साल 2020 में खेल की दुनिया में बने कई बड़े रिकार्ड्स !

साल 2020 में खेल की दुनिया में बने कई बड़े रिकार्ड्स !

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2020 में ज्यादा टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला। टीम साल के शुरूआत में न्यूजीलैंड की सरजमीं पर सीरीज हारी। इसके बाद कोरोना के कारण ज्यादा खेल नहीं हुआ और साल के आखिर में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला टेस्ट खेलने एडिलेड पहुंची।

साल 2020 वैसे तो कोरोना के प्रकोप के कारण हर किसी को हमेशा याद रहेगा। इस साल महामारी की वजह से लगभग 7 महीनों से किसी भी खेल का आयोजन नहीं हो सका। लेकिन वर्ष के अंत में आकर कई खेल फिर से बहाल हुए दर्शकों को अपना पसंदीदा खेल देखने का मौका मिला। दुनिया भर में कोई भी खेल हो उसमें बने रिकार्ड हमेशा से हर किसी के आकर्षण का केंद्र होते है। खेल से जुड़े रिकार्ड्स ही खिलाड़ियों की असल पहचान होते है। इसकी वजह से ही कोई भी खिलाड़ी आम से खास होता है और अपने खेल में दिग्गज की उपाधि पाता है। इसके साथ ही कई रिकार्ड्स ऐसे भी होते है जिन्हें बनाने वाली टीम या फिर खिलाड़ी भूल जाना ही बेहतर समझता है। ऐसे में उन रिकार्ड्स पर नजर डालते है जिन्होंने साल 2020 में नई जगह बनाई। 

क्रिस गेल ने छक्कों और चौकों से बना दिए दस हजार टी-20 रन 

क्रिस गेल को सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर ही नहीं एक तूफान के रूप में भी जाना जाता है। हर कोई जानता है कि गेल के बल्ले से जब रनों की सूनामी आती है तो हर तरफ बस छक्कों और चौको की बरसात होती है। ऐसे में साल 2020 में क्रिस गेल ने एक ऐसा रिकार्ड बनाया जिसे देखकर हर किसी को विश्वास हो गया यह सिर्फ गेल ही कर सकते हैं। साल 2020 क्रिस गेल टी20 क्रिकेट में 10,000 रन पूरे करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे। लेकिन इसके साथ ही क्रिस गेल ने 2020 में  सिर्फ छक्कों व चौकों के सहारे ही अपने रनों की संख्या को 10,000 पहुंचा दिया। इसका मतलब गेल दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गए हैं जिन्होंने सिर्फ चौकों व छक्कों के दम पर टी20 क्रिकेट में 10,000 रन पूरे कर लिए हैं।

इसे भी पढ़ें: वह खिलाड़ी जिन्होंने 2020 में दुनिया को कहा अलविदा

एडिलेड टेस्ट में टीम इंडिया ने बनाया शर्मनाक रिकार्ड

भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2020 में ज्यादा टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला। टीम साल के शुरूआत में न्यूजीलैंड की सरजमीं पर सीरीज हारी। इसके बाद कोरोना के कारण ज्यादा खेल नहीं हुआ और साल के आखिर में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला टेस्ट खेलने एडिलेड पहुंची। यह भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास का दूसरा डे-नाइट टेस्ट मैच था। टीम इंडिया को इस मैच में अपने 88 सालों के टेस्ट क्रिकेट इतिहास में सबसे शर्मनाक क्षण का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम टेस्ट मैच की तीसरी पारी  मात्र 36 रनों पर सिमट गई। इससे पहले भारतीय टीम का न्यूनतम टेस्ट स्कोर 42 रन था जो 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ बना था। टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने इस मैच में काफी निराश किया और एक रिकार्ड बनाया जिसकी वजह से 2020 भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए भूलने वाला साल रहेगा।

विराट कोहली ने तोड़ा पटौदी का 51 साल पुराना रिकार्ड

यह खिलाड़ी हर साल क्रिकेट के मैदान में सबसे ज्यादा रिकार्ड बनाता है और साल 2020 में भी ठीक ऐसा ही रहा। इस साल विराट ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले डे-नाइट टेस्ट मैच में 74 रनों की पारी खेलकर एक विशाल तमगा हासिल किया। विराट कोहली ने भारतीय कप्तान के तौर पर टेस्ट क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक कुल 851 रन बना लिए हैं। इससे पहले बतौर कप्तान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड पूर्व भारतीय बल्लेबाज टाइगर पटौदी के नाम पर था। टाइगर पटौदी ने कप्तान की हैसियत से कंगारू टीम के खिलाफ 10 टेस्ट मैचों में कुल 829 रन बनाए थे लेकिन अब 51 साल के बाद विराट कोहली ने टाइगर पटौदी को पीछे छोड़ते हुए एक नया इतिहास रच दिया।

इसे भी पढ़ें: वह खिलाड़ी जिन्होंने साल 2020 में खेल से संन्यास ले लिया

विराट कोहली के लिए बुरा रहा साल 2020

विराट कोहली के नाम हर साल क्रिकेट में बड़े रिकार्ड दर्ज होते है जिसे बनाने का सपना हर दूसरा भारतीय देखता है। लेकिन साल 2020 विराट कोहली के लिए बेहद ही खराब साबित रहा। साल 2020 में तीनों फॉर्मेट में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आईपीएल सहित जितने भी मैच खेले वह किसी में भी कोई शतक नहीं जमा पाए। अगस्त 2008 में अपने इंटरनेशनल कॅरियर की शुरूआत करने वाले विराट कोहली ने 2009 से लेकर हर साल शतक जरूर लगाया था। लेकिन साल 2020 विराट कोहली के लिए ऐसा वर्ष रहा जब उनके बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला जिसने जरूर कोहली के रिकार्ड्स बुक में एक भूल जाने वाला रिकार्ड शामिल किया। ऐसे में अब कोहली से 2021 में उम्मीद है कि वो अपने शतक का एक साल से भी ज्यादा चले आ रहे है सूखे को खत्म करें।

चेन्नई सुपर किंग्स ने साल 2020 में बनाया भूल जाने वाला रिकार्ड

चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल में सबसे सफलतम टीमों में शुमार है। इस टीम के बारे में कहा जाता था कि चेन्नई से फाइनल में भिड़ने के लिए सात टीमों के बीच आईपीएल में रेस रहती है। लेकिन साल 2020 में चेन्नई का यह वर्चस्व भी खत्म हो गया। धोनी की कप्तानी में यूएई में उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स पहली बारी आईपीएल इतिहास में प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाई। 2008 से अपना आईपीएल करियर शुरू करने वाली चेन्नई ने जितने बार भी इस लीग में हिस्सा लिया टीम ने प्लेऑफ में जगह बनाई लेकिन साल 2020 में टीम का प्रदर्शन बेहद ही औसत रहा और धोनी की सेना आईपीएल 13 के अंकतालिका में सातवें नंबर पर रही।

पिछले आठ सालों की तरह साल 2020 में भी बरकरार रहा रोहित शर्मा का जादू

हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने पिछले आठ सालों मे सफेद गेंद की क्रिकेट में भारतीय टीम का नाम हर जगह रोशन किया। रोहित शर्मा के लिए साल 2019 काफी शानदार रहा था। लेकिन साल 2020 में भी रोहित शर्मा ने उसी तरह से प्रदर्शन को जारी रखा। रोहित शर्मा ने साल 2020 मे मुंबई इंडियंस को पांचवी बार आईपीएल चैंपियन बनाया। इसके साथ ही रोहित शर्मा ने बल्ले से भी जमकर रिकार्ड बनाए। रोहित शर्मा ने 19 जनवरी 2020 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरु में 119 रन बनाए थे। यह इस साल वनडे इंटरनेशनल में किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सर्वाधिक स्कोर रहा। इससे पहले साल 2013 से रोहित शर्मा हर साल भारतीय क्रिकेट के लिए वनडे में सर्वाधिक रिकार्ड बनाने का कारनामा करते रहे हैं।

- दीपक कुमार मिश्रा