भूल से भी न करें WhatsApp Pink को डाउनलोड, खो सकते है बैंक और पर्सनल डाटा

भूल से भी न करें WhatsApp Pink को डाउनलोड, खो सकते है बैंक और पर्सनल डाटा

आपको बता दें कि यह नया वायरस अभी तक IOS युजर्स में नहीं आया है लेकिन Android फोन इस्तेमाल करने वाले सभी युजर्स सावधान रहे क्योंकि इस वक्त यह लिंक इसमें ज्यादा शेयर किया जा रहा है।

कई सारे साइबर एक्सपर्टस के द्वारा चेतावनी दी गई है कि WhatsApp Pink करके एक वायरस फैलानी की कोशिश की जा रही है। जी हांं, आपने कभी भी WhatsApp को पिंक कलर में नहीं देखा होगा लेकिन आपको एक लिंक के जरिए ऑफर दिया जाएगा कि आप अपने WhatsApp का कलर ग्रीन (Green) को बदलकर पिंक में कर सकते हो यानि के नए थीम में करने के लिए यूजर्स को कहा जा सकता है। जिसके चलते आपका जो फोन है वो हैक करने की कोशिश की जा रही है। टीओआई  में छपी एक खबर के अनुसार, WhatsApp पिंक एक ऐसा वायरस है जो WhatsApp युजर्स को टारगेट करके उनका सारा डाटा एकत्र कर सकता है। 

क्या सच में WhatsApp में आ रहा है कोई नया वायरस?

आपको बता दें कि WhatsApp इस वक्त काफी सुरक्षित है और इसमें कोई वायरस नहीं आ रहा है। तो आखिर यह पिंक WhatsApp वायरस है क्या? टीओआई की खबर के अनुसार, WhatsApp में आप कई तरह के ग्रुप को ज्वाइंन कर लेते हो जिसमें से कई सारे Unknown ग्रुप भी होते है जिसे आप बिना समझे ऐड कर लेते है। आपको बता दें कि यह वायरस चैट की एक लिंक के जरिए आपके फोन पर अटैक करता है। यह लिंक किसी के भी जरिए से आप तक पहुंच सकता है। इसमें आपको लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाएगा और कहा जाएगा कि WhatsApp पिंक को डाउनलोड करे, इसमें आपको कहा जाएगा कि आप अपने WhatsApp का थीम चेंज कर सकते है यानि की WhatsApp को ग्रीन से पिंक में बदल सकते है। युजर्स को लुभाने के लिए इसमें और नए फीचर्स को ऐड करने के लिए ऑफर किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: पारले प्रॉडक्टस ने वृद्धि के रास्ते पर बढ़ने के लिये IBM के साथ हाथ मिलाया

खबर के अनुसार ऐसे कई यूजर्स है जिन्हें यह लिंक प्राप्त हुआ है, इसी को लेकर साइबर एक्सपर्टस ने चेताया है और कहा है कि अगर आपको ऐसा कोई लिंक मिलता है जिसमें आप से WhatsApp को पिंक में बदलने को कहा जाए, तो यह पूरी तरह से गलत है क्योंकि WhatsApp के ऑफिशियल की तरफ से ऐसा कोई थीम आया ही नही है। इसी के साथ साइबर एक्सपर्ट राजशेखर राझारिया ने ट्वीटर पर इसको लेकर काफी डिटेल भी शेयर किया है। उन्होंने चेतावनी देते हुआ बताया है कि WhatsApp पिंक से सावधान रहे। राजशेखर रझारिया के मुताबिक, यह नया वायरस युजर्स के WhatsApp ग्रुप के जरिए APK Download link करके आ सकता है। आपको बता दें कि APK file डाउनलोड लिंक उसे कहा जाता है जो वेबसाइट के जरिए डाउनलोड किया जा सके। कभी-कभी युजर्स को ऐप स्टोर या प्ले स्टोर में कोई ऐप नहीं मिलता तो वह वेबसाउट के जरिए ऐप को डाउनलोड करता है। 

Android / ios

आपको बता दें कि यह नया वायरस अभी तक IOS युजर्स में नहीं आया है लेकिन  Android फोन इस्तेमाल करने वाले सभी युजर्स सावधान रहे क्योंकि इस वक्त यह लिंक इसमें ज्यादा शेयर किया जा रहा है। जब युजर्स इस लिंक को क्लिक करेगा तो पिंक  WhatsApp करके एक शानदार सा पेज सामने आपके खुल जाएगा जो आपको काफी रियल भी लगेगा। फिर वहां एक डाउनलोड now का ऑप्शन होगा जिसपर आप जैसे ही क्लिक करेंगे वैसे ही हैकर आपके पूरे फोन को हैक कर लेगा। इसके जरिए आपके पूरे फोन के साथ हैकर छेड़छाड़ कर सकता है, आपके पर्सनल डाटा, फोटो, मैसेज, कॉन्टेक्टस और यहां तक की आपके बैंक पासवर्ड को भी हैकर हैक कर लेगा। 

ऐसे करे Uninstall!