जब पंत उपलब्ध नहीं तभी ‘मुश्किल काम’ के लिये साहा की जरूरत होगी: राठौड़

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2021   08:54
जब पंत उपलब्ध नहीं तभी ‘मुश्किल काम’ के लिये साहा की जरूरत होगी: राठौड़

पदार्पण के बाद पहले पांच वर्ष महेंद्र सिंह धोनी के लिये स्थानापन्न बनने में चले गये और अब वह 24 वर्षीय पंत के ‘बैक-अप’ हैं। रविवार को साहा ने गर्दन में जकड़न के साथ बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 61 रन की पारी खेली।

कानपुर|  बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने रविवार को कहा कि रिधिमान साहा ‘आदर्श टीम’ खिलाड़ी हैं जिन पर हमेशा ‘मुश्किल काम’ के लिये निर्भर किया जा सकता है

दुर्भाग्यपूर्ण उन्हें भारत के नंबर एक विकेटकीपर ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में ही यह भूमिका निभानी होगी। साहा (37 वर्ष) मौजूदा भारतीय टीम के सबसे ज्यादा उम्र के खिलाड़ी हैं जो 11 साल पहले अपने पदार्पण के बाद अपना 39वां मैच खेल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बीसीआई की जिम्मेदारी कानूनी पेशे की गरिमा बनाये रखना और गौरव बहाल करना: शीर्ष अदालत

पदार्पण के बाद पहले पांच वर्ष महेंद्र सिंह धोनी के लिये स्थानापन्न बनने में चले गये और अब वह 24 वर्षीय पंत के ‘बैक-अप’ हैं। रविवार को साहा ने गर्दन में जकड़न के साथ बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 61 रन की पारी खेली।

बल्लेबाजी कोच राठौड़ ने अनुभवी विकेटकीपर के बारे में पूछे गये सवालों पर कहा, ‘‘उसकी गर्दन में जकड़न थी और यह जानते हुए कि वह एक आदर्श टीम खिलाड़ी है, वह वही करेगा जिसकी जरूरत है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘वह टीम के लिये मुश्किल चीजें करेगा और उस समय टीम जिस स्थिति में थी, उसने बहुत ही महत्वपूर्ण पारी खेली। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम हमेशा उससे इसकी ही उम्मीद करते हैं। वह हमेशा ऐसा खिलाड़ी रहा है जिस पर हम भरोसा कर सकते हैं और आज उसने दिखा दिया कि ऐसा क्यों है। ’’

राठौड़ ने कहा, ‘‘जहां तक उसका सवाल है तो दुर्भाग्य से हमारे पास बहुत ही विशेष खिलाड़ी ऋषभ है जो हमारे लिये नंबर एक विकेटकीपर है और उसने पिछले कुछ वर्षों में हमारे लिये शानदार प्रदर्शन किया है। ’’

इसे भी पढ़ें: ईशान ‘हिट या मिस’ खिलाड़ी नहीं, उसका समय आयेगा: पूर्व कोच

उन्होंने कहा, ‘‘उसकी भूमिका (दूसरे नंबर पर) यही है कि जब पंत उपलब्ध नहीं होगा, तभी हमें उसकी जरूरत होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।