अमेरिका में भारतीय नागरिक पर लगा कम्यूटर सिस्टम में छेड़छाड़ और धोखाधड़ी का आरोप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2019   15:17
अमेरिका में भारतीय नागरिक पर लगा कम्यूटर सिस्टम में छेड़छाड़ और धोखाधड़ी का आरोप

रेले के पूर्व नियोक्ता ने रेले के खिलाफ कंप्यूटर धोखाधड़ी और दुरुपयोग करने की शिकायत दर्ज कराई जिसके अनुसार रेले ने अन्य कर्मचारी के कम्प्यूटर सिस्टम में जानबूझकर रैंसमवेयर डाउनलोड कर सिस्टम को नुकसान पहुंचाया।

न्यूयार्क। अमेरिका में काम करने वाले एक भारतीय नागरिक पर अपने पूर्व नियोक्ता के कंप्यूटर सिस्टम को नुकसान पहुंचाने और धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया है। न्यूयार्क के सदर्न डिस्ट्रिक्ट के अमेरिकी अटॉर्नी ज्योफ्री बर्मन ने बताया कि न्यूजर्सी निवासी 37 वर्षीय मयूर रेले पर कम्प्यूटर धोखाधड़ी और दुरुपयोग के दो आरोप हैं। इन आरोपों में से प्रत्येक के लिए अधिकतम 10 वर्ष की सजा का प्रावधान है।

इसे भी पढ़ें: सीनेट में महाभियोग की सुनवाई चाहते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

रेले को गुरुवार को न्यू जर्सी में गिरफ्तार कर न्यूयॉर्क में सदर्न डिस्ट्रिक्ट की संघीय अदालत में अमेरिकी मजिस्ट्रेट सारा नेटबर्न के समक्ष पेश किया गया था। रेले के पूर्व नियोक्ता ने रेले के खिलाफ कंप्यूटर धोखाधड़ी और दुरुपयोग करने की शिकायत दर्ज कराई जिसके अनुसार रेले ने अन्य कर्मचारी के कम्प्यूटर सिस्टम में जानबूझकर रैंसमवेयर डाउनलोड कर सिस्टम को नुकसान पहुंचाया। मैनहट्टन संघीय अदालत में दायर अभियोग के अनुसार रेले सितंबर 2017 मेंएक अंतरराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग में क्लाउड और इंफ्रास्ट्रक्चर के वरिष्ठ प्रबंधक के पद पर कार्यरत थे। इस कंपनी का मुख्यालय न्यूयॉर्क में था।

इसे भी पढ़ें: आतंकवाद की आर्थिक मदद रोकने के लिए FATF की सिफारिशें लागू करे पाक: अमेरिका

अपनी हरकत को छिपाने के प्रयास में रेले ने सिस्टम लॉग हटाने की कोशिश की। उन्होंने कंपनी के नेटवर्क से एक महत्वपूर्ण फाइल भी डिलीट कर दी। रेले की इस हरकत के कारण कंपनी को टिकटों की बिक्री में भी काफी नुकसान हुआ।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...