यूरोपीय संघ की योजना, यूक्रेन से दुनिया तक गेहूं लाने में मदद करना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 13, 2022   08:07
यूरोपीय संघ की योजना, यूक्रेन से दुनिया तक गेहूं लाने में मदद करना
Google Creative Commons.

यूरोपीय संघ की कार्यकारी शाखा ने कहा कि योजना का उद्देश्य वैकल्पिक मार्ग स्थापित करना और सीमाओं के बीच भीड़भाड़ को कम करना है जिससे युद्धग्रस्त देश में मानवीय सहायता और अन्य सामान प्राप्त करने में सुविधा हो।

ब्रसेल्स| यूरोपीय आयोग ने यूक्रेन को अपने गेहूं और अन्य अनाज को रेल, सड़क और नदी द्वारा निर्यात करने में मदद करने का प्रस्ताव दिया, ताकि काला सागर बंदरगाहों की रूसी नाकाबंदी को बेअसर किया जा सके। रूस इन महत्वपूर्ण आपूर्ति को खाद्य असुरक्षा के जोखिम के बीच दुनिया के कुछ हिस्सों तक पहुंचने से रोक रहा है।

यूरोपीय संघ की कार्यकारी शाखा ने कहा कि योजना का उद्देश्य वैकल्पिक मार्ग स्थापित करना और सीमाओं के बीच भीड़भाड़ को कम करना है जिससे युद्धग्रस्त देश में मानवीय सहायता और अन्य सामान प्राप्त करने में सुविधा हो।

यूक्रेन पर रूस के आक्रमण ने वैश्विक खाद्य आपूर्ति में व्यवधान डाला है, दोनों देश गेहूं, जौ और सूरजमुखी के तेल के दुनिया के दो सबसे बड़े निर्यातक हैं।

आयोग ने कहा कि यूक्रेनी बंदरगाहों की नाकाबंदी विशेष रूप से हानिकारक रही है जहां से युद्ध से पहले 90 प्रतिशत अनाज और तिलहन निर्यात होता था। परिवहन के लिए यूरोपीय संघ की आयुक्त एडिना वलीन ने कहा, “ईयू के बुनियादी ढांचे का उपयोग करके तीन महीने से भी कम समय में दो करोड़ टन अनाज यूक्रेन से भेजा जाएगा।”

उन्होंने कहा, “यह एक विशाल चुनौती है, इसलिए रसद श्रृंखलाओं का समन्वय और अनुकूलन करना, नए मार्गों को स्थापित करना और जितना संभव हो, बाधाओं से बचना आवश्यक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।