बंदरगाहों के विकास के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी पर विचार करने की जरूरतः सोनोवाल

Sarbanand Sonowal
ANI Photo.
एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, बंदरगाहों पर बहुमॉडल कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए कुल 157 सड़क कनेक्टिविटी परियोजनाएं और 137 रेल कनेक्टिविटी परियोजनाएं चल रही हैं।

नयी दिल्ली| केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने रविवार को कहा कि देश के बंदरगाहों को विकसित और आधुनिक बनाने के लिए सार्वजनिक-निजी साझेदारी के मॉडल पर विचार करना होगा जिससे नए बंदरगाहों के विकास के लिए सरकार के संसाधनों पर दबाव कम होगा।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, बंदरगाहों पर बहुमॉडल कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए कुल 157 सड़क कनेक्टिविटी परियोजनाएं और 137 रेल कनेक्टिविटी परियोजनाएं चल रही हैं।

बयान में कहा गया, ‘‘केंद्रीय मंत्री ने बंदरगाहों के सभी अधिकारियों से आधुनिकीकरण और यांत्रिकरण के लिए एक महत्वपूर्ण परियोजना की पहचान करने, उसे शुरू करने और पूरा करने को कहा है। इससे बंदरगाह क्षमता बढ़ेगी और कार्य प्रणाली बेहतर होगी।’’

पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय ने कर्नाटक के कूर्ग में तीन दिवसीय बैठक शुरू की है जिसमें समुद्रीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए विचारों और नवोन्मेषों पर चर्चा होगी। इस बैठक में मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी, प्रमुख बंदरगाहों के चेयरपर्सन आदि शामिल हो रहे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़