आईपीएल 2020 में कोलकाता-पंजाब में से कौन करेगा प्लेऑफ में जगह पक्की ?

KXIP KKR
कोलकाता की टीम अभी तक प्लेऑफ की रेस में पूरी तरह से शामिल है। टीम के नंबर 4 पर पहुंचने की गुंजाईश पंजाब के मुकाबले ज्यादा है। दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ टीम ने जिस तरह से वापसी की और खेल के हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन किया।

आईपीएल 2020 अब रोमांचक मोड़ में पहुंच गया है। इस साल टूर्नामेंट में अभी तक दिल्ली, मुंबई और बैंगलौर की स्थिति बढ़िया और टीम के टूर्नामेंट जीतने की संभावना बनी हुई है। लेकिन अभी सबसे बड़ी लड़ाई नंबर 4 की है। वह नंबर 4 जिसे टूर्नामेंट में अपने शुरूआती मुकाबलों में अच्छा प्रदर्शन नहीं करने वाली टीम लक्ष्य बनाती है। वह नंबर 4 जहां टूर्नामेंट के दूसरे हिस्सें में अंक तालिका में नीचे रहने वाली टीम हासिल करना चाहती है। इस बार नंबर 4 की रेस काफी दिलचस्प हो चली है। मुंबई इंडियंस, दिल्ली कैपिटल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के बीच लड़ाई अंक तालिका में उपर की दो टीमों में रहने की है तो पंजाब, कोलकाता, राजस्थान और हैदराबाद के बीच रेस नंबर 4 की है। ऐसे में अब सवाल खड़े होते है कि वह कौन सी टीम है जो नंबर 4 पर पहुंच सकती है। इस आईपीएल वह कौन सी टीम है जो शुरूआत में पिछड़ने के बावजूद नंबर 4 पर पहुंच प्लेऑफ खेलेगी और अपना टूर्नामेंट जीतने का सपना पूरा करेगी। 

इसे भी पढ़ें: IPL इतिहास में पांच हजारी बनने वाले खिलाड़ी और उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियां !

किंग्स इलेवन पंजाब को जीत की लत लग चुकी है !

आईपीएल 2020 की शुरूआत से पहले किंग्स इलेवन पंजाब की टीम कागजों पर बेहतरीन दिखाई पड़ रही थी। टीम के पास काबिलियत के हिसाब से हर वो खिलाड़ी मौजूद था जो एक मैच विजेता के अंदर मौजूद होना चाहिए। इस टीम के पास कोच के रूप में अनिल कुंबले थे तो युवा भारतीय सितारा केएल राहुल कप्तान के रूप में मौजूद था। लेकिन टूर्नामेंट की शुरूआत में टीम बेरंग नजर आई है। जीते हुए मौके टीम ने कई बार गंवाए जिसकी वजह से आईपीएल 2020 में अपने शुरूआती 7 मैचों में से पंजाब की टीम 6 हार गई। टीम अंक तालिका में नंबर 8 पर आ गई। लेकिन टूर्नामेंट के दूसरे हिस्से में बहुत कुछ बदल गया। किंग्स इलेवन पंजाब ने बैंगलौर, दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद को हराकर अपने लगातार चार मुकाबले जीत लिए है। टीम को अगर अब प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करना है तो अपने बचे हुए तीन मुकाबले जीतने होंगे। टीम के खिलाड़ियों का प्रदर्शन अच्छा रहा है। क्रिस गेल के आने से टीम बेहद मजबूत हुई है। युवा भारतीय गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे है। अनुभवी शमी के होने की वजह से तेज गेंदबाजी भी अब दिक्कत नहीं दे रही है। इसके अलावा टीम के कप्तान केएल राहुल का कहना है कि अब उनकी टीम को जीत की आदत हो गई है।

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हारा हुआ मैच जीतने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने कहा " टूर्नामेंट के शुरूआती मैचों में हम जीत को आदत नहीं बना पा रहे थे। लेकिन अब वो कोशिश कर रहे हैं। इस वक्त मेरे पास सच में कोई शब्द नहीं है। लड़कों ने जिस तरह का खेल दिखाया मैं उससे बहुत खुश हूं "।

जाहिर है केएल राहुल अपने टीम के खिलाड़ियों के इस तरह के खेलने से प्रसन्न हैं। लेकिन अभी भी टीम को अगर प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करना है तो कुछ सुधार की जरूरत है। टीम में ग्लैन मैक्सवेल के किरदार पर सवाल उठना जायज है। ग्लैन मैक्सवेल ने अभी तक पंजाब के लिए कोई भी मैचविनिंग पारी नहीं खेली है। 10 करोड़ 75 लाख की भारी भरकम कीमत में खरीदे जाने वाले मैक्सवेल ने निराश ही किया है। ऐसे में अगर आने वाले मैचों में मैक्सवेल खेलते हैं तो उन्हें जरूर अच्छा प्रदर्शन करना होगा। इसके अलावा अभी भी टीम को दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए मैच जीतने की कला सीखनी होगी क्योंकि अगर टीम जीते हुए मुकाबले हर बार सुपर ओवर में ले जाती है तो किसी बड़े दिन मामला हाथ से फिसल सकता है। ऐसे में पंजाब के लिए प्लेऑफ में पहुंचने की संभावनाएं तो है लेकिन टीम अपने बचे हुए तीन मैचों में बिना किसी गलती के जीत हासिल करनी होगी।

क्या कोलकाता बनेगी अंक तालिका में नंबर 4 की टीम ?

कोलकाता की टीम अभी तक प्लेऑफ की रेस में पूरी तरह से शामिल है। टीम के नंबर 4 पर पहुंचने की गुंजाइश पंजाब के मुकाबले ज्यादा है। दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ टीम ने जिस तरह से वापसी की और खेल के हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन किया। उसने जरूर कोलकाता को आत्मविश्वास दिया होगा। टीम के कप्तान इयोन मोर्गन अब खिलाड़ियों के प्रदर्शन से खुश है। इयोन मोर्गन ने दिल्ली के खिलाफ जीत के बाद कहा कि पहली बार पूरे टूर्नामेंट में कोलकाता ने पूरी टीम के रूप में बढिया खेल दिखाया है।

इसे भी पढ़ें: IPL 2020 में मोटी रकम पर खरीदे गए खिलाड़ियों का फ्लॉप शो !

ऐसे में अगर कोलकाता की टीम को प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करना है तो उन्हें हर एक मौके को पकड़ना होगा। टीम के पास बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में बढ़िया विकल्प मौजूद है। लेकिन अगर इन खिलाड़ियों को लेकर प्लेइंग इलेवन में लगातार बदलाव किए गए तो वो फायदे का सौदा नहीं साबित होगा। टीम के लिए पिछले दो सीजन से अच्छा प्रदर्शन करने वाले नीतीश राणा अब फार्म में वापसी कर चुके है। सुनील नरेन ने जिस तरह से दिल्ली के सामने अर्धशतकीय पारी खेली उसने पूरी टीम को एक अलग आत्मविश्वास दिया होगा। अगर टीम को कही सुधार की जरूरत है तो वो उनके टॉप आर्डर का अच्छा प्रदर्शन करना। टूर्नामेंट के शुरूआत में अच्छा खेल दिखाने वाले युवा बल्लेबाज शुभमन गिल पिछले कई मैचों से बड़ी पारी नहीं खेल पाएं हैं। ऐसे में टीम मैनेजमेंट आने वाले मैचों में उनसे अच्छे खेल की उम्मीद कर सकती है। इसके अलावा टीम के पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक से भी बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद होगी। अगर कोलकाता की टीम अच्छा खेल दिखाती है और अपने आने वाले मुकाबले जीतती है तो वो प्लेऑफ में तो पहुंच सकती है। इसके साथ ही उनके पास तीसरी बार टूर्नामेंट जीतने की काबिलियत भी है।

- दीपक कुमार मिश्रा

अन्य न्यूज़