राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक मोर्चे पर उथलपुथल मचाने वाले साल 2020 पर एक नजर

राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक मोर्चे पर उथलपुथल मचाने वाले साल 2020 पर एक नजर

कोरोना के शुरुआती दौर में छुआछूत जैसी सोच भी दिखाई दी जब लोग अपने ही परिजनों से बीमारी के समय दूरी बनाने लगे। परिचितों, परिजनों के अंतिम दर्शन ना कर पाने की पीड़ा भी लोगों को सहनी पड़ी तो साथ ही त्योहारों को अकेले मनाना पड़ा।

नये वर्ष की शुरुआत नागरिकता कानून में संशोधन के खिलाफ दिसंबर 2019 से जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच हुई और साल का अंत किसान आंदोलन से हो रहा है। आंदोलन से शुरू हुए और आंदोलन पर खत्म हुए साल 2020 में कोरोना वायरस ने ऐसा कहर बरपाया कि अर्थव्यवस्था त्राहिमाम कर उठी। एक ओर कोरोना अपना प्रभाव फैलाता रहा तो दूसरी ओर भारतीयों ने भी अपनी इम्युनिटी बढ़ाते हुए, मास्क लगाते हुए, दो गज की दूरी के नियम का पालन करते हुए कोरोना का पूरी दृढ़ता के साथ मुकाबला किया। साल का अंत आते-आते कोरोना के मामलों में गिरावट और अर्थव्यवस्था के सभी मोर्चों पर मिल रही खुशखबरी से अच्छे दिनों के संकेत मिलने लगे हैं लेकिन कोरोना वायरस के नये स्वरूप के उभार ने वैश्विक स्तर पर आशंकाओं के नये बादलों को जन्म दे दिया है।

वर्ष 2020 जहाँ भारत के लिए घटनाओं से भरा रहा वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई उलटफेर हुए। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की गद्दी जनता ने पलट दी तो नेपाल के प्रधानमंत्री ने खुद ही संसद को भंग कर दिया। आस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग ने दुनिया भर के पर्यावरणविदों का ध्यान अपनी ओर खींचा तो कोरोना वायरस के जनक चीन के खिलाफ दुनियाभर में नाराजगी बढ़ी। ओलंपिक खेलों के इतिहास में दुनिया के इस सबसे बड़े खेल आयोजन को स्थगित किया गया तो इटली पहला ऐसा देश बना जिसने राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन लगाया। अमेरिका में जॉर्ज फ्लायड की मृत्यु ने वैश्विक स्तर पर रंगभेद के खिलाफ आवाज बुलंद की तो केरल में गर्भवती हथिनी की पटाखा खाने से हुई मृत्यु पर हर किसी की आंखें नम हो गयीं।

वर्क फ्रॉम होम, ऑनलाइन क्लासेज, क्वारांटीन, इम्युनिटी बूस्टर जैसी चीजें आम हो गयीं। कोरोना के शुरुआती दौर में छुआछूत जैसी सोच भी दिखाई दी जब लोग अपने ही परिजनों से बीमारी के समय दूरी बनाने लगे। परिचितों, परिजनों के अंतिम दर्शन ना कर पाने की पीड़ा भी लोगों को सहनी पड़ी तो साथ ही त्योहारों को अकेले मनाना पड़ा। लॉकडाउन के दौरान एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए पास बनवाने के लिए मारामारी हुई तो साथ ही गृह मंत्रालय पूरे साल लॉकडाउन और अन्य पाबंदियों के दिशानिर्देश बनाने और राज्यों से समन्वय करने में ही लगा रहा। इस दौरान देश के कुछ भागों में भारी वर्षा और चक्रवाती तूफानों का भी सामना करना पड़ा तो लॉकडाउन के बाद अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होते ही शराब की दुकानें खुलने, ट्रेनों के चलने, हवाई यात्रा बहाल होने, धार्मिक स्थलों के खुलने, सिनेमाघरों के खुलने आदि के दौरान लोगों की खुशी देखने लायक रही।

इसे भी पढ़ें: संकट काल में पूरी दुनिया ने देखी नरेंद्र मोदी की अद्भुत नेतृत्व क्षमता

मास्क, सैनेटाइजर, पीपीई किट अधिकतर बाहर से ही आते थे लेकिन भारत कोरोना काल में इस मामले में पूरी तरह आत्मनिर्भर बन गया। यही नहीं वेंटिलेटर बनाने वाले कई स्टार्टअप भी इस दौरान उभर कर आये। कोरोना काल ने और भी कई बड़े बदलाव किये जैसे कि शादी-विवाह आदि बड़े सादे ढंग से आयोजित किये जाने लगे और नाममात्र के ही रिश्तेदारों की उपस्थिति इन आयोजनों में रहने लगी। लॉकडाउन के दौरान सिनेमाघर बंद हो गये तो दूरदर्शन ने रामायण, महाभारत, श्रीकृष्णा आदि पुराने धारावाहिक शुरू किये जो काफी हिट हुए। यही नहीं लोग वेब सीरिज या ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर फिल्में आदि देखकर समय बिताने लगे।

देखा जाये तो कोरोना ने दुनियाभर की चाल थामने का भरसक प्रयास किया लेकिन भारतीय हर क्षेत्र में आगे बढ़ते रहे। हमारी सेना आधुनिक हथियारों से सुसज्जित होती रही। इसरो और डीआरडीओ नवीनतम प्रौद्योगिकियों से देश को ताकतवर बनाते रहे। इसी साल दुनिया की सबसे लंबी सुरंग का उद्घाटन हुआ तो साथ ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन और संसद के नये भवन के निर्माण कार्य के लिए भूमि पूजन कर प्रधानमंत्री ने नया इतिहास रचा। बॉलीवुड भी साल 2020 में खासा चर्चित रहा क्योंकि सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में सीबीआई जाँच में तमाम उतार-चढ़ाव आते रहे। मुंबई पुलिस की जाँच पर सवाल उठे, ड्रग्स मामले में एनसीबी ने कई बड़े फिल्मी सितारों से पूछताछ की। फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के कथित अवैध निर्माण को बीएमसी ने ढहाया तो कंगना ने उद्धव सरकार पर जमकर हमला बोला। इसके अलावा कोरोना की दवाई लाने का दावा करने वाले बाबा रामदेव को आयुष मंत्रालय ने तब झटका दे दिया जब सरकार की ओर से कहा गया कि पतंजलि ने इम्युनिटी बढ़ाने की दवा का लाइसेंस मांगा था ना कि कोरोना रोधी दवा बनाने का।

आइये अब एक नजर महीने दर महीने के हिसाब से साल 2020 की प्रमुख घटनाओं पर डालते हैं। 

जनवरी 2020

- नये साल की शुरुआत में देश को सेनाध्यक्ष के रूप में मनोज मुकुंद नरवणे मिले तो देश के पहले सीडीएस के रूप में बिपिन रावत की नियुक्ति हुई।

- जनवरी माह में ही डब्ल्यूएचओ ने वर्ष 2020 को नर्स और दाई वर्ष घोषित किया। तब किसे पता था कि वाकई यह वर्ष नर्सों और दाइयों और डॉक्टरों की अनवरत सेवा लेने वाला वर्ष बन जायेगा।

- 20 जनवरी को भारत की सत्तारुढ़ पार्टी भाजपा ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए जगत प्रकाश नड्डा को चुना।

- जनवरी माह में ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तब चिंता बढ़ गयी जब लगा कि अब अमेरिका और ईरान के बीच कभी भी युद्ध हो सकता है। ऐसा तब हुआ जब बगदाद में अमेरिकी हमले में ईरानी सेनाध्यक्ष जनरल कासिम सोलेमानी मारा गया।

- जनवरी माह के अंत में भारत में कोरोना वायरस का पहला मरीज केरल में सामने आया जिसको देखते हुए सरकार चिंतित हो गयी और स्वास्थ्य मंत्रालय एक्शन मोड में आ गया हालांकि हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग -जनवरी मध्य से ही शुरू की जा चुकी थी लेकिन अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने विभिन्न समितियों का गठन करके आगे आने वाली बड़ी चुनौती के लिए कमर कस ली थी।

फरवरी 2020

- फरवरी माह की शुरुआत केंद्रीय बजट पेश किये जाने के साथ हुई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश की प्रगति को आगे ले जाने में सहायक बजट पेश किया और कई नई योजनाओं की शुरुआत की जिसमें विवाद से विश्वास तक योजना प्रमुख रही।

- फरवरी माह में संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' नामक ट्रस्ट का गठन किया है।

- फरवरी माह में दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी भारी बहुमत के साथ 63 सीटें हासिल कर सत्ता में लौटी और भाजपा अपना पिछली बार का तीन का आंकड़ा कुछ सुधार कर 8 सीटों पर आकर रुक गयी। कांग्रेस एक बार फिर अपना खाता खोलने में भी नाकामयाब रही।

- 12 फरवरी 2020 का दिन इसलिए लोगों के लिए यादगार बन गया क्योंकि उसी दिन विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को कोविड-19 नाम प्रदान किया।

- फरवरी माह में उत्तर प्रदेश की राजधानी में डिफेंस एक्सपो भी आयोजित किया गया जिसमें विदेशी कंपनियों ने देशी कंपनियों के रक्षा उत्पादों को देखा और सराहा। इस दौरान कई विदेशी कंपनियों से रक्षा अनुबंध भी हुए।

- फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा निर्णय देते हुए कहा कि राजनीतिक दलों को अपने उम्मीदवारों का आपराधिक ब्यौरा भी सार्वजनिक करना होगा।

- फरवरी में ही सुप्रीम कोर्ट ने एक और ऐतिहासिक निर्णय देते हुए सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन देने का आदेश दिया।

- फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग के आंदोलनकारियों को समझाने के लिए एक कमेटी का भी गठन किया लेकिन आंदोलनकारियों ने इनकी बात नहीं सुनी और सीएए कानून वापस लेने की मांग पर अड़े रहे। - फरवरी में तब भारत की ओर पूरे विश्व की निगाहें गड़ गयीं जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पूरे दलबल के साथ भारत की यात्रा पर आये और अहमदाबाद में नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में हिस्सा लिया। विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम में हुए इस कार्यक्रम में लाखों लोगों ने ट्रंप का अभिवादन किया।

- फरवरी माह में राजधानी दिल्ली दंगों की चपेट में आ चुकी थी। दंगों में कई लोग मारे गये और संपत्ति को भी काफी नुकसान हुआ।

- फरवरी माह में कोरोना वायरस चीन के वुहान में रौद्र रूप दिखाने लगा था इसलिए सरकार ने वहां फंसे हुए अपने लोगों को निकालने का अभियान शुरू किया और उन्हें भारत लाकर पहले क्वारंटीन सेंटर में रखा गया और वहां से घर भेजा गया।

मार्च 2020

- मार्च में बड़ी राजनीतिक हलचल तब हुई जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गये।

- मार्च महीने में जैसे-जैसे कोरोना वायरस की रफ्तार तेज होती रही वैसे-वैसे खेल टूर्नामेंटों और अन्य बड़े आयोजनों के रद्द होने के समाचार आने लगे। यही नहीं जब जान पर बन आई तो सीएए विरोधी प्रदर्शन भी बंद होने लगे और शाहीन बाग के तंबू भी उखड़ गये।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कोरोना वायरस महामारी की गंभीरता से देश को अवगत कराया और इसी के साथ ही उन्होंने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया और इसके दो दिन बाद ही उन्होंने देश में 21 दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी जिसे बाद में आगे बढ़ाया गया।

- प्रधानमंत्री के आह्वान पर देश की जनता ने ताली और थाली बजाकर कोरोना योद्धाओं के प्रति आभार जताया।

- मार्च महीने में मध्य प्रदेश में सप्ताह भर चले राजनीतिक घटनाक्रम में कमलनाथ की सरकार गिर गयी और शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर मध्य प्रदेश की सत्ता संभाली।

अप्रैल 2020

- अप्रैल महीने की शुरुआत में 5 तारीख को प्रधानमंत्री के आह्वान पर कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुटता का संदेश देने के लिए देशवासियों ने 9 बजे से 9 मिनट तक घर की लाइट बंद रखीं। दीये, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल फोन की फ्लैशलाइट जलाकर रोशनी की गयी और देशभर में 9 मिनट तक नजारा दीपावली जैसा था।

- अप्रैल में दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तब्लीगी जमात के सदस्यों का एक साथ एकत्रित होना और वह भी लॉकडाउन के दौरान, यह बड़ा मुद्दा बन गया। जब यह बात सामने आई कि अधिकांश जमाती कोरोना पॉजिटिव हैं तब तो सरकारों की मुश्किलें और बढ़ गयीं क्योंकि जब तक प्रशासन चेतता तब तक यह जमाती अलग-अलग शहरों के लिए रवाना हो चुके थे और यह जहां भी गये वहीं पर इन्होंने कोरोना को फैलाया।

- अप्रैल के पहले सप्ताह में ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कई प्रकार की रियायतों का ऐलान किया जिनमें कर्ज सस्ता करने से लेकर तीन महीने के लिए ईएमआई को स्थगित करने की सुविधा भी प्रदान की जिसे बाद में बढ़ाया गया।

- प्रधानमंत्री ने अप्रैल के पहले सप्ताह में देश को दिये अपने संबोधन में लॉकडाउन के दूसरे चरण का ऐलान किया और 5 अप्रैल को रात्रि 9 बजे लाइटें बंद करके 9 मिनट तक दीये या मोमबत्ती से रोशनी करने का आह्वान किया।

- अप्रैल में देश ने आजादी के बाद का सबसे बड़ा पलायन तब देखा जब लॉकडाउन के कारण रोजी-रोटी छिन जाने से प्रवासी मजदूर अपने-अपने गृह राज्यों की ओर निकल पड़े। चूँकि सार्वजनिक परिवहन के साधन उपलब्ध नहीं थे इसलिए ये कामगार पैदल चलकर, साइकिल चलाकर और ट्रकों के जरिए, यहां तक कि कंटेनर ट्रकों और कंक्रीट मिक्सिंग मशीन वाहन में छिपकर आनन-फानन में अपने घर लौटे थे और इस दौरान कई मजदूर दुर्घटनाओं के शिकार भी हुए। प्रवासी मजदूरों के पलायन के समय देश भर से जिस तरह की भावुक कर देने वाली तसवीरें सामने आईं उनको देश लंबे समय तक याद रखेगा।

- अप्रैल माह में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और उनके कैबिनेट सदस्यों और सांसदों ने यह तय किया कि वह एक साल तक अपनी तनख्वाह में 30 प्रतिशत की कटौती करवाएंगे और यह राशि कोविड-19 से लड़ने में खर्च की जायेगी।

- अप्रैल में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पहल पर ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करने का कार्यक्रम शुरू हुआ और इस संबंध में दूरदर्शन ने भी कुछ शिक्षाप्रद कार्यक्रम शुरू किये ताकि जिन इलाकों में इंटरनेट की अच्छी सुविधा नहीं है, वहां के बच्चे पढ़ाई से वंचित नहीं हो सकें। इसी महीने राजस्थान के कोटा में पढ़ रहे छात्रों की घर वापसी का मुद्दा भी उठा। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने छात्रों को बस भेजकर वापस बुला लिया तो अन्य राज्यों पर भी दबाव पड़ा।

- अप्रैल में एमएसएमई सेक्टर के लिए कई रियायतों की घोषणा की गयी क्योंकि यह सर्वाधिक संख्या में रोजगार प्रदान करने वाला सेक्टर है। इस महीने तब बड़ी मुश्किल हुई जब कई राज्यों ने अपनी सीमाओं पर सख्त पहरा बिठा दिया।

- केंद्र सरकार ने अप्रैल महीने में 15 हजार करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज का भी ऐलान किया।

- प्लाज्मा थैरेपी के जरिये कोरोना को हराने के प्रयोग भी अप्रैल में ही शुरू हुए।

- अप्रैल माह में ही सरकार ने आरोग्य सेतु एप लॉन्च किया ताकि कोरोना के मामलों में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जा सके।

- अप्रैल में देश में लॉकडाउन-3 का ऐलान किया गया लेकिन अर्थव्यवस्था को धीरे-धीरे खोलने की कवायद भी शुरू की गयी। गृह मंत्रालय ने कार्यस्थलों पर सीमित संख्या में कर्मचारियों के साथ कार्य की शुरुआत के लिए कुछ दिशानिर्देश जारी किये।

- अप्रैल माह में ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का ऐलान किया गया जिसके तहत गरीब परिवारों को तीन महीने के लिए मुफ्त अनाज दिये जाने की घोषणा की गयी।

- अप्रैल में अमेरिका को भारत से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दिये जाने पर विवाद भी हुआ।

- अप्रैल महीने में ही रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन की परिकल्पना सामने आई। रिजर्व बैंक के गवर्नर ने महीने में दूसरी बार प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कई रियायतों का ऐलान किया और ब्याज दरों में भी कटौती की। 

- अप्रैल में महीने कोरोना वॉरियर्स को बड़ी राहत प्रदान करने हुए केंद्र सरकार ने महामारी कानून में बदलाव करते हुए डॉक्टरों, स्वाथ्यकर्मियों या पुलिस पर हमला करने वालों पर कड़ी सजा के प्रावधान किये। सरकार ने इसके अलावा केंद्रीय कर्मचारियों के महँगाई भत्ते में किसी प्रकार की वृद्धि को भी जुलाई 2021 तक के लिए रोक दिया।

- अप्रैल में ही देश से वह तसवीरें भी सामने आईं जिनमें लॉकडाउन के कारण देश की सभी प्रमुख नदियों का जल साफ, सभी नगरों, महानगरों की हवा एकदम शुद्ध हो गयी थी।

- अप्रैल के अंत में सरकार ने ऐलान किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन में कुछ और ढील दी जायेगी जिसके बारे में दिशानिर्देश जारी किये गये।

- अप्रैल का अंत होते-होते प्रसिद्ध अभिनेता इरफान खान और ऋषि कपूर का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया।

इसे भी पढ़ें: साल 2020 में खेल की दुनिया में बने कई बड़े रिकार्ड्स !

मई 2020

- मई का पहला दिन यानि मजदूर दिवस मजदूरों के लिए बड़ी राहत लेकर आया क्योंकि इस दिन से प्रवासी श्रमिकों के लिए विशेष ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया जिससे विभिन्न राज्यों में फँसे मजदूरों ने राहत की साँस ली।

- दो मई को लॉकडाउन को बढ़ाने का भी ऐलान कर दिया गया लेकिन रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन के लिए अलग-अलग दिशानिर्देश जारी किये गये।

- मई में महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार पर तब संकट के बादल मँडराने लगे जब विधान परिषद के लिए नामांकित होने के मुख्यमंत्री के प्रयासों को राज्यपाल ने सफल नहीं होने दिया। संकट से निजात के लिए मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया जिसके बाद राज्यपाल ने चुनाव आयोग को पत्र लिख कर विधान परिषद चुनावों को तत्काल कराने की माँग की और इस तरह महाराष्ट्र का सियासी संकट खत्म हुआ।

- मई महीने से ही भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन के जरिये विदेशों में फँसे भारतीयों की वापसी का बड़ा अभियान शुरू हुआ।

- मई में कश्मीर के तीन फोटो पत्रकारों ने पुलित्जर पुरस्कार जीता जिस पर विवाद भी हुआ।

-आंध्र प्रदेश में विशाखापट्टनम में एक कंपनी के संयंत्र से गैस लीक होने से 7 लोगों की मृत्यु हो गयी और कई लोग बीमार पड़ गये।

- मई महीने में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मानसरोवर यात्रा के लिए लिंक रोड़ का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये उद्घाटन किया।

- भारतीय मौसम विभाग ने गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के मौसम का हाल बताना शुरू किया तो पाकिस्तान की चिंता बढ़ गयी।

- प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित करते हुए भारत को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प दिलाया और एक लाख 20 हजार करोड़ रुपए के भारी भरकम आर्थिक पैकेज का ऐलान किया।

-मई में आये तूफान अम्फान से पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तबाही हुई जिसको देखते हुए प्रधानमंत्री ने इन दोनों राज्यों का दौरा कर हालात की समीक्षा की और उन्हें आर्थिक मदद मुहैया करायी।

गृह मंत्रालय ने इसी महीने नेशनल माईग्रेंट इनफॉर्मेशन सिस्टम की शुरुआत भी की।

-25 मई से देश में घरेलू उड़ानें शुरू हुईं तो लोगों को कुछ आसानी हुई।

- मई में चीन के साथ एलएसी पर तनातनी शुरू हुई और नेपाल ने भी आंखें दिखाते हुए अपने मानचित्र में बदलाव करते हुए उसमें तीन भारतीय क्षेत्रों को शामिल कर लिया।

- जम्मू-कश्मीर में नई डोमिसाइल नीति भी इस महीने अधिसूचित कर दी गयी।

- मई में छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी, प्रख्यात हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर और प्रख्यात ज्योतिषि बेजान दारूवाला का भी निधन हो गया।

- मई में ही देश के कुछ राज्यों में टिड्डियों के हमले की शुरुआत हुई जिसने फसलों को काफी नुकसान पहुँचाया।

- मई की शुरुआत में जब शराब की दुकानों को खोला गया तो लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का घोर उल्लंघन किया जिसके बाद कई राज्यों ने शराब की होम डिलिवरी की व्यवस्था की तो कई जगह टोकन सिस्टम लाया गया।

जून 2020

- एक जून को मशहूर संगीतकार जोड़ी साजिद-वाजिद के वाजिद का निधन हो गया।

- रेलवे ने एक जून से कुछ विशेष ट्रेनों की सुविधा शुरू की जिससे लॉकडाउन के दौरान जहाँ-तहाँ फँसे लोग अपने घरों को वापस जा सके। उच्चतम न्यायालय ने प्रवासी मजदूरों की समस्याओं पर गौर करते हुए -सरकारों को निर्देश दिये कि 15 दिन के अंदर उन्हें उनके गंतव्यों तक पहुँचाया जाये।

- तूफान निसर्ग से महाराष्ट्र और गुजरात में कुछ नुकसान हुआ लेकिन मौसम विज्ञान विभाग की समय पर मिली सूचनाओं के चलते बड़ा नुकसान टाल दिया गया।

-जून महीने में भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य चुना गया।

- भारत और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्रियों ने वर्चुअल तरीके से द्विपक्षीय बैठक की और एक बड़ा रक्षा करार किया।

- प्रसिद्ध निर्माता बासु चटर्जी का इस महीने निधन हो गया तो फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने अपने मुंबई स्थित घर पर आत्महत्या कर सभी को चौंका दिया।

- जून के दूसरे सप्ताह से देश के सभी धार्मिक स्थलों, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और रेस्टोरेंटों को खुलने की अनुमति मिल गयी।

- असम के तेल कुएं में लगी आग से भी काफी नुकसान हुआ।

- जून मध्य में भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवानों के शहीद होने से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया और कई दौर की वार्ता के बाद भी मामला सुलझ नहीं सका है।

- प्रधानमंत्री ने चीन के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक का भी आह्वान किया। इस दौरान उन्होंने स्पष्ट किया कि ना तो कोई भारतीय सीमा में घुसा है और ना ही हमारी कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है। उन्होंने देश को भरोसा दिलाया कि भारतीय सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा।

- प्रधानमंत्री ने इसी महीने प्रवासी श्रमिकों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की।

- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस महीने रूस की यात्रा की और वहां विक्ट्री डे परेड में हिस्सा लेने के अलावा द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की।

- इस महीने पुरी और द्वारका में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा भी सीमित रूप में शुरू हुई।

- दिल्ली में कोरोना वायरस की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कमान संभाली जिसके बाद दिल्ली में बड़ी संख्या में बेडों की व्यवस्था की गयी, जांच का दायरा बढ़ाया गया और अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ायी गयीं।

- कोरोना काल में अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस इस बार लोगों ने घर पर ही रहकर मनाया।

- महीने के अंत में प्रधानमंत्री ने देश को एक बार फिर संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का दायरा नवंबर अंत तक बढ़ाने की घोषणा की।

- महीने के अंत में भारत सरकार ने चीन के 59 मोबाइल एप्स को भी प्रतिबंधित कर दिया क्योंकि यह भारतीयों का डेटा चुरा रहे थे।

जुलाई 2020

- उत्तर प्रदेश का मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर विकास दुबे आखिरकार उसी कानपुर में पुलिस की गोलियों का शिकार बन गया, जिस कानपुर से उसने खौफ का कारोबार किया। एसटीएफ की टीम उसे उज्जैन से लेकर कानपुर आ रही थी। अचानक ही एसटीएफ की गाड़ी पलटी और विकास दुबे पुलिस वालों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश करने लगा और इसी दौरान पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें विकास दुबे मारा गया।

- दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने देश के पहले प्लाज्मा बैंक का उद्घाटन किया।

- भारत बायोटेक ने कोरोना वैक्सीन कौवेक्सिन के मानव पर पहले चरण के ट्रायल शुरू किये।

- जुलाई महीने में प्रसिद्ध कोरियोग्राफर सरोज खान और अभिनेता जगदीप का निधन हो गया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत एप एनोवेशन चैलेंज शुरू किया

- प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख जाकर चीन को चेतावनी दी और गलवान घाटी में हुए संघर्ष के दौरान घायल हुए सैनिकों का हाल जाना।

- भारतीय रेलवे ने 151 ट्रेनें निजी कंपनियों की ओर से चलाने का प्रस्ताव रखा।

- भारतीय नौसेना ने विदेशों में फँसे भारतीयों को वापस लाने का अभियान 'ऑपरेशन सेतु' संपन्न किया।

- अमिताभ बच्चन, उनके बेटे अभिषेक और बहू ऐश्वर्या कोरोना पॉजिटिव पाये गये।

- नेपाल सरकार ने दूरदर्शन को छोड़कर बाकी सभी भारतीय समाचार चैनलों पर प्रतिबंध लगाया।

- राजस्थान सरकार में हुई बगावत, उपमुख्यमंत्री पद से सचिन पायलट को हटाया गया। कई सप्ताह तक चले राजनीतिक ड्रामे के दौरान सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक गुरुग्राम के एक रिसॉर्ट में डेरा डाले रहे।

- केंद्र सरकार ने इसी माह अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की शुरुआत की घोषणा की। हालांकि कुछ ही देशों की विदेशी उड़ानों को इसके तहत मंजूरी दी गयी थी।

- कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए वार्षिक अमरनाथ यात्रा को रद्द कर दिया गया।

- एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ध्रुवास्त्र का सफल परीक्षण किया गया।

- झारखंड सरकार ने मास्क नहीं पहनने और कोरोना दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने पर 1 लाख रुपए जुर्माना और 2 साल की जेल का प्रावधान किया।

- भारत सरकार ने 47 और चाइनीज एप्स पर प्रतिबंध लगाया।

- प्रधानमंत्री मोदी ने मॉरीशस के सुप्रीम कोर्ट की बिल्डिंग का अनावरण किया।

- गृह मंत्रालय ने जिम, योगा केंद्र को खोलने की अनुमति दी।

- पांच राफेल विमान अंबाला एयर बेस पहुँचे जहाँ उनका भव्य स्वागत हुआ।

- एचआरडी मिनिस्ट्री का नाम बदल कर शिक्षा मंत्रालय हुआ और नयी शिक्षा नीति 2020 प्रस्तुत की गयी।

- इसरो ने निजी क्षेत्र को श्रीहरिकोटा में अपने लॉन्च पैड स्थापित करने की अनुमति दी।

सितम्बर 2020

-र क्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में हिस्सा लिया और इस बैठक से इतर चीनी रक्षा मंत्री के साथ बातचीत भी की।

- केंदीय मंत्रिमंडल ने सिविल सर्विस अधिकारियों के लिए 'कर्मयोगी' मिशन को हरी झंडी दी है। इसके तहत खास प्रशिक्षण दिया जायेगा। कर्मयोगी मिशन National Programme for civil services capacity building (NPCSCB) के तहत चलाया जायेगा।

- भारत सरकार ने सितम्बर माह में एक और डिजिटल स्ट्राइक करते हुए पबजी मोबाइल गेम समेत 118 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया। इससे पहले भी सरकार कई एप्स पर प्रतिबंध लगा चुकी है। 

- हैकरों ने सितम्बर माह में तब सनसनी फैला दी जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पर्सनल वेबसाइट के टि्वटर अकाउंटको हैक कर लिया गया। हैकर ने कोविड-19 रिलीफ फंड के लिए डोनेशन में बिटक्वॉइन की मांग की। हालांकि तुरंत ये ट्वीट्स डिलीट कर दिए गए।

- राफेल लड़ाकू विमानों को भारतीय वायुसेना में औपचारिक रूप से शामिल किया गया। इस अवसर पर अंबाला एयरबेस पर आयोजित कार्यक्रम में सर्वधर्म प्रार्थना सभा भी आयोजित की गयी।

- दूरसंचार कंपनी वोडाफोन-आइडिया की वीआई के नाम से रिब्रांडिंग की गयी।

- विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने रूस में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में हिस्सा लिया। इस दौरान अलग से उनकी चीनी विदेश मंत्री के साथ भी बैठक हुई। भारत-चीन के बीच एलएसी पर जारी विवाद के बीच यह मुलाकात काफी महत्वपूर्ण रही। इस दौरान दोनों देशों ने पांच बिंदुओं पर सहमति वाला वक्तव्य भी जारी किया।

- संसद के मानसून सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई। कोरोना काल में विभिन्न प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सत्र के दौरान राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही अलग-अलग समय पर हुई। संसद सत्र से पहले सभी सांसदों और संसद परिसर के कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट भी कराया गया। दोनों सदनों में कई विधेयक पारित किये गये हालांकि सबसे ज्यादा हंगामा कृषि विधेयकों को लेकर हुआ।

- भारत ने संयुक्त राष्ट्र में चीन को झटका देते हुए आर्थिक व सामाजिक परिषद की संस्था में जगह बना ली है। भारत अब अगले चार साल के लिए महिलाओं की स्थिति को लेकर बने आयोग ‘सीएसडब्ल्यू’ का सदस्य बन गया है। इस संस्था का सदस्य बनने के लिए भारत के अलावा चीन व अफगानिस्तान दौड़ में थे।

- एनडीए उम्मीदवार डॉ. हरिवंश को पुनः राज्यसभा का उपसभापति चुना गया।

- संसद सत्र के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत और चीन के बीच चल रहे गतिरोध पर दोनों सदनों में बयान देकर स्थिति को स्पष्ट किया।

- संसद के नये भवन के निर्माण के लिए जारी निविदा टाटा समूह के पक्ष में रही।

- सरकार ने रक्षा क्षेत्र में स्वत: मंजूरी मार्ग से 74 प्रतिशत तक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की मंजूरी दे दी। विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने के इरादे से यह कदम उठाया गया है।

- सितम्बर माह में ही भारत ने कोरोना संक्रमण के मामलों में अमेरिका को पछाड़ कर प्रथम स्थान हासिल कर लिया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए बदलाव की ज़रूरत पर जोर दिया है। संयुक्त राष्ट्र की महासभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "पिछले 8-9 महीने से पूरा विश्व कोरोना वैश्विक महामारी से संघर्ष कर रहा है। इस वैश्विक महामारी से निपटने के प्रयासों में संयुक्त राष्ट्र कहां है? एक प्रभावशाली रिस्पॉन्स कहां है?"

- रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया अभियान के तहत विराट कोहली, मिलिंद सोमण तथा अन्य के साथ वर्चुअल संवाद किया।

- भारतीय वायुसेना की शिवांगी सिंह ने रचा इतिहास, लड़ाकू विमान राफेल उड़ाने वाली पहली महिला पायलट बनीं।

- प्रसिद्ध पार्श्व गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन। वह कोरोना के चलते पिछले काफी समय से अस्पताल में थे।

- पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता जसवंत सिंह का निधन। वह पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे।

- गिलगित बाल्टिस्तान में चुनाव करवाने के पाकिस्तान के ऐलान पर भारत ने विरोध जताया।

- बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह समेत सभी को बरी किया।

इसे भी पढ़ें: इतना भी खराब नहीं रहा साल 2020, पढ़िये वह घटनाएँ जो सबको खुशियाँ देकर गयीं

अक्टूबर 2020

- लॉकडाउन के बाद से बंद पड़ीं दिल्ली मेट्रो की सेवाएं शुरू हुईं।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व की सबसे लंबी सुरंग अटल टनल का उद्घाटन किया।

- भारतीय सेना ने गलवान घाटी में चीन के साथ हुए संघर्ष के दौरान शहीद हुए 20 जवानों की याद में वार मेमोरियल बनाया।

- भारत ने परमाणु सक्षम शौर्य बैलिस्टिक मिसाइल के नये प्रारूप का सफल परीक्षण किया।

-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वायु प्रदूषण के विरुद्ध अभियान शुरू किया।

- शाहीन बाग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि अपने अधिकारों की मांग के लिए दूसरों के अधिकारों को बाधित नहीं किया जा सकता।

- केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया।

- भारत ने एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का सफल परीक्षण किया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वर्गीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती पर 100 रुपए का सिक्का जारी किया।

- 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, मल्टिप्लेक्स आदि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए खुल गये।

- बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में मतदान कराया गया। इस दौरान कोरोना संबंधी प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन कराया गया। बिहार चुनावों में एनडीए ने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर चुनाव लड़ा और महागठबंधन ने तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर चुनाव लड़ा। लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान बिहार में एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़े।

- गोवा देश का पहला ऐसा राज्य बन गया जो ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर में नल के जरिये पानी पहुँचा रहा है।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना के तहत प्रॉपर्टी कार्ड देने की योजना का शुभारंभ किया।

- भारत ने एंटी टैंक मिसाइल नाग का सफल परीक्षण किया।

- भारत और अमेरिका के बीच 2 प्लस 2 वार्ता के दौरान कई अहम समझौते हुए।

- गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का 92 वर्ष की उम्र में निधन।

- कर्नाटक सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के फिल्मों, धारावाहिकों और विज्ञापन में काम करने पर रोक लगाई।

- इस बार शारदीय नवरात्रि, दशहरा आदि सीमित दायरे में मनाये गये। दशहरे पर रामलीलाओं का बड़ा आयोजन नहीं हुआ। हालांकि अयोध्या में पहले से ज्यादा भव्य रामलीला का आयोजन हुआ लेकिन दर्शक इसे वर्चुअली ही देख सकते थे।

- 31 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की पहली सी-प्लेन सर्विस का शुभारंभ किया। यह सेवा गुजरात में शुरू हुई। देश का पहला सी-प्लेन स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से साबरमती तक उड़ेगा।

नवंबर 2020

- अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जोए बाइडेन ने वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को हराया। इसके साथ ही भारतीय मूल की कमला हैरिस ने अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद पर निर्वाचित होकर नया इतिहास रच दिया। इसी के साथ ही कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद पर पहुँचने वाली पहली महिला, पहली अश्वेत और पहली एशियन-अमेरिकन व्यक्ति बन गयीं।

- भारत सरकार ने ऑनलाइन मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत लाने का फैसला किया।

- बिहार विधानसभा चुनावों में करीबी मुकाबले में महागठबंधन पिछड़ा। एनडीए में सर्वाधिक सीटें लाने वाली भाजपा ने मुख्यमंत्री पद की कमान एक बार फिर नीतीश कुमार को सौंपी। बिहार में इस बार सुशील कुमार मोदी की जगह भाजपा ने तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी के रूप में दो उपमुख्यमंत्री पद हासिल किये।

- दीपावली से पहले एनजीटी ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण की गंभीर स्थिति को देखते हुए पटाखों की बिक्री और उन्हें चलाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया।

- केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को अपनी मंजूरी प्रदान की।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का अनावरण किया।

- फिल्म कलाकार आसिफ बसरा धर्मशाला स्थित अपने घर पर मृत पाये गये।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लिया और आत्मनिर्भर भारत अभियान को विश्व के कल्याण की दिशा में भी उठाया गया कदम बताया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुए इस सम्मेलन के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी उपस्थित रहे।

- प्रख्यात बंगाली अभिनेता सौमित्र चटर्जी का 85 वर्ष की उम्र में निधन हो गया।

- नवंबर में उच्चतम न्यायालय ने एक महत्वपूर्ण निर्णय में कहा कि सीबीआई जाँच के लिए राज्य की सहमति जरूरी है।

- आरबीआई दुनिया का पहला ऐसा केंद्रीय बैंक बन गया जिसके टि्वटर पर एक मिलियन फॉलोवर हैं।

- भारत सरकार ने अलीएक्सप्रेस समेत 42 और चाइनीज मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगाया।

- असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन।

- चक्रवाती तूफान निवार ने तमिलनाडु और पुडुचेरी में मचाया उत्पात, तटीय क्षेत्रों में हुआ नुकसान।

- लक्ष्मी विलास बैंक और डीबीएस बैंक इंडिया लिमिटेड के विलय को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मिली मंजूरी।

- उत्तर प्रदेश सरकार ने लव जिहाद विरोधी विधेयक को मंजूरी प्रदान की।

- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल का निधन।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन की प्रगति का जायजा लेने के लिए तीन फॉर्मा कंपनियों के लैब का दौरा किया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देव दीपावली पर्व पर आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

- नवबंर अंत में पंजाब और हरियाणा के किसान केंद्र सरकार के कृषि सुधार कानूनों का विरोध करते हुए दिल्ली की सीमाओं पर आ डटे और सरकार से इन कानूनों को वापस लेने की माँग करने लगे।

दिसंबर 2020

- लगभग साल भर तक कोरोना वायरस से जूझती दुनिया को दिसम्बर माह की शुरुआत में तब बड़ी खुशखबरी मिली जब ब्रिटेन फाइजर-बायोएनटेक की कोविड वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया।

- आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक पर नये क्रेडिट कार्ड जारी करने और नई डिजिटल सेवाओं को शुरू करने पर रोक लगाई।

- माँ अन्नापूर्णा देवी की मूर्ति को 100 साल बाद स्वदेश लाया गया। इस मूर्ति को वाराणसी के प्राचीन मंदिर से सन् 1913 में चुरा लिया गया था।

- उच्चतम न्यायालय ने सभी पुलिस स्टेशनों के अलावा सीबीआई, एनआईए, ईडी और एनसीबी के दफ्तर में सीसीटीवी कैमरा लगाने के आदेश दिये।

- एमडीएच मसालों के मालिक और मसाला किंग के नाम से मशहूर महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 वर्ष की उम्र में निधन हुआ।

- कृषि कानूनों के विरोध में विपक्ष के भारत बंद का पंजाब को छोड़ कर देशभर में कोई ज्यादा असर नहीं दिखा।

- नेपाल और चीन ने माउंट एवरेस्ट की ऊँचाई को संशोधित किया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की शुरुआत की।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर सर्वदलीय बैठक की।

- वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 9 राज्यों में सफलतापूर्वक लागू।

- पत्रकार और लेखक मंगलेश डबराल का निधन।

- लक्षद्वीप पहला ऐसा केंद्र शासित प्रदेश बना जहाँ खेती पूरी तरह ऑर्गेनिक रूप से होती है।

- ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनावों में भाजपा ने जोरदार प्रदर्शन किया। तेलंगाना में सत्तारुढ़ पार्टी टीआरएस की सीटें पहले से आधी हो गयीं जबकि ओवैसी की पार्टी को भी नुकसान उठाना पड़ा। निगम चुनावों में भाजपा ने अपने पूरे केंद्रीय नेतृत्व को प्रचार में उतार दिया था।

- अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में पहले चुनाव हुए। जिला विकास परिषद चुनावों में भाजपा अकेले दम पर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी हालांकि गठबंधन के रूप में गुपकार अलायंस अधिकांश जिला विकास परिषदों में बहुमत हासिल करने में सफल रहा।

- सरकार ने कोरोना वैक्सीन लगाने के अभियान का खाका प्रस्तुत किया।

- पश्चिम बंगाल दौरे पर गये भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले को लेकर भाजपा और बंगाल सरकार के बीच तीखी बयानबाजी हुई। नड्डा पर हमले को गंभीरता से लेते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल के तीन आईपीएस अधिकारियों को केंद्र में वापस बुलाने का फैसला सुनाया लेकिन ममता सरकार इसके लिए राजी नहीं हुई।

- केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे के दौरान तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी पार्टी छोड़कर भाजपा में आ गये।

- अंकिता रैना ने आईटीएफ डबल्स टाइटल जीता।

- भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने संयुक्त रूप से वर्चुअली चिलाहटी-हल्दीबाड़ी रेल लिंक का उद्घाटन किया। इस मार्ग पर 55 साल बाद रेल सेवा बहाल हुई।

- कांग्रेस के वयोवृद्ध और वरिष्ठ नेता मोती लाल वोरा का निधन।

- नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने सत्तारुढ़ गठबंधन में चल रहे विवादों के बीच संसद को भंग करने का ऐलान किया।

- ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नये स्वरूप का पता चलते ही भारत समेत कई देशों ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर रोक लगाई।

- अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'लीजन ऑफ मेरिट' पुरस्कार दिया। यह पुरस्कार केवल सरकार या राष्ट्र प्रमुख को दिया जाता है।

- मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने लव जिहाद विरोधी अध्यादेश को मंजूरी प्रदान की।

- प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के निवासियों के लिए सेहत योजना का शुभारंभ किया।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की पहली ड्राइवर रहित मेट्रो ट्रेन को हरी झंडी दिखाई।

- आईसीसी के दशक के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट बने विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी को ‘क्रिकेट भावना’ सम्मान मिला

- तिरुवनंतपुरम की 21 वर्षीय आर्या राजेंद्रन बनीं भारत की सबसे कम उम्र की मेयर

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह को संबोधित किया। स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री के बाद नरेंद्र मोदी एएमयू में संबोधन देने वाले दूसरे प्रधानमंत्री बने।

- कर्नाटक विधान परिषद के उपाध्यक्ष एस. एल. धर्मे गौड़ा का शव रेल पटरी पर मिला। धर्मे गौड़ा के साथ हाल ही में विधान परिषद में कांग्रेस सदस्यों ने किया था दुर्व्यवहार।

- दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत ने स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का हवाला देते हुए कहा कि वह अब राजनीतिक पार्टी का गठन नहीं करेंगे। इससे पहले उन्होंने दिसंबर अंत तक नयी राजनीतिक पार्टी का गठन करने और तमिलनाडु विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।

-नीरज कुमार दुबे