शताब्दी, राजधानी, दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में खत्म होगा डायनेमिक किराया? रेल मंत्री ने दिया यह जवाब

Ashwini vaishnav
ANI
अंकित सिंह । Aug 03, 2022 6:52PM
सरकार ने बुधवार को बताया कि आदर्श स्टेशन योजना के तहत अब तक भारतीय रेल के 1253 रेलवे स्टेशन विकसित करने के लिए चिह्नत किये गये हैं जिनमें से 1215 स्टेशनों को विकसित किया जा चुका है और शेष 38 स्टेशनों को चालू वित्त वर्ष में विकसित किया जाएगा।

देश में हर दिन लगभग करोड़ों लोग भारतीय रेलवे के जरिए अपनी यात्रा संपन्न करते हैं। रेल को भारत में यात्रा का एक अहम साधन माना जाता है। रेलवे की ओर से भी यात्रियों को सुगम यात्रा मुहैया कराने के लिए लगातार तरह-तरह के काम किए जाते हैं। वर्तमान में भारत में राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी ट्रेनों में यात्रियों को बढ़िया सुविधाएं प्रदान की जाती है। इन ट्रेनों को यात्रा के लिहाज से काफी आरामदायक थी माना जाता है। लेकिन यह बात भी सच है कि राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसे प्रीमियम ट्रेनों में अभी डायनेमिक किराया लगता है। इसका मतलब यह है कि जैसे-जैसे इन ट्रेनों में सीटें कम होती जाएंगी वैसे-वैसे इनके किराए बढ़ते जाएंगे। यही कारण है कि यात्रियों को इन ट्रेनों में सफर करने के लिए ज्यादा किराया देना पड़ता है। समय-समय पर डायनेमिक किराए को खत्म करने के बारे में बात की जाती है।

इसे भी पढ़ें: 1215 रेलवे स्टेशनों को आदर्श स्टेशन बनाया गया, 38 को इस वित्त वर्ष में बना दिया जाएगा: अश्विनी वैष्णव

लोकसभा में भी रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से डायनेमिक किराए को खत्म करने को लेकर सवाल पूछा गया। सवाल था कि यात्रियों को लुभाने के लिए क्या राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसे प्रीमियम ट्रेनों में डायनेमिक फेयर को खत्म करने का विचार किया जा रहा है? इसके जवाब में अश्विनी वैष्णव ने कहा कि फिलहाल सरकार की ओर से फ्लेक्सी फेयर पॉलिसी को वापस लेने की कोई योजना नहीं है। आपको बता दें कि डायनेमिक किराया प्रणाली के मुताबिक 10% सीटों की बुकिंग के बाद किराए में 10% की बढ़ोतरी हो जाती है। इसे 9 सितंबर 2016 को लागू किया गया था। डायनेमिक फेयर की वजह से कई बार स्थिति ऐसी हो जाती है कि कुछ रूटों पर रेल किराया हवाई जहाज के किराए से भी अधिक हो जाता है। रेल मंत्री ने बताया है कि कोरोना काल से पहले के दौर में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम में पैसेंजर और ट्रेनों से होने वाली कमाई नॉन फ्लेक्सी से ज्यादा बड़ी है।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार पर राहुल गांधी का बड़ा हमला, बोले- न हम डरेंगे और न इन्हें डराने देंगे

1215 रेलवे स्टेशनों को आदर्श स्टेशन बनाया गया

सरकार ने बुधवार को बताया कि आदर्श स्टेशन योजना के तहत अब तक भारतीय रेल के 1253 रेलवे स्टेशन विकसित करने के लिए चिह्नत किये गये हैं जिनमें से 1215 स्टेशनों को विकसित किया जा चुका है और शेष 38 स्टेशनों को चालू वित्त वर्ष में विकसित किया जाएगा। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने लोकसभा में चंद्रेश्वर प्रसाद और रघुराम कृष्ण राजू के प्रश्नों के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। मंत्री के जवाब के अनुसार अभी 38 स्टेशनों को आदर्श स्टेशन बनाया जाना बाकी है जिन पर कार्य प्रगति पर है। इन स्टेशनों में सर्वाधिक 18 उत्तर प्रदेश में हैं जिनमें अयोध्या, आंवला, फूलपुर और उन्नाव आदि हैं।

अन्य न्यूज़