खतरनाक हमले के बाद अमेरिकी संसद भवन को खोलने में हो सकती है देरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 3, 2021   14:43
  • Like
खतरनाक हमले के बाद अमेरिकी संसद भवन को खोलने में हो सकती है देरी

घातक हमले के बाद अमेरिकी संसद भवन को खोलने में देरी हो सकती है।अधिकारियों ने संदिग्ध की पहचान 25 वर्षीय नोह ग्रीन के रूप में की है। कैपटिल पुलिस ने करीब दो हफ्ते पहले ही संसद भवन के बाहरी इलाके में लगी बाड़ को हटाया था जो बड़े हिस्से को यातायात के लिए बंद करती थी।

वांशिगटन।अमेरिकी कैपटिल (संसद भवन) के बाहरी इलाके में घातक हमले के मद्देनजर संसद भवन के क्षेत्र को आम लोगों के लिए धीरे-धीरे खोलने में देरी हो सकती है। वहीं सांसद छह जनवरी को हुए हमले के बाद अधिक सामान्य सुरक्षा उपायों की वापसी चाहते हैं। संसद भवन के बाहर लगे बैरिकेड में शुक्रवार दोपहर एक कार से टक्कर मारने के बाद एक पुलिस अधिकारी विल्लियम ‘बिल्ली’ एवांस की मौत हो गई है। वहीं, पुलिस द्वारा चलाई गई गोली से कार चालक की भी मौत हो गई है। उसको गोली उस वक्त मारी गई्र जब वह कारसे निकल कर एक चाकू ले कर पुलिस की तरफ दौड़ा था। अधिकारियों ने संदिग्ध की पहचान 25 वर्षीय नोह ग्रीन के रूप में की है। कैपटिल पुलिस ने करीब दो हफ्ते पहले ही संसद भवन के बाहरी इलाके में लगी बाड़ को हटाया था जो बड़े हिस्से को यातायात के लिए बंद करती थी। यह उपाय इस साल छह जनवरी को संसद भवन पर हुए हमले के बाद परिसर को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए किया गया था।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी संसद भवन के बाहर कार ने पुलिस अधिकारियों को कुचला, एक अधिकारी की मौत

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने छह जनवरी को इमारत पर हमला बोल दिया था। इस हिंसा में एक पुलिस अधिकारी समेत पांच लोगों की मौत हुई थी। कुछ सांसदों ने बाड़ें लगाना नापसंद नहीं आया था जबकि कुछ ने इसे अनावश्यक प्रतिक्रिया बताया था। परिसर और सांसदों की सुरक्षा के मद्देनजर संसद भवन के अंदरूनी हिस्से में अब भी बाड़ लगी हुई है। संसदों ने कहा कि अमेरिकी लोकतंत्र का स्थान सभी के लिए खुला रहना चाहिए भले ही इस पर हमेशा खतरा ही क्यों न बना रहे। मगर शुक्रवार की घटना के बाद सांसदों ने कहा कि उन्हें सतर्कता से आगे बढ़ने की जरूरत है। ओहायो के जनप्रतिनिधि और सुरक्षा एवं कैपटिल की निगरानी करने वाली सदन की व्यय समिति के अध्यक्ष टिम रयान ने पुलिस अधिकारी और चालक की मौत पर कहा कि यह दुखद है। उन्होंने कहा कि लेकिन सवाल उठता है कि बाड़ को हटाने के लिए क्या वातावरण पर्याप्त रूप से सुरक्षित था। यह बाड़ शायद इस तरह की घटनाओं को रोक सकती थी। रयान ने कहा कि कोई फैसला नहीं लिया गया है और शुक्रवार की घटना के बाद सांसद हर चीज की समीक्षा करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept