कभी नहीं गईं स्कूल, 2 साल में कमाए 1 लाख करोड़, जानें चीन की यांग हुईयान को पछाड़ कर एशिया की सबसे अमीर महिला बनने वाली सावित्री जिंदल की कहानी

Savitri Jindal
Creative Common
अभिनय आकाश । Jul 30, 2022 6:01PM
चीन की यांग हुइयान की संपत्ति लगभग 24 बिलियन डॉलर थी, जिससे वह एशिया की सबसे अमीर महिला बन गईं। लेकिन ये तो 2021 की बात थी। वक्त बदलने के साथ उनकी इस उपलब्धि और स्थान को भारत की उद्यमी महिला ने पछाड़ कर खुद को उस स्थान पर काबिज करवा लिया है।

महिला वर्तमान दौड़ में हर क्षेत्र में तरक्की कर रही हैं और इससे उद्योग जगत भी अछूता नहीं है। व्यापार में महिलाओं ने प्रगति की है और पुरुषों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर खड़ी हैं। ऐसे में आज आपको एशिया की सबसे अमीर महिला की कहानी बताएंगे, जिन्होंने उद्योग जगत में खास कीर्तिमान हासिल किया है। चीन की यांग हुइयान की संपत्ति लगभग 24 बिलियन डॉलर थी, जिससे वह एशिया की सबसे अमीर महिला बन गईं। लेकिन ये तो  2021 की बात थी। वक्त बदलने के साथ उनकी इस उपलब्धि और स्थान को भारत की उद्यमी महिला ने पछाड़ कर खुद को उस स्थान पर काबिज करवा लिया है। हुइयान चीन के सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर कंट्री गार्डन होल्डिंग्स को नियंत्रित करती हैं। लेकिन चीन में रियल एस्टेट संकट के कारण इस साल उन्हें 11 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ। जिससे उन्होंने अरबपति के सूचकांक में अपनी रैंक खो दी और सावित्री जिंदल उनके आगे निकल गईं। 

इसे भी पढ़ें: कौन है फातिमा पेमान, जो बनी ऑस्ट्रेलिया की पहली हिजाबी महिला सांसद, युवा लड़कियों को दी ये सलाह

कौन हैं सावित्रि जिंदल? 

जिंदल ग्रुप की अध्यक्ष सावित्रि जिंदल भारत की सबसे अमीर महिला हैं वहीं अब इस उपल्बिधि के साथ वो एशिया की भी सबसे अमीर महिला बन गईं। सावित्रि जिंदल की कुल संपत्ति 18 बिलियन डॉलर यानी 1 लाख 43 हजार करोड़ रुपये बताई जाती है। बीते दो सालों में उनकी संपत्ति तीन गुना से ज्यादा हो गई है। 2020 में 3.2  बिलियन डॉलर से 2022 में  16 बिलियन डॉलर हो गई। सावित्रि जिंदल का बचपन संघर्षों से भरा रहा है। जब वे 55 साल की थीं तो उनके पति ओम प्रकाश जिंदल की मौत हो गई। ओपी जिंदल समूह के संस्थापक थे। उनकी मौत एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में हुई थी। इसके बाद उन्होंने अपने पति का कारोबार संभाला। फिलहाल वे जिंदल समूह की अध्यक्ष हैं। ये ग्रुप इस्पात, बिजली, सीमेंट और बुनियादी ढांचा जैसे सेक्टर में काम करता है। सावित्री जिंदल का जन्म 20 मार्च 1950 को असम के तिनसुकिया में हुआ। यह वह दौर था जब लोग लड़कियों को पढ़ाना जरूरी नहीं समझते थे। सावित्री ने भी कभी स्कूल का मुंह नहीं देखा।

इसे भी पढ़ें: न्यायालय ने एक महिला को 11 वर्षीय बेटे को उसके पिता को सौंपने का निर्देश दिया

पिछले पांच सालों से एशिया की सबसे अमीर महिला रहीं यांग हुईयन के लिए यह एक नाटकीय गिरावट रही है, लेकिन हाल के वर्षों में सावित्री जिंदल की कुल संपत्ति में बेतहाशा उतार-चढ़ाव आया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार अप्रैल 2020 में कोविड महामारी की शुरुआत में यह गिरकर 3.2 बिलियन डॉलर के करीब हो गया और फिर अप्रैल 2022 में 15. 6 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया, क्योंकि यूक्रेन पर रूसी आक्रमण ने कमोडिटी की कीमतों में बढ़ोतरी की। साल 2005 में यांग हुइयान को रियल एस्टेट डेवलपर में अपने पिता की हिस्सेदारी मिली थी। इससे वह दुनिया में सबसे कम उम्र के अरबपति बन गए थे। साल 2018 में, उन्होंने चार दिनों में दो अरब डॉलर से ज्यादा की कमाई की। हालांकि, इस साल, उन्हें सिर्फ एक दिन में एक अरब डॉलर से ज्यादा का नुकसान भी हुआ था।

अन्य न्यूज़