सूर्यकुमार का मुश्किल पिच पर आते ही शॉट खेलना अविश्वसनीय: के एल राहुल

KL Rahul
ANI
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 श्रृंखला के शुरुआती मैच में कठिन परिस्थितियों में सहजता से बल्लेबाजी करने वाले सूर्यकुमार यादव की तारीफ करते हुए भारतीय सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने कहा कि मुश्किल पिच पर उनकी आक्रामक बल्लेबाजी को देखना अविश्वसनीय था।

तिरुवनंतपुरम। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 श्रृंखला के शुरुआती मैच में कठिन परिस्थितियों में सहजता से बल्लेबाजी करने वाले सूर्यकुमार यादव की तारीफ करते हुए भारतीय सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने कहा कि मुश्किल पिच पर उनकी आक्रामक बल्लेबाजी को देखना अविश्वसनीय था। बुधवार को नमी और उछालभरी पिच पर सूर्यकुमार ने 33 गेंद में नाबाद 50 रन बनाये जबकि राहुल ने 56 गेंद में 51 रन की नाबाद पारी खेली।

इसे भी पढ़ें: नितिन गडकरी ने किया कार सेफ्टी से जुड़ा बड़ा ऐलान, इस तारीख से 6 एयरबैग होगा अनिवार्य

इससे पहले तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह (तीन विकेट) और दीपक चाहर (दो विकेट) की तूफानी गेंदबाजी के सामने दक्षिण अफ्रीका की टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 106  रन ही बना सकी। भारत ने 16.4 ओवर में दो विकेट खोकर यह लक्ष्य हासिल कर लिया।   लक्ष्य का पीछा करते समय भारत की भी शुरुआत खराब रही। टीम ने कप्तान रोहित शर्मा(0) और विराट कोहली (तीन) के विकेट जल्दी गंवा दिये और पावर प्ले में राहुल रन बनाने के लिए जूझते दिखे। शुरुआती छह ओवरों में टीम का स्कोर दो विकेट पर महज 17 रन था।

इसे भी पढ़ें: ईरान में हिजाब के खिलाफ प्रदर्शन और तेज, राष्ट्रपति रईसी हुए सख्त, कहा- किसी को कानून का उल्लंघन नहीं करने दिया जाएगा

राहुल ने मैच के बाद आधिकारिक प्रसारक से कहा, ‘‘ जाहिर है, इस पिच पर बल्लेबाजी करना मुश्किल था। हमने पहले भी इस तरह की मुश्किल पिचों पर बल्लेबाजी की है लेकिन मैच वहां रन नहीं बना सका था। ऐसे में यह काफी मुश्किल पारी थी।’’ उन्होंने आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले सूर्यकुमार यादव की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ सूर्यकुमार को मैदान पर उतरते ही इस तरह के शॉट खेलते देखना अविश्वसनीय था। आप ने देखा होगा किस तरह से यहां गेंद स्विंग कर रही थी। पिच से गेंद को दोहरी गति मिल रही थी और कुछ गेंदें रूक कर आ रही थी। इस पर किसी के लिए भी बल्लेबाजी करना मुश्किल होता।’’ भारतीय उप-कप्तान ने कहा, ‘‘ सूर्यकुमार को पहली ही गेंद शरीर पर लग गयी। इसके बाद वह शॉट खेलना चाहता था, गेंदबाजों के खिलाफ आक्रामक रूख अपनाना चाहता था। इससे मुझे क्रीज पर समय बिताने का मौका मिला।

इससे मुझे पारी के आखिर में बड़े शॉट खेलने में मदद की। ’’ राहुल ने इस मौके पर युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह की भी तारीफ की जिन्होंने अपनी शुरुआती ओवर में ही तीन विकेट चटकाकर मैच पर भारत की पकड़ मजबूत कर दी। इस सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ उसके खेल में हर मैच के साथ सुधार हो रहा है। वह बड़े दिल (दबाव में संयम बनाये रखने वाला) का खिलाड़ी है। इंडियन प्रीमियर लीग में पंजाब किंग्स का प्रतिनिधित्व करते हुए मैंने उसे करीब से देखा है।’’ राहुल ने कहा, ‘‘ हम हमेशा चाहते थे कि टीम में बायें हाथ का तेज गेंदबाज हो और अर्शदीप की तरह का विकल्प होना शानदार है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़