UNGA में बाइडेन उठा सकते हैं सुरक्षा परिषद में सुधार के मुद्दे

Security Council
Creative Common
राष्ट्रपति के सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने हालांकि सुरक्षा परिषद में रूस की स्थाई सदस्यता से जुड़े प्रश्नों पर कोई जवाब नहीं दिया।

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के वार्षिक सत्र में इस हफ्ते हिस्सा लेने के दौरान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार का मुद्दा उठा सकते हैं। राष्ट्रपति के सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने हालांकि सुरक्षा परिषद में रूस की स्थाई सदस्यता से जुड़े प्रश्नों पर कोई जवाब नहीं दिया। सुलिवन ने कहा, ‘‘ ये ऐसी चीज नहीं है जिसे वह (बाइडन) कल उठाने वाले हैं हालांकि मेरा मानना है कि दुनिया देख सकती है कि जब कोई स्थाई सदस्य इस तरह से कार्रवाई करता है तो उससे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की अंतररात्मा को चोट पहुंचती है। सभी को मिलकर मॉस्को पर रुख बदलने के लिए दबाव बनाना चाहिए।’’ 

इसे भी पढ़ें: अमेरिका की अदालत ने हिज़्बुल्ला को लाखों डॉलर का हर्जाना देने का आदेश दिया

उन्होंने कहा, ‘‘ उम्मीद है कि राष्ट्रपति यूएनएससी में सुधार पर प्रमुखता से चर्चा करेंगे, फिर चाहे वह इसे सार्वजनिक तौर पर करें या संयुक्त राष्ट्र महासचिव के साथ अकेले में इस पर चर्चा करें। हम इस पर काम कर रहे हैं।’’ अमेरिका ने सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता का कई बार समर्थन किया है। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस ग्रीनफील्ड ने बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि अमेरिका संरा सुरक्षा परिषद में विस्तार का पक्षधर है ताकि इसमें दुनिया के और प्रतिनिधि शामिल हो सकें। उन्होंने उम्मीद जताई थी कि चीन और रूस इस बात पर अमेरिका से सहमत होंगे कि यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बदलाव का समय है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़