रूस-यूक्रेन की सैन्य ताकत कैसी और कितनी है? आंकड़ों से समझें कौन किस पर पड़ेगा भारी

रूस-यूक्रेन की सैन्य ताकत कैसी और कितनी है? आंकड़ों से समझें कौन किस पर पड़ेगा भारी

रूस की सेना दुनिया में सबसे ताकतवर सेना मानी जाती है। बात अगर न्यूक्लियर वेंपन्स की करें तो रूस के पास लगभग 6 257 परमाणु हथियार हैं। जिन्हें रूस मिसाइलों, पनडुब्बियों और विमानों से लॉन्च कर सकता है।

19वीं सदी में ब्रिटेन में एक मशहूर लेखक हुए हर्बर्ट जॉर्ज विल्स उन्होंने युद्ध को लेकर कहा था कि If we don't end war, war will end us यानी अगर हमने युद्ध का चलन खत्म नहीं किया तो युद्ध हमें खत्म कर देगा।  रूस और यूक्रेन को लेकर तनाव लगातार जारी है। दोनों के बीच युद्ध की शुरुआत हो चुकी है। एक तरफ जहां रूस यूक्रेन पर ताबड़तोड़ मिसाइल से हमला कर रहा है वहीं दूसरी तरफ उसकी थल सेना भी यूक्रेन में दाखिल हो गई है। जिसके बाद अब ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि रूस और आक्रमक तरीके से हमला कर सकता है। ऐसे में अब सवाल उठता है कि रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध होने से आखिर किसका पलड़ा भारी पड़ेगा। 

दोनों देशों की ताकत

सबसे बड़ी बात यूक्रेन के पीछे मजबूती से अमेरिका खड़ा है। साल 2014 से ही रूस और यूक्रेन के बीच तनाव देखा जा रहा है। इसी साल रूस ने आक्रमण कर यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप पर कब्जा कर लिया था। विशेषज्ञों का कहना है कि यूक्रेन की सेना का मनोबल ऊंचा है लेकिन हथियारों की कमी की वजह से उन्हें जीत हासिल नहीं हुई। बस इसी हथियारों की कमी को पूरा करने के लिए नाटो देश दिल खोलकर यूक्रेन की मदद कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: रूस-यूक्रेन हमलों के बीच कच्चे तेल की कीमतों में रिकॉर्ड उछाल, पेट्रोल-डीजल के दामों पर पड़ेगा असर

यूक्रेन में सैनिकों की कुल संख्या- 11,00000

सक्रिय सैनिकों- 200000

रिजर्व सैनिक- 900000

विमान- 98

टैंक- 2596

हेलीकॉप्टर- 34

सशस्त्र वाहन- 12,303

इसे भी पढ़ें: Russia-Ukraine Crisis । यूक्रेन में रूस के हमले से 7 लोगों की मौत, लुहान्स्क क्षेत्र के 2 शहरों पर कब्जा

रूस में सैनिकों की कुल संख्या- 29, 00000

सक्रिय सैनिक- 9,00000

रिजर्व सैनिक- 20, 00000

 टैंक- 12, 240

हेलीकॉप्टर- 544

सशस्त्र वाहन- 30. 122

विमान- 1511

किसके पास कितने परमाणु हथियार

रूस की सेना दुनिया में सबसे ताकतवर सेना मानी जाती है। बात अगर न्यूक्लियर वेंपन्स की करें तो रूस के पास लगभग 6 257 परमाणु हथियार हैं। जिन्हें रूस मिसाइलों, पनडुब्बियों और विमानों से लॉन्च कर सकता है। वहीं यूक्रेन को 1991 में सोवियत संघ से स्वतंत्रत होने पर लगभग 3 हजार परमाणु हथियार विरासत में मिले। जिससे उसका परमाणु हथियारों को जखीरा दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा है। सैन्य ताकत की तुलना में हर जगह रूस का पलड़ा जरूर भारी है। लेकिन युद्ध की स्थिति में नाटो देशों से यूक्रेन को मदद मिलने की पूरी उम्मीद है। 

यूक्रेन- रूस का रक्षा खर्च

दोनों देशों के डिफेंस बजट के बीच भी काफी बड़ा अंतर है। रूस रक्षा बजट 154,000,000,000 डॉलर है और यूक्रेन का 11,870,000,000 डॉलर है। रूस के हमलों के बीच यूक्रेनी संसद ने 2022 के लिए देश के रक्षा बजट को 314 मिलियन डॉलर से बढ़ाकर 1.3 बिलियन डॉलर करने की योजना को मंजूरी दे दी गई है। इस पैसे का इस्तेमाल हथियार खरीद में होगा। इसके साथ ही पहले से मौजूद हथियारों को अपग्रेड किया जाएगा।