यदि करोड़पति बनना चाहते हैं तो आजमाइए कुछ आसान टिप्स

यदि करोड़पति बनना चाहते हैं तो आजमाइए कुछ आसान टिप्स

करोड़पति शब्द ही कुछ ऐसा करिश्माई है जो लोगों को अपनी ओर खींचता है। शायद इसीलिए लगभग सभी लोग चाहते हैं कि वो भी करोड़पति बनें और ऐसे लोगों की तरह ही शानोशौकत भरा जीवन जियें।

पहले जो लोग लखपति होते थे वे औकात वाले समझे जाते थे, लेकिन अब यह गुजरे जमाने की बात हो गई है। बदले जमाने के साथ जो व्यक्ति किसी कारणवश करोड़पति नहीं बन पाया, समाज में उसकी पूछ थोड़ी घटी है। लेकिन जो करोड़पति हो गए, उनकी शोहरत और इज्जत दोनों बढ़ी है। यही वजह है कि दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती महंगाई के दौर में इस दुनिया में कौन-सा ऐसा व्यक्ति होगा जो करोड़पति बनने का ख्वाब नहीं देखता होगा?

दरअसल, करोड़पति शब्द ही कुछ ऐसा करिश्माई है जो लोगों को अपनी ओर खींचता है। शायद इसीलिए लगभग सभी लोग चाहते हैं कि वो भी करोड़पति बनें और ऐसे लोगों की तरह ही शानोशौकत भरा जीवन जियें। आलम यह है कि समझदार बच्चे भी ऐसा ही चाहते हैं। यदि कोई नर्सरी के बच्चे से भी पूछे कि तुम बड़ा होकर क्या बनना चाहोगे तो वो भी पहले करोड़पति बोलेगा, फिर डॉक्टर-इंजीनियर आदि पेशे की चर्चा करेगा। 

इसे भी पढ़ें: भारत में ऐपल का कारोबार अभी भी अवसरों के मुकाबले काफी कम है: टिम कुक 

लेकिन, जब आप किसी से पूछेंगे कि करोड़पति बनने के लिए क्या-क्या करना होगा तो अधिकांश लोग निरुत्तर हो जाएंगे या फिर अपनी जानकारी के मुताबिक अलग-अलग बातें बताएंगे? लिहाजा, बेहतर होगा कि अब आप भी खुद से यही सवाल पूछें और यदि उत्तर समझ में नहीं आए तो बताई हुई बातों का अनुशरण करें, निश्चय ही आप करोड़पति बन जाएंगे।

# क्या आपको रुपए-पैसे से प्यार है? क्या आप उसे कमाने और बचाने की ललक रखते हैं?

'जहां चाह, वहां राह' वाली कहावत आपने सुनी होगी। इसलिए यदि आपको भी करोड़पति बनना है तो रुपए-पैसे से प्यार कीजिए। उसे कमाने के लिए जरूरी हुनर सीखिए। यदि रुपए-पैसे आने लगें तो फिजूलखर्ची से बचिए। उन्हें बचाकर धन-संग्रह की प्रवृति विकसित कीजिए। चाहे आप कोई भी काम करते हों, लेकिन कुछ नया सीखने और मेहनत करने से जब पीछे नहीं हटेंगे तो रुपए अपने आप आने लगेंगे। बशर्ते कि आपका दृष्टिकोण भी रुपए-पैसे की तरफ होना चाहिए। यदि आप रुपए-पैसे से बेहद लगाव रखिएगा, ढेर सारा पैसा कमाना चाहिएगा? रुपए-पैसे के बारे में बार-बार सोचिएगा तो आपके पास भी रुपए-पैसे का ढेर लग जाएगा, क्योंकि रुपए-पैसे भी बनाना एक अद्भुत कला है जिसके लिए सादगी, संयम जैसी अनवरत साधना करने और उन्हें सहेजे रखते हुए सत्कार्य में खर्च करने की आदत विकसित करनी होती है। 

इसे भी पढ़ें: बजट से पहले शेयर बाजारों में रहेगा उतार-चढ़ाव, विशेषज्ञों ने कहा- बाजार अर्थव्यवस्था की भविष्य की क्षमता के संकेतक हैं 

# आखिरकार कोई-कोई व्यक्ति रुपए-पैसे क्यों नहीं बना पाता है?

आपने अपने पास-पड़ोस में देखा होगा कि कोई कोई व्यक्ति बहुत हुनरमंद है, कठोर मेहनत करता है, रूप-गुण-शील से लबालब भरा है, फिर भी उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। उसकी आमदनी अठन्नी है और खर्चा रुपैया। बचत की जगह कर्ज में लदा रहता है। ऐसे लोगों के विषय में ज्योतिष बताता है कि ऐसे व्यक्ति कैसे रुपए-पैसे की तरफ तो झुकता है, लेकिन उसे अपेक्षित सफलता नहीं मिलती। लिहाजा, यह शास्त्र सिर्फ मूल बातें ही नहीं बताता है बल्कि उस विषम वित्तीय स्थिति को कैसे बेहतर बनाया जाए, इस बारे में भी अत्यंत सटीक जानकारी आपको जाने-अनजाने में दे जाता हैं। साथ ही आपको यह बता सकता है कि आगे आपको धन की हानि होगी या लाभ। यदि आप इन बातों पर गौर करेंगे और सुझाई हुई सावधानियां बरतते हुए कुछ महत्वपूर्ण उपाय विधिवत करेंगे तो करोड़पति बनने से आपको कोई नहीं रोक सकता है।

# क्या आपके ऊपर बृहस्पति ग्रह का शुभ प्रभाव है? यदि नहीं तो कैसे उसे विकसित करें, इसके यत्न कीजिए।

किसी भी व्यक्ति की समृद्धि के मामले में बृहस्पति ग्रह का सबसे बड़ा योगदान होता है। प्रायः देखा जाता है कि जिस व्यक्ति का बृहस्पति तेज होता है, उसके पास रुपए-पैसे की कभी भी कमी नहीं रहती। लेकिन जिसका यह ग्रह कमजोर होता है, वह पाई पाई को मोहताज हो जाता है। ऐसा इसलिए कि बृहस्पति ग्रह ही किसी व्यक्ति को और अधिक समृद्ध बनाता है। इस बात में कोई दो राय नहीं कि आपकी राशि और बदलते सितारे जब नक्षत्र मंडल में बृहस्पति को प्रभावित करते हैं तो आपकी किस्मत भी बदलती है। इससे यह पता चल जाता है कि आपको धन कब और कितना मिल सकता है। यही नहीं, हरेक व्यक्ति की कुंडली में धन प्रदायक ग्रहों का भी अलग-अलग योग होता है जिसे समझकर चलने में और तदनुरूप व्यवहार करने से चतुर्दिक उन्नति होती है। इसके अलावा, इन ग्रहों की चाल से भी आप अपने धन के स्रोत के बारे में भलीभांति पता कर सकते हैं। इसलिए अंधविश्वास समझकर ज्योतिषीय टिप्पणी की उपेक्षा मत करें, बल्कि उसका अनुशरण करके करोड़पति बन जाएं।

# क्या करोड़पति बनना किसी बेहतर कर्म का प्रतिफल है? और यदि किसी के शुभकर्म भी उसे सपोर्ट नहीं करें तब वह क्या करे?

आपको पता होना चाहिए कि किसी भी मामले में अगर आपको उचित धन प्राप्त होता है तो वह आपके नेक कर्म का फल होता है। लेकिन जब आपके ग्रह आपके कर्मों को सपोर्ट नहीं करेंगे तो कहीं न कहीं हुई हानि से आप किसी विपत्ति में भी पड़ सकते हैं। इसलिए कहा भी जाता है कि आप विभिन्न प्रकार के निवेश-विनिवेश के माध्यम से ढेर सारा रुपया-पैसा कमा सकते हैं, आप जुआ-सट्टा खेलकर और बाजी-शर्त लगाकर भी खूब रुपया-पैसा कमा सकते हैं, लेकिन आपको पता होना चाहिए कि ऐसा धन कहीं भी ज्यादा दिन तक नहीं टिक सकता है। लेकिन यदि आपका पैसा आपकी कड़ी मेहनत का है और कुछ ग्रहों की नकारात्मक दृष्टि या किसी नकारात्मक योग जैसे कालसर्प योग आदि के कारण भी धन नहीं मिल पा रहा है तो स्थिति अवश्य चिंतनीय है। दरअसल ऐसा जिसके भी साथ होता है तो वह मंगल, सूर्य और शनि के कारण ऐसा होता है जिसके सम्यक उपचार से किसी की भी आर्थिक स्थिति बदल जाती है। बशर्ते कि आप उसे पूरे मनोयोगपूर्वक करें। आपको यह भी पता होना चाहिए कि आपकी राशि में ग्यारवां भाव, बारहवें भाव की तुलना में हमेशा मजबूत रहना चाहिये। चूंकि बारहवां भाव खर्च का जगह होता है। इसलिए यदि यह बारहवें स्थान से ज्यादा मजबूत हो जाए तो कई बार बहुत अच्छी आय होने के बावजूद भी पैसा नहीं बचता। इससे आप समझ जाते हैं कि आप करोड़पति क्यों नहीं बन पा रहे हैं? 

इसे भी पढ़ें: आगामी आम बजट से पहले बाजार में रहेगा उतार-चढ़ाव, इससे तय होगी शेयर बाजारों की दिशा 

# क्या करोड़पति बनने के वैदिक उपायों को आप जानते हैं? यदि नहीं तो इसे सिर्फ एक बार आजमाइए, फिर बरकत महसूस होने लगे तो फिर मनाहीं कैसी?

सनातन मत के वैदिक उपाय बड़े ही कारगर माने जाते हैं।ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक किसी भी प्रकार की सुख-शांति-समृद्धि के लिए आप अपने घर में नियमित लक्ष्मी पूजन, यदा-कदा लक्ष्मी-कुबेर पूजन, मासिक या विशेष अवसर पर सत्यनारायण भगवान पूजन और अनुष्ठानिक तौर पर लक्ष्मी-गायत्री पूजन करवाकर धन को अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है कि यह वैज्ञानिक और आध्यात्मिक दोनों उपाय है। दरअसल, पूजन-हवन अथवा यज्ञ के दौरान जलने वाली विशेष प्रकार की औषधीय अग्नि से और विशेष प्रकार के लयबद्ध मंत्रों के उच्चारण से किसी भी व्यक्ति के घर की नकारात्मक ऊर्जा में सकारात्मक परिवर्तन होता है। जिससे यह आग आपके जीवन के तमाम कष्टों को दूर करती है और जीवन में सुख-शांति-समृद्धि भर देती है। इसमें कोई भी संशय नहीं है। इसलिए खुद भी करोड़पति बनिए और दूसरों को भी बनने के लिए उत्प्रेरित कीजिए।

- कमलेश पांडेय, वरिष्ठ पत्रकार व स्तम्भकार