रानिल विक्रमसिंघे के साथ काम करने को आतुर है अमेरिका

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Dec 18 2018 12:46PM
रानिल विक्रमसिंघे के साथ काम करने को आतुर है अमेरिका
Image Source: Google

“हिंद-प्रशांत में श्रीलंका एक महत्वपूर्ण साझेदार है और हम साझे हितों के द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे और उनके मंत्रिमंडल के साथ काम करने को इच्छुक हैं।”

वाशिंगटन। अमेरिका ने श्रीलंकाई प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की पुन: बहाली की मंगलवार को सराहना करते हुए उनके साथ काम करने की इच्छा जताई। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रॉबर्ट पलाडिनो ने कहा, “हम खुश हैं कि श्रीलंका के नेतृत्व ने पिछले कई हफ्तों से चल रहे राजनीतिक संकट को संवैधानिक नियमों एवं विधि के शासन के अनुरूप सुलझा लिया है।”

भाजपा को जिताए

यह भी पढ़ें- अमेरिका और हंगरी के समर्थन के बिना UN ने शरणार्थी समझौता स्वीकार किया

उन्होंने कहा, “हिंद-प्रशांत में श्रीलंका एक महत्वपूर्ण साझेदार है और हम साझे हितों के द्विपक्षीय एवं क्षेत्रीय मुद्दों पर सहयोग बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे और उनके मंत्रिमंडल के साथ काम करने को इच्छुक हैं।” श्रीलंकाई राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने अक्टूबर में विक्रमसिंघे को पद से हटा कर उनके स्थान पर पूर्व राजनीतिक दिग्गज महिंदा राजपक्षे को नियुक्त कर दिया था।

यह भी पढ़ें- विपक्ष ने प्रधानमंत्री टेरेसा मे के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया

गौरतलब है कि राजपक्षे पर दशकों पुराने तमिल टाइगर चरमपंथ के हिंसक खात्मे का आरोप है लेकिन वह इसकी जवाबदेही के लिए अंतरराष्ट्रीय आह्ववानों को सिरे से नकार चुके हैं। विक्रमसिंघे की बर्खास्तगी से श्रीलंका के भीतर और बाहर भी हो-हल्ला मच गया था।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video