कब करें सुहागिन महिला और अकाल मृत्यु वाले परिजनों का श्राद्ध एवं पिंडदान

कब करें सुहागिन महिला और अकाल मृत्यु वाले परिजनों का श्राद्ध एवं पिंडदान

पितृपक्ष के दौरान पिंडदान और तर्पण करने से पितरों की आत्मा तृप्त होती है और आशीर्वाद देती है। मान्यता है कि यदि पितृ नाराज या गुस्सा हो जाते हैं तो इंसान को जीवन में तरह-तरह की परेशािनयों और कष्टों का सामना करना पड़ता है।

हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन कृष्ण पक्ष से लेकर अमवस्या तक का समय पितृ पक्ष कहलाता है। इस साल पितृ पक्ष 20 सितम्बर 2021 से 06 अक्टूबर  2021 तक है। हिन्दू धर्म के अनुसार पितृपक्ष में पितरों की आत्मा की शांति के लिए उनका श्राद्ध करना बहुत जरूरी माना गया है। हिन्दू धर्म के अनुसार यदि किसी मृत व्यक्ति का श्राद्ध ना किया जाए तो उसकी आत्मा को मुक्ति नहीं मिलती है। इसलिए पितरों की आत्मा की शान्ति के लिए पितृपक्ष में श्राद्ध किया जाता बहुत आवश्यक माना गया है। पितृपक्ष के दौरान पिंडदान और तर्पण करने से पितरों की आत्मा तृप्त होती है और आशीर्वाद देती है। मान्यता है कि यदि पितृ नाराज या गुस्सा हो जाते हैं तो इंसान को जीवन में तरह-तरह की परेशािनयों और कष्टों का सामना करना पड़ता है। कहा जाता है कि पितृ के नाराज होने से घर में अशांति का माहौल बन जाता है और जीवन से खुशियां खत्म होने लगती हैं। ऐसे में पितरों को तृप्त करना और उनकी आत्मा की शांति के लिए पितृपक्ष में श्राद्ध करना बेहद अनिवार्य माना जाता है। पितृपक्ष के दौरान श्राद्ध के जरिए पितरों की तृप्ति के लिए भोजन कराया जाता है और पिंडदान और तर्पण कर उनकी आत्मा की शांति की कामना की जाती है।

इसे भी पढ़ें: जानें क्या है सर्वपितृ अमावस्या? इस दिन श्राद्ध करने से मिलता है पूरे पितृपक्ष का फल

पितृपक्ष में इस दिन करें श्राद्ध        

हिन्दू धर्म के पितृपक्ष के दौरान पितरों का श्राद्ध करने की बड़ी मान्यता है। पितृपक्ष के दौरान हर दिन  पानी में काले तिल, जौ, दूध और गंगाजल  मिलाकर तर्पण किया जाता है। शास्त्रों के अनुसार पितरों का श्राद्ध उनकी मृत्यु तिथि के अनुसार ही करना चाहिए। आइए जानते हैं किस तिथि पर किसका श्राद्ध करना चाहिए - 

पिता का श्राद्ध अष्टमी और माता का श्राद्ध नवमी के दिन करना श्रेष्ठ है। 

यदि कोई महिला सुहागिन ही मृत्यु को प्राप्त हुई हो तो उसका श्राद्ध भी नवमी के दिन ही करना चाहिए। 

साधू-सन्यासियों का श्राद्ध द्वादशी के दिन किया जाता है।

यदि किसी परिजन की दुर्घटना, आत्महत्या या अकाल मृत्यु हुई हो तो उनका श्राद्ध चतुर्दशी के दिन किया जाना चाहिए। 

जिन पितरों की मृत्यु तिथि मालूम ना हो तो उनका श्राद्ध सर्वपितृ अमावस्या के दिन किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: बालू से पिंडदान क्यों किया जाता है? वाल्मीकि रामायण में मिलता है इसका उल्लेख

पितृपक्ष 2021 की तिथियाँ 

20 सितंबर 2021- पहला श्राद्ध (पूर्णिमा श्राद्ध)

21 सितंबर 2021- प्रतिपदा का श्राद्ध

22 सितंबर 2021- द्वितीया का श्राद्ध

23 सितंबर 2021- तृतीया का श्राद्ध

24 सितंबर 2021- चतुर्थी का श्राद्ध

25 सितंबर 2021 - पंचमी का श्राद्ध

26 सितंबर 2021 -षष्ठी का श्राद्ध

27 सितंबर 2021 - सप्तमी का श्राद्ध

28 सितंबर 2021- अष्टमी का श्राद्ध

29 सितंबर 2021- नवमी का श्राद्ध

30 सितंबर 2021- दशमी का श्राद्ध

01 अक्टूबर 2021- एकादशी का श्राद्ध

02 अक्टूबर 2021- द्वादशी का श्राद्ध

03 अक्टूबर 2021- त्रयोदशी का श्राद्ध

04 अक्टूबर 2021- चतुर्दशी का श्राद्ध

05 अक्टूबर 2021- सर्वपितृ श्राद्ध

- प्रिया मिश्रा





Related Topics
hindu dharm pitrupaksha 2021 sarvapitru amavasya sarvapitru amavasya 2021 date sarvapitru amavasya importance sarvapitru amavasya kab hai हिंदू धर्म सर्वपितृ अमावस्या सर्वपितृ अमावस्या कब है सर्वपितृ अमावस्या का महत्व सर्वपितृ अमावस्या पर श्राद्ध करने का तरीका pitrupaksh ke niyam pitrupaksh rules pitrupaksh me kya karna chahiye हिंदू धर्म पितृपक्ष 2021 पितृपक्ष के नियम पितृपक्ष में क्या करना चाहिए shradh 2021 shradh 2021 kab se hai mahalaya 2021 pitrapaksh start date pitrapaksh date in hindi pitrapaksh kab se hain pitrapaksh date 2021 shradh 2021 start date pitru paksha pitru paksha 2021 dates shradh pitru paksha 2021 pitru paksha Shradh Start Dete pind daan pitru paksha amavasya 2021 shradh kab se shuru hai 2021 shradh and navratri 2021 sharad kab hai 2021 shradh dates in 2021 श्राद्ध 2021 कब है पितृ पक्ष 2021 कब है पितृपक्ष कब से आरंभ हो रहा है जानें कब से हैं श्राद्ध पक्ष श्राद्ध पक्ष 2021 डेट्स कब है पितृ पक्ष श्राद्ध श्राद्ध कब है 2021 श्राद्ध कब है 2021 2021 में श्राद्ध कब से शुरू है 2021 में श्राद्ध कब है 2021 में श्राद्ध कब है श्राद्ध पक्ष 2021 पितृ विसर्जन कब है 2021 पितृ पक्ष 2021 डेट श्राद्ध पक्ष 2021 पितृ पक्ष डेट 2021 पितृ विसर्जन कब है 2021 पितृ श्राद्ध 2021 पितृ विसर्जन 2021 2021 में श्राद्ध कब है पूर्णिमा आश्विन मास की अमावस्या श्राद्ध पितृपक्ष कैसे करें श्राद्ध religion पितृपक्ष में पिंड दान पितृपक्ष में बालू से पिंड दान क्यों किया जाता है pitrupaksh me pind daan pitrupaksh me baloo se pind daan kyon kiya jata hai