IPL में डेब्यू के हकदार थे यह तीन खिलाड़ी, टीमों ने नहीं दिया एक भी मौका, U19WC में बिखेरा था अपना जलवा

IPL
प्रतिरूप फोटो
Prabhasakshi Image
अंडर-19 विश्व कप टीम का हिस्सा रहे कुछ खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में डेब्यू करने का मौका तक नहीं मिला। इतना ही नहीं इन खिलाड़ियों ने भारतीय टीम को अंडर-19 विश्व कप का खिताब दिलाने में अहम भूमिका अदा की और तो और फ्रेंचाइजियों ने भी इन खिलाड़ियों पर दांव लगाया।

नयी दिल्ली। क्रिकेट का महाकुंभ अब अपने अंतिम पड़ाव की ओर बढ़ गया है। मौजूदा सत्र में पहली बार 10 टीमों ने हिस्सा लिया। जिनमें से 6 टीमें लीग से बाहर हो चुकी हैं। जबकि 4 टीमों ने प्लेऑफ में अपनी जगह बना ली है। इसी के साथ ही क्वालिफायर, एलिमिनेटर, क्लाविफायर-2 और फिर फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। इस सत्र में काफी खिलाड़ियों ने अपनी छाप छोड़ी है। लेकिन बाहर होने वाली 6 टीमों में से 3 टीमों के पास ऐसे प्रतिभावान खिलाड़ी मौजूद थे, जिन्हें कम से कम एक मौका तो दिया जा सकता था। 

इसे भी पढ़ें: IPL 2022। आखिरी लीग मैच में PBKS का जलवा कायम, अब होंगे क्वालिफायर मुकाबले 

अंडर-19 विश्व कप टीम का हिस्सा रहे कुछ खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में डेब्यू करने का मौका तक नहीं मिला। इतना ही नहीं इन खिलाड़ियों ने भारतीय टीम को अंडर-19 विश्व कप का खिताब दिलाने में अहम भूमिका अदा की और तो और फ्रेंचाइजियों ने भी इन खिलाड़ियों पर दांव लगाया। लेकिन फिर उन्हें एक भी मौका नहीं दिया गया। हम बात कर रहे हैं- राजवर्धन हंगरगेकर और यश धुल की। इसके अलावा एक खिलाड़ी और भी है जिसे अभी तक खेलने का मौका नहीं मिल पाया है। दरअसल, गॉड ऑफ द क्रिकेट सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को अभी तक डेब्यू करने का मौका नहीं मिला है।

अंडर-19 विश्व कप में अपनी गेंद और बल्ले से तहलका मचाने वाले राजवर्धन हंगरगेकर पर चेन्नई सुपर किंग्स ने मेगा ऑक्शन में 1.5 करोड़ रुपए में खरीदा था। इसके अलावा दिल्ली कैपिटल्स ने यश धुल पर 50 लाख रुपए खर्च किए थे, फिर भी उन्हें टीम में शामिल नहीं किया। यश धुल ने विश्व कप की 4 पारियों में 223 रन बनाए थे। जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोई संदेह नहीं, पंत कप्तानी के लिये सही विकल्प हैं: पोंटिंग 

अर्जुन को फिर नहीं मिली जगह

अर्जुन तेंदुलकर लगातार मुंबई इंडियंस के साथ जुड़े रहे हैं और उन्हें पिछले दो सत्रों से डेब्यू करने का मौका नहीं मिल पा रहा है। ऐसा प्रतीत होता है कि फ्रेंचाइजी उन्हें औपचारिकता मात्र के लिए टीम में शामिल करती है क्योंकि उन्हें अभी तक एक भी मुकाबलों में खेलने का मौका नहीं मिला है। हां, यह जरूर है कि उन्हें कई दफा नेट्स में धाकड़ खिलाड़ियों के साथ ट्रेनिंग करते हुए देखा गया है।

अन्य न्यूज़