इमरान खान ने फिर अलापा कश्मीर राग, कहा- 370 हटने से पहले कभी भारत के खिलाफ नहीं बोला

इमरान खान ने फिर अलापा कश्मीर राग, कहा- 370 हटने से पहले कभी भारत के खिलाफ नहीं बोला

इमरान खान ने कहा कि नवाज शरीफ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छुप-छुप कर मुलाकात करते थे। जाहिर सी बात है कि जब इमरान खान की सरकार संकट में है तो अब वह भारत का नाम लेना शुरू कर चुके हैं। इससे पहले इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि हम जानते हैं कि प्रमुख खिलाड़ी कौन है। भारत और इजरायल के साथ उनके संबंध है।

पाकिस्तान में चल रही सियासी उठापटक के बीच आज इमरान खान ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कश्मीर का राग अलापना नहीं भूले। उन्होंने एक बार फिर से कश्मीर राग अलापा है। उन्होंने कहा कि मैंने भारत से दोस्ती करने की कोशिश की। लेकिन जब कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाया गया। उसके बाद से मैंने इसको लेकर अंतरराष्ट्रीय फोरम में बोलना शुरू किया। इसके साथ ही इमरान खान ने कहा कि नवाज शरीफ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छुप-छुप कर मुलाकात करते थे। जाहिर सी बात है कि जब इमरान खान की सरकार संकट में है तो अब वह भारत का नाम लेना शुरू कर चुके हैं। इससे पहले इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि हम जानते हैं कि प्रमुख खिलाड़ी कौन है। भारत और इजरायल के साथ उनके संबंध है।

इसके साथ ही इमरान खान ने कहा कि अमेरिका का हिमायती बनना मुशर्रफ की बड़ी गलती थी। उन्होंने एक बार फिर से दोहराया कि मैं आजाद विदेश नीति का पक्षधर रहा हूं। हमारी फॉरेन पॉलिसी कभी किसी के खिलाफ नहीं रही है। मैं भारत के या किसी और देश का कभी विरोध नहीं करना चाहता। उन्होंने कहा कि अमेरिका को मुझसे दिक्कत है जबकि दूसरे दलों और नेताओं से नहीं है। अमेरिका पाकिस्तान से रिश्ते खत्म करने की धमकी दे रहा है। बाहरी लोग मिलकर यहां हमारी सरकार गिराने की साजिश रच रहे हैं। इसके साथ ही इमरान खान ने कहा कि मेरा रूस जाने का फैसला अकेले का था। मेरे रूस जाने से अमेरिका नाराज हो गया।