आम बजट 2022-23: ओमीक्रोन की वजह से मिठाई ने लिया हलवे का स्थान

Budget
छपाई से जुड़े कर्मचारियों को भी नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में प्रिंटिंग प्रेस के अंदर कम से कम कुछ सप्ताह के लिए पृथक रहना पड़ता था। वित्त मंत्री द्वारा संसद में बजट पेश किए जाने के बाद ये कर्मचारी-अधिकारी अपने परिजनों से संपर्क कर पाते हैं।

नयी दिल्ली, कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप को लेकर चिंता के बीच वित्त मंत्रालय ने इस साल बजट से पहले परंपरागत हलवा समारोह को छोड़ दिया है। कर्मचारियों के घर-परिवार से अलग रहने और बजट दस्तावेज की छपाई का काम परंपरागत हलवा समारोह से शुरू होता रहा है। लेकिन इस साल इन कर्मचारियों को हलवा के बजाय मिठाई बांटी गई है। वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा कि बजट की गोपनीयता को कायम रखने के लिए बजट दस्तावेज तैयार करने वाले अधिकारियों को दफ्तर में ही अपने परिवार से अलग रहना पड़ता है।

छपाई से जुड़े कर्मचारियों को भी नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में प्रिंटिंग प्रेस के अंदर कम से कम कुछ सप्ताह के लिए पृथक रहना पड़ता था। वित्त मंत्री द्वारा संसद में बजट पेश किए जाने के बाद ये कर्मचारी-अधिकारी अपने परिजनों से संपर्क कर पाते हैं। वित्त वर्ष 2022-23 का बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी, 2022 को पेश करेंगी। यह उनका चौथा बजट होगा। इस बार भी बजट कागजरहित होगा। एक ऐतिहासिक पहल के तहत पहली बार 2021-22 का बजट कागजरहित स्वरूप में पेश किया गया था। सांसदों और आम लोगों की आसानी से बजट दस्तावेजों तक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए ‘यूनियन बजट मोबाइल ऐप’ भी पेश शुरू की गई थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़