अमेरिका : कोविड-19 टीका नहीं लगवाने की वजह से हजारों सैनिकों पर लटक रही बर्खास्तगी की तलवार

Vaccination
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons.
आर्मी नेशनल गार्ड के लेफ्टिनेंट जनरल जॉन जेनसेन ने एपी को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘हम वह सबकुछ कर रहे हैं जिससे सभी सैनिकों को टीका लगवाने और अपना सैन्य करियर जारी रखने का अवसर मिले। हर छूटा हुआ सैनिक छूट चाहता है, हम उनका उनकी प्रक्रिया के तहत समर्थक करना जारी रखेंगे।’’

वाशिंगटन| अमेरिका में ‘आर्मी नेशनल गार्ड’ के करीब 40 हजार सैनिकों ने कोविड-19 से बचाव के लिए बृहस्पतिवार को तय अंतिम समय सीमा तक अनिवार्य रूप से टीका लगवाने की शर्त को पूरा नहीं किया जबकि 14 हजार सैनिकों ने टीका लगवाने से साफ तौर पर इंकार कर दिया है, जिससे उनपर बर्खास्तगी का खतरा मंडरा रहा है। अमेरिका के अर्मी नेशनल गार्ड में टीका नहीं लगवाने वाले 40 हजार सैनिक कुल सैनिकों के 13 प्रतिशत हैं।

एसोसिएटेड प्रेस (एपी) को मिले आंकड़ों के मुताबिक छह राज्य ऐसे हैं जहां पर 20 से 30 प्रतिशत गार्ड सैनिकों ने टीकाकरण नहीं कराया है जबकि 43 राज्यों में ऐसे सैनिकों की संख्या 10 प्रतिशत से अधिक है।

गार्ड के अधिकारियों ने बताया कि वे समय पर टीका लगवाने के लिए सैनिकों को प्रोत्साहित करने के लिए यथासंभव कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने बताया की करीब सात हजार सैनिकों ने टीकाकरण से छूट देने की मांग की है जिन्हें मनाने का प्रयास कर रहे हैं।

इनमें से लगभग सभी ने धार्मिक कारणों से टीकाकरण से इंकार किया है।आर्मी नेशनल गार्ड के लेफ्टिनेंट जनरल जॉन जेनसेन ने एपी को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘हम वह सबकुछ कर रहे हैं जिससे सभी सैनिकों को टीका लगवाने और अपना सैन्य करियर जारी रखने का अवसर मिले। हर छूटा हुआ सैनिक छूट चाहता है, हम उनका उनकी प्रक्रिया के तहत समर्थक करना जारी रखेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम अपनी कोशिश तबतक नहीं छोड़ रहे जबतक कि अलग होने की कागजी कार्यवही पूरी नहीं हो जाती। अब भी समय है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़