कॉमेडी के साथ प्यार को नये रंग में परोसती है अजय देवगन की फिल्म 'De De Pyaar De'

By रेनू तिवारी | Publish Date: May 17 2019 4:13PM
कॉमेडी के साथ प्यार को नये रंग में परोसती है अजय देवगन की फिल्म 'De De Pyaar De'
Image Source: Google

फिल्म की कहानी लव ट्राएंगल पर आधारित है। कहानी शुरू होती है अजय देवगन की बैचलर पार्टी से... पार्टी में रकुल प्रीत की एंट्री होती है जहां वो एक कॉल गर्ल बनकर आती हैं अपने दोस्त के होने वाली पति का का टेस्ट करने के लिए।

देशभर भर में चुनाव का शोर और थिएटर में एवेंजर्स एंडगेम का जोर खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। एवेंजर्स एंडगेम ने अपने साथ रिलीज हुई फिल्मों की कमर तोड़ दी। तीन हफ्ते बाद भी टिकटे लगातार बिक रही हैं। इसी बीच  बॉक्स ऑफिस पर बॉलीवुड की एक बड़े स्टार की फिल्म में एंट्री मारी। जी हां 17 मई को अजय देवगन की फिल्म दे दे प्यार दे रिलीज हो गई है। फिल्म में अजय देवगन, तब्बू और रकुल प्रीत का लीड रोल हैं। इस फिल्म का निर्देशन आकिव अली ने किया हैं। निर्देशन के क्षेत्र में ये आकिव अली की पहली फिल्म है। फिल्म की कहानी को लव रंजन ने लिखा हैं और इसका प्रोडक्शन भी लव रंजन का है। लव रंजन ने प्यार का पंचनामा जैसी जबरदस्त फिल्में बना चुके है। अगर आप फिल्म देखने का प्लान बना रहे हैं तो देखें ये रिव्यू-

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: रोमांस की जगह अगर आप का दिल थ्रिलर फ़िल्में देख कर धड़कता है, तो ये फ़िल्में ज़रूर देखना

कहानी

फिल्म की कहानी लव ट्राएंगल पर आधारित है। कहानी शुरू होती है अजय देवगन की बैचलर पार्टी से... पार्टी में रकुल प्रीत की एंट्री होती है जहां वो एक कॉल गर्ल बनकर आती हैं अपने दोस्त के होने वाली पति का का टेस्ट करने के लिए। यहीं पर रकुल की मुलाकाल अजय देवगन से होती है। दोनों एक दूसरे से फ़्लर्ट करते करते एक दूसरे के प्यार में पड़ जाते हैं। फिल्म में अजय की उम्र 50 साल है और रकुल की 26 साल है। ये अलग सी जोड़ी प्यार में डूबी होती है। अजय देवगन रकुल को परिवार से मिलवाने के लिए अपने घर लेकर जाते हैं जहां से फिर कहानी में आता है ट्विस्ट। यहां पर अजय की मुलाकात उनकी एक्स वाइफ तब्बू से होती है। आगे फिल्म में क्या-क्या होता है? अजय किसकी बाहों में जाते हैं इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी। 



इसे भी पढ़ें: भारत अपने गायकों के लिए पहचाना जाए, यह मेरा सपना है: अरमान मलिक

रिव्यू

एक लाइन में रिव्यू अगर दिया जाए तो फिल्म अच्छी है फिल्म। फिल्म में दो चीजें हैं जहां एक तरफ बड़ी उम्र के आदमी से प्यार करते हुए क्या- क्या होता हैं उसे दिखाया गया है तो दूसरी तरफ फिल्म में कॉमेड़ी तड़का दिया है। यानी कि फिल्म में 2 गंभीर सब्जेक्ट को एंटेरटेनमेंट के मिक्स्चर के साथ दिखाया गया है। अजय, तब्बू और रकुल के बीच का ट्राएंगल काफ़ी इंट्रेस्टिंग है। लेकिन एक मोड़ पर फिल्म थोड़ी लंबी लगने लगती है मतलब कुछ सीन्स ज़बरदस्ती के लग रहे थे। फिल्म के कुछ करेक्टर्स जैसे जावेद जाफरी और जिमी की एक्टिंग ने काफी अच्छा काम किया है।

एक्टिंग

अजय देवगन तो सुपरस्टार है इस फिल्म में भी वो जबरदस्त एक्टिंग करते हुए दिखाई दे रहे हैं। कई जगह फिल्म में उनके एक्सप्रेशन काफी कमाल के हैं। तब्बू एक मंझी हुी कलाकार है वो अपनी मैच्योर एक्टिंग से सबपर भारी पड़ रही है। रकुल प्रीत भी ठीक है इस फिल्म में अजय और रकुल की कैमिस्टी अच्छी लग रही हैं। रकुल फिल्म में हॉट लुक में नजर आई। बॉलीवुड के संस्कारी बाबू भी फिल्म का हिस्सा हैं आलोक नाथ ने अजय के पिता का किरदार निभाया हैं उन्होंने अपने मजेदार एक्टिंग करके लोगों को हसाया हैं। जावेद जाफरी फिल्म में बस थोड़े से रोल में है लेकिन वो अपने किरदार के साथ न्याय कर रहे है। जिमी शेरगिल की एंट्री फिल्म में जान डाल देती हैं।



क्यों देखी जाए फिल्म? 

अब मुद्दे पर आते हैं कि फिल्म क्यों देखनी चाहिए। दरअसल, ये फिल्म आपको आज के मॉर्डन जमाने से जोड़ेगी, जहां पर प्यार के बीच उम्र का बंधन नहीं है, रिश्तों का बंधन नहीं है। हर कोई खुले तौर पर अपनी ज़िंदगी जी रहा है। यानी रिश्तों की गहराइयों को लेकर कुछ समझा रहे हैं। इस बीच फिल्म कॉमेडी का तड़का तो है ही, फिल्म में ऐसे सीन और डायलॉग हैं जो आपको हंसने को मजबूर कर देंगे। साथ ही कुछ डबल मिनिंग पंच भी हैं, जो यूथ को पसंद आ सकते हैं। अगर आप एक एंटरटेनिंग, फनी, ड्रामा लव स्टोरी देखना चाहते हैं तो आप इसे देख सकते हैं।

कलाकार- अजय देवगन,तब्‍बू,रकुल प्रीत सिंह,जावेद जाफरी,आलोक नाथ,जिमी शेरगिल 



निर्देशक- आकिव अली

मूवी टाइप- Drama,Comedy

अवधि- 2 घंटा 15 मिनट

रेटिंग- 3 (***)

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story

Related Video