जीत की लय को जारी रखना होगा: श्रेयस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 27, 2022   09:38
जीत की लय को जारी रखना होगा: श्रेयस

श्रेयस ने कहा, ‘‘ धोनी जब भी बल्लेबाजी करते है तो आप (विरोधी टीम) तनाव में रहते है। मैं जानता था कि आखिरी तीन ओवर में मैच का रुख उनकी ओर जा रहा था, गेंदबाजों को गेंद पर पकड़ बनाने में परेशानी हो रही थी।’’

मुंबई|  गत चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ छह विकेट की शानदार जीत के साथ नये सत्र का आगाज करने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के कप्तान श्रेयस अय्यर ने शनिवार को यहां कहा कि उनकी टीम जीत की इस लय को जारी रखना चाहेगी।

चेन्नई की टीम कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की 38 गेंद में नाबाद 50 रन की पारी के बावजूद पांच विकेट पर 131 रन ही बना सकी। केकेआर ने 18.3 ओवर में चार विकेट पर 133 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

मैच के बाद पुरस्कार समारोह में श्रेयस ने कहा, ‘‘ इस मैच से पहले से टीम प्रबंधन, फ्रेंचाइजी सभी काफी उत्साह में है। हम इस लय को आगे भी जारी रखना चाहते है। ’’

उन्होंने कहा कि चेन्नई की बल्लेबाजी के दौरान आखिरी के ओवरों में ओस के कारण गेंदबाजों को परेशानी हो रही थी और धोनी के क्रीज पर मौजूद रहने के कारण वह थोड़े तनाव में थे।

श्रेयस ने कहा, ‘‘ धोनी जब भी बल्लेबाजी करते है तो आप (विरोधी टीम) तनाव में रहते है। मैं जानता था कि आखिरी तीन ओवर में मैच का रुख उनकी ओर जा रहा था, गेंदबाजों को गेंद पर पकड़ बनाने में परेशानी हो रही थी।’’

अनुभवी गेंदबाज उमेश यादव ने मैच में चार ओवर में 20 रन देकर तीन विकेट लिये। कप्तान ने उनकी तारीफ करते हुए कहा कि वह अभ्यास सत्र के दौरान काफी मेहनत कर रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘उमेश यादव नेट और अभ्यास सत्र में काफी मेहनत कर रहे थे और आज उन्हें अच्छा प्रदर्शन करते देखना अच्छा लगा।’’ उमेश खुद दो साल बाद मैन ऑफ द मैच का खिताब हासिल कर काफी खुश दिखे। उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसा मौका कभी-कभी ही आता है। मेरे लिए यह (मैन ऑफ द मैच) मौका दो साल बाद आया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ पावर प्ले में विकेट लेना जरूरी था और मुझे इस बात की खुशी है कि टीम ने जो भूमिका दी थी उसे अच्छे से निभाने में सफल रहा। ’’

दिग्गज महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी छोड़ने के बाद चेन्नई की बागडोर संभालने वाले रविन्द्र जडेजा ने कहा कि ओस के कारण दूसरी पारी में उनके गेंदबाजों के लिए परिस्थितियां अधिक चुनौती भरी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि ओस की भूमिका अहम होगी। आप टॉस जीतकर गेंदबाजी करना चाहेंगे। पहली परी के शुरुआती छह ओवरों में पिच पर नमी थी लेकिन दूसरी पारी में ओस के कारण बल्लेबाजी आसान हो गयी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाजी इकाई के रूप में हम साझेदारी बनाने में नकाम रहे। इसी कारण टीम बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सकी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।