श्रृंखला में अलग-अलग खिलाड़ियों का योगदान सकारात्मक पक्ष रहा: रोहित

rohit sharma
प्रतिरूप फोटो
ANI
भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने रविवार को यहां तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय में आस्ट्रेलिया को हराकर श्रृंखला 2-1 से जीतने के बाद कहा कि सीरीज के दौरान गेंद और बल्ले से अलग अलग खिलाड़ियों का योगदान सकारात्मक पक्ष रहा।

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने रविवार को यहां तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय में आस्ट्रेलिया को हराकर श्रृंखला 2-1 से जीतने के बाद कहा कि सीरीज के दौरान गेंद और बल्ले से अलग अलग खिलाड़ियों का योगदान सकारात्मक पक्ष रहा। आस्ट्रेलिया के 187 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने सूर्यकुमार यादव (36 गेंद में 69 रन, पांच छक्के, पांच चौके) और विराट कोहली (48 गेंद में 63 रन, चार छक्के, तीन चौके) के अर्धशतक और दोनों के बीच तीसरे विकेट की 104 रन की साझेदारी की मदद से एक गेंद शेष रहते चार विकेट पर 187 रन बनाकर जीत दर्ज की।

आस्ट्रेलिया ने इससे पहले टिम डेविड (27 गेंद 54 रन, चार छक्के, दो चौके) और कैमरन ग्रीन (21 गेंद में 52 रन, सात चौके, तीन छक्के) के तूफानी अर्धशतकों से सात विकेट पर 186 रन बनाए थे। रोहित ने तीसरे और अंतिम मैच में छह विकेट की जीत दर्ज करने के बाद कहा, ‘‘यह शानदार लम्हा था। हम अच्छा प्रदर्शन करना चाहते थे और हमने ऐसा किया। सबसे बड़ी सकारात्मक बात यह थी कि अलग-अलग खिलाड़ियों ने गेंद और बल्ले के साथ योगदान दिया। जब आप बैठकर यह सब होते हुए देख रहे होते हैं तो आप टीम प्रबंधन के रूप में अच्छा महसूस करते हैं।’’

रोहित ने कहा कि कभी कभी आप गलती भी करते हैं लेकिन टी20 क्रिकेट में ऐसा होता है क्योंकि गलती की गुंजाइश काफी कम होती है। उन्होंने कहा, ‘‘कई बार आप बहुत कुछ करने में गलती करते हैं। यह टी20 क्रिकेट है और इसमें गलती की गुंजाइश बहुत कम होती है। मुझे लगा कि हमने मौके का फायदा उठाया। कभी-कभी ऐसा नहीं होता लेकिन यह एक सीख है जिसे हम अपनाएंगे।’’ रोहित ने कहा कि कई विभागों में सुधार की गुंजाइश है विशेषकर डेथ ओवरों की गेंदबाजी में।

भारती कप्तान ने कहा, ‘‘बहुत सारे विभाग हैं (जिनमें सुधार की गुंजाइश है), खासकर हमारी डेथ ओवरों की गेंदबाजी। वे दोनों (हर्षल और बुमराह) काफी समय बाद खेल रहे हैं। उनके (आस्ट्रेलिया के) मध्य और निचले क्रम को गेंदबाजी करना काफी मुश्किल है। इस पर ध्यान नहीं देना चाहते। वे ब्रेक के बाद आ रहे हैं और उन्हें लय में आने में समय लगेगा।’’ आस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने कहा कि उन्होंने अच्छा स्कोर खड़ा किया था लेकिन विकेट नहीं चटका पाने के कारण हार का सामना करना पड़ा।

फिंच ने कहा, ‘‘यह काफी अच्छी श्रृंखला रही। हमारे लिए इस श्रृंखला की खोज कैमरन ग्रीन रहा। हमने सोचा था कि हमने ठीक-ठाक स्कोर खड़ा किया है। थोड़ी ओस थी और हमें पता था कि हमें विकेट हासिल करने होंगे। आप भारतीय बल्लेबाजों को रन बनाने से रोककर जीत दर्ज नहीं कर सकते। कुछ मौकों पर हम अपनी योजना को सही तरीके से अंजाम नहीं दे सके।’’ फिंच ने कहा कि भारत की विश्व स्तरीय टीम के खिलाफ तीन मैच उनकी टीम के लिए तैयार के लिहाज से काफी अच्छे रहे। उन्होंने कहा, ‘‘विश्व स्तरीय टीम के खिलाफ तीन मैच खेलना हमारी टीम के लिए शानदार रहा। ग्रीन काफी युवा खिलाड़ी है। उसने अपना स्तर दिखाया है। वह काफी टी20 मैच नहीं खेला है। उसने शानदार प्रदर्शन किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़