IPL 2022: गुजरात को रोमाचंक जीत दिलाने वाले अभिनव मनोहर की क्यों उड़ गयी थी रातों की नींद?

IPL 2022:  गुजरात को रोमाचंक जीत दिलाने वाले अभिनव मनोहर की क्यों उड़ गयी थी रातों की नींद?

आईपीएल में इस बार दो नयी टीमों के साथ दस टीमों की आपस में भिड़ंत हो रही हैं। इस बार प्वाइंट्स टेबल में शीर्ष पर आना आसान नहीं होने वाला है। गुजरात टाइटंस (जीटी) और लखनऊ सुपर जायंट्स (एलएसजी) पहली बार 28 मार्च को आपस में भिड़ी और मुकाबले को गुतरात ने रोमांचकारी तरीके से जीता।

IPL 2022: आईपीएल 2022 इस लिए भी खास है क्योंकि इस बार दो नयी टीमों के साथ दस टीमों की आपस में भिड़ंत हो रही हैं। इस बार प्वाइंट्स टेबल में शीर्ष पर आना आसान नहीं होने वाला है। गुजरात टाइटंस (जीटी) और लखनऊ सुपर जायंट्स (एलएसजी) पहली बार 28 मार्च को आपस में भिड़ी और मुकाबले को गुतरात ने रोमांचकारी तरीके से जीता। जीटी ने एलएसजी को पांच विकेट से हराकर अंतिम ओवर का रोमांचक अंत किया। राहुल तेवतिया और अभिनव मनोहर ने गुजरात की टीम को जीत दिलाने में कोई कसर बाकी नहीं रखी।

इसे भी पढ़ें: मलाइका अरोड़ा ने अमेरिका में गिराई हुस्न की बिजलियाँ, हॉटनेस देख नजरें हटाना हुआ मुश्किल

राहुल तेवतिया तो पहले भी अपना कमाल दिखा चुके हैं लेकिन हम आज आपकों बताते हैं अभिनव मनोहर के बारे में। 27 वर्षीय अभिनव मनोहर के घर में कोई क्रिकेट की दुनिया से नहीं हैं। उनकी एक चचेरी बहन है शरण्या सदरंगानी जो जर्मन महिला राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करती है। अभिनव मनोहर बहुत ही साधारण परिवार से हैं। उनकी कहानी काफी प्रेरणादायक है। मनोहर की बेटिंग स्किल से काफी लोग प्रभावित थे। नवोदित अभिनव मनोहर के योगदान का जश्न मनाने के लिए गुजरात टाइटन्स ने अपने ट्विटर पेज पर एक वीडियो शेयर किया। जिसके कैप्शन में लिखा गया "एक 'मनोहर' कहानी है जो सबको सुनानी है!"

इसे भी पढ़ें: काजल अग्रवाल ने खोला राज! बताया पति गौतम किचलू नहीं बल्कि 'बेस्टफ्रेंड' प्रेगनेंसी में रख रहा है उनका ख्याल, जानें कौन है

टाइटंस को अंतिम ओवर में 11 रन चाहिए थे, मनोहर ने अवेश खान की गेंद पर एक के बाद एक चौके लगाए जिससे उनकी टीम के लिए काम आसान हो गया। मैच के बाद कांफ्रेंस में गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने कहा, "मनोहर वह है जिसके बारे में आप भविष्य में सुनने वाले हैं। उनकी प्रतिभा में कोई कमी नहीं हैं। मैच के दौरान राहुल तेवतिया ने भी सनसनी फैला दी। पिछले साल नवंबर के बाद से अपना पहला मैच खेलने वाले पांड्या ने चार ओवर फेंके और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 33 रन बनाए। पांड्या ने कहा, "भविष्य में आप अभिनव मनोहर के बारे में और भी बहुत कुछ सुनेंगे।"

मैच से पहले अभिनव ने ईएसपीएनक्रिकइंफो को बताया, "मुझे अच्छी नींद नहीं आ रही है, पिछले एक हफ्ते से मुश्किल से रात में 3-4 घंटे की नींद आ रही है।" मुझे लगता था कि 'क्या मुझे चुना जाएगा या मुझे नहीं चुना जाएगा?' की उत्तेजना और घबराहट। लेकिन अभिनव मनोहर ने गुजरात के लिए एक शानदार पारी खेली और टीम को जीत दिलाई।