क्या मैनचेस्टर के साथ ही विराट की सेना इंग्लैंड फतह के लिए है तैयार, कौन बनेंगे जीत के महारथी !

क्या मैनचेस्टर के साथ ही विराट की सेना इंग्लैंड फतह के लिए है तैयार, कौन बनेंगे जीत के महारथी !

चौथे टेस्ट मैच में टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी मोहम्मद शमी मुकाबला नहीं खेल पाए थे। शमी चोट की वजह से उस मुकाबले में नहीं खेल पाए थे। लेकिन अब पांचवें टेस्ट मैच में खेलने के लिए मोहम्मद शमी उपलब्ध है और उनकी चोट बिल्कुल ठीक हो चुकी है।

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला होना है। यह मुकाबला 10 सितंबर से मैनचेस्टर के मैदान में खेला जाएगा। यह मुकाबला जहां एक तरफ भारत के लिए काफी अहम है क्योंकि इस मुकाबले में जीत के साथ ही टीम इंडिया 2007 के बाद इंग्लिश सरजमीं पर सीरीज जीतेगी। वहीं दूसरी तरफ इंग्लैंड इस मुकाबले को जीतकर सीरीज को ड्रॉ करना चाहेगा। भारतीय टीम ने ओवल में जिस तरीके से मुकाबला जीता उसको देखकर सीरीज के आखिरी मैच में भी टीम इंडिया को फेवरेट माना जा रहा है। पिछले मुकाबले में भारतीय टीम के हर सदस्य ने शानदार प्रदर्शन किया और बेहतरीन टीम कॉन्बिनेशन के साथ जीत दर्ज की। एक तरफ जहां रोहित शर्मा ने पिछले मैच में शानदार सेंचुरी जड़ी वही चेतेश्वर पुजारा ने भी दूसरी पारी में रोहित शर्मा का बेहतरीन साथ दिया। शार्दुल ठाकुर की जितनी तारीफ की जाए वह कम है क्योंकि इस खास खिलाड़ी के बदौलत भारत मुकाबले को जीत पाया। वही ऋषभ पंत जसप्रीत बुमराह और रविंद्र जडेजा का भी प्रदर्शन काफी शानदार रहा। अब भारतीय टीम अपना अगला मुकाबला खेलने मैनचेस्टर में उतरेगी जहां भारत अनलकी ही रहा है। ऐसे में अब देखना दिलचस्प होगा किस तरीके से टीम इंडिया इंग्लैंड के मैनचेस्टर के इस मैदान पर मेजबान टीम को हारती है।

इसे भी पढ़ें: शार्दुल की ऑलराउंडर भूमिका से क्या समाप्त होगी भारत की समस्या ? ये हैं बेस्ट ऑलराउंडर

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में दोनों टीमों का कैसा है रिकार्ड्स ?

हैडिंगले में टेस्ट मैच के चौथे दिन हारने के बाद टीम इंडिया ने ओवल में कमाल का खेल दिखाया। इंग्लैंड के लॉर्ड्स के बाद ओवल में मिली जीत से टीम के खिलाड़ियों का आत्मविश्वास अलग ही लेवल पर है। लेकिन भारत  के लिए टेंशन वाली बात यह है कि मैनचेस्टर के मैदान पर टीम का ट्रैक रिकॉर्ड बहुत ही खराब रहा है। भारत ने इस मैदान पर पहला टेस्ट 1936 में खेला था और अभी तक खेले 9 टेस्ट मैचों में टीम को एक में भी जीत नसीब नहीं हुई है, जबकि चार मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा है और 5 मुकाबले ड्रॉ पर समाप्त हुए। 2014 में भारतीय टीम ने इस मैदान पर महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में आखिरी टेस्ट मैच खेला था और टीम को पारी और 54 रन से हार मिली थी। वहीं, इंग्लैंड ने मैनचेस्टर में खेले 81 मैचों में 31 में जीत दर्ज की है, जबकि 15 में टीम को हार मिली है और 35 मुकाबले ड्रॉ पर समाप्त हुए हैं। 

मैच से पहले भारत के लिए अच्छी खबर 

चौथे टेस्ट मैच में टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी मोहम्मद शमी मुकाबला नहीं खेल पाए थे। शमी चोट की वजह से उस मुकाबले में नहीं खेल पाए थे। लेकिन अब पांचवें टेस्ट मैच में खेलने के लिए मोहम्मद शमी उपलब्ध है और उनकी चोट बिल्कुल ठीक हो चुकी है। ऐसे में यह भारत के लिए एक अच्छी खबर है। इसके साथ अगर देखा जाए तो भारत के लिए इस मैच में एक और अच्छी खबर निकल कर आ रही है। चौथे टेस्ट के दौरान ओपनर रोहित शर्मा को भी घुटने में चोट लग गई थी। वहीं, पुजारा भी बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गए थे। इंग्लैंड की दूसरी पारी के दौरान रोहित और पुजारा दोनों ही फील्डिंग करते नजर नहीं आए थे। टीम के लिए अच्छी खबर ये हैं कि, दोनों स्टार खिलाड़ियों की फिटनेस में तेजी से सुधार हो रहा है और दोनों के अंतिम मैच में खेलने की पूरी संभावनाएं हैं।

कौन से खिलाड़ी जिताएंगे भारत को आखिरी मुकाबला !

इसे भी पढ़ें: भारतीय कप्तान विराट कोहली बोले-सभी हमारी टीम को हराना चाहते हैं

इस सीरीज में अभी तक भारत के लिए अगर किसी बल्लेबाज ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है तो वह रोहित शर्मा है। रोहित पूरी सीरीज में शानदार टच में नजर आए हैं। रोहित शर्मा ने ओवल में अपनी सेंचुरी भी पूरी की जिससे जरूर उनके कॉन्फिडेंस को एक अलग ही मुकाम हासिल हुआ होगा। इसके अलावा उनके जोड़ीदार केएल राहुल भी इस सीरीज में कमाल की फॉर्म में है। राहुल ने लॉर्ड्स टेस्ट में सेंचुरी भी चढ़ जिसके बाद भी उन्होंने टीम के लिए अगले दोनों मुकाबले में कई उपयोगी पारियां खेली। भारत के लिए अब चेतेश्वर पुजारा भी फॉर्म में लौट आए हैं। पुजारा ने हेडिंग्ले हो या फिर ओवल दोनों ही मैदान में हाफ सेंचुरी जड़ बताया कि वह विकेट पर टिके रहने के 7 रन भी बना सकते हैं। इसके साथ अगर भारतीय कप्तान विराट कोहली के प्रदर्शन पर नजर डाली जाए तो विराट कोहली भले ही इस सीरीज में अभी तक कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाए लेकिन उन्हें लेकिन उनकी बल्लेबाजी में एक कंट्रोल दिखाई देता है। विराट कोहली अच्छे टच में नजर आ रहे हैं लेकिन बदकिस्मती की वजह से वह इस सीरीज में अभी तक अपना विकेट गंवा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ रविंद्र जडेजा से भारतीय टीम को गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी में भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी जडेजा को पिछले मुकाबले में पांचवें नंबर पर बैटिंग करने के लिए भेजा गया था। लेकिन वहां चले जाने उस मौके का फायदा नहीं उठाया और बड़ी पारी नहीं खेल पाए ऐसे में जडेजा अगर आखिरी मुकाबले में भी नंबर पांच पर खेलते हैं। उनसे उम्मीद होगी कि वह एक बड़ी पारी खेली और इस सीरीज में बल्ले के साथ बेहतरीन समापन करें वहीं दूसरी तरफ इस मुकाबले में शार्दुल ठाकुर और ऋषभ पंत भी भारत के सबसे बड़े खिलाड़ी होंगे। इन दोनों खिलाड़ी ने बताया है कि किस तरीके से वह जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी कर सकते हैं। ऐसे में आखिरी टेस्ट मैच में यह दोनों खिलाड़ी भारत के लिए हथियार साबित होंगे वहीं गेंदबाजी में देखा जाए तो भारत की गेंदबाजी अब तक इस सीरीज में सबसे बेहतरीन नजर आई है ऐसे में आखिरी टेस्ट मैच में उम्मीद है कि बुमराह की अगुवाई में शार्दुल ठाकुर और उमेश यादव अच्छा प्रदर्शन करेंगे भाई यह देखना दिलचस्प होगा क्या मोहम्मद शमी आखिरी मुकाबले में मोहम्मद सिराज की जगह खेलते हुए नजर आ सकते हैं।

यह हो सकती है भारत की संभावित प्लेइंग इलेवन-

विराट कोहली (कप्तान) केएल राहुल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रविंद्र जडेजा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), शार्दुल ठाकुर, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, मोहम्मद शमी।

- आयशा आलम