और छात्रों की वास्तविक जरूरतों को समझकर, अपनी सामग्री को व्यापक दर्शकों के लिए सुलभ बनाने के लिए, इस प्लेटफार्म ने हिंदी, संस्कृत, मराठी, तेलुगु, तमिल, गुजराती, कन्नड़, और बंगाली, जैसी क्षेत्रीय भाषाओं में सामग्री के अलावा अपने ज्ञान के आधार में भी विविधता लाई है।  

इस नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए, ब्रेनली ने सह-संस्थापक और सीईओ, माइकेल बोर्कोव्स्की ने कहा, “हमारे नए सीपीओ राजेश बिसाणी हमारी टीम में एकदम सही वृद्धि हैं और यह हमारे प्लेटफार्म को और मजबूत बनाने में मदद करने में एक अभिन्न हिस्सा होंगे, जिस पर छात्र और अभिभावक मदद के लिए भरोसा करते हैं। जैसा कि हम ब्रेनली की विशेषताओं और उत्पाद की पेशकशों को नया रूप देना जारी रखते हैं, ताकि छात्र बेहतर तरीके से जुड़ सकें, सीख सकें और जानकारी पा सकें, इस लक्ष्य को प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा यह सुनिश्चित करना है कि हमारे पास उत्पाद टीम के लिए राजेश जैसे कुशल, उत्साही लीडर हैं। उनके समृद्ध अनुभव और साहसिक दृष्टिकोण से हमें अपने उपयोगकर्ताओं के लिए एक अधिक प्रभावी और प्रासंगिक उत्पाद बनाने में मदद मिलेगी, और हम उनके साथ नई उपलब्धि हासिल करने और दुनिया भर के अधिक से अधिक उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन सीखने का लाभ देने के लिए तत्पर हैं।”

इसे भी पढ़ें: 90 % भारतीय यूजर का मानना, ब्रेनली प्लेटफार्म अकादमिक प्रदर्शन में फायदेमंद

ब्रेनली ने दुनिया भर में प्रसिद्ध तकनीक निवेशक नैस्पर्स के नेतृत्व में अपने आखिरी फंडिंग राउंड में 30 मिलियन अमेरिकी डॉलर जुटाए थे। वर्ष 2016 और 2017 में, प्लेटफॉर्म ने क्रमशः 15 मिलियन सीरीज़ बी फंडिंग और 14 मिलियन यूएसडी सीरीज़ बी-1 फ़ंडिंग को पूरा किया था, जिसका नेतृत्व क्रमशः नैस्पर्स और कुलज़ेक इनवेस्टमेंट्स ने किया था, जिससे कुल फंड अब तक 68.5 मिलियन यूएसडी तक पहुंच गया है। ब्रेनली इन आय का उपयोग उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने और अगली पीढ़ी का प्लेटफार्म बनाने के लिए कर रहा है। इसके प्रमुख बाजारों में से एक, भारत में अपने उपयोगकर्ता आधार को और विस्तारित करने के लिए इन निवेशों का लाभ उठाने पर भी ध्यान केंद्रित किया गया है।

ब्रेनली के बारे में अधिक जानने के लिए, कृपया देखें: <https://brainly.in/>





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।