संयुक्त राष्ट्र की संस्था IAEA का दावा, ईरान बना रहा भूमिगत परमाणु संयंत्र

Iran building at underground nuclear facility
आईएईए के महानिदेशक राफेल ग्रोसी ने मंगलवार को बर्लिन में एपी को दिए एक साक्षात्कार में बताया कि ईरान ‘लो-एनरिच’ वाले यूरेनियम का भंडारण भी कर रहा है लेकिन वह नाभिकीय हथियार के निर्माण के लिए पर्याप्त नहीं लगता।

बर्लिन। संयुक्त राष्ट्र की संस्था अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के निरीक्षकों ने इस बात की पुष्टि की है कि ईरान ने एक भूमिगत परमाणु ऊर्जा संयंत्र का निर्माण करना शुरू कर दिया है। एजेंसी के प्रमुख ने एसोसिएटेड प्रेस को यह जानकारी दी। ईरान द्वारा इससे पहले बनाए गए संयंत्र में विस्फोट हो गया था जिसे उसने संयंत्र को बर्बाद करने के लिए किया गया हमला करार दिया था। आईएईए के महानिदेशक राफेल ग्रोसी ने मंगलवार को बर्लिन में एपी को दिए एक साक्षात्कार में बताया कि ईरान ‘लो-एनरिच’ वाले यूरेनियम का भंडारण भी कर रहा है लेकिन वह नाभिकीय हथियार के निर्माण के लिए पर्याप्त नहीं लगता।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में महिला हिंदू नागरिकों ने डोनाल्ड ट्रंप को समर्थन देने की अपील की

ईरान में नतांज़ नाभिकीय संयंत्र में जुलाई में विस्फोट हुआ था जिसके बाद तेहरान ने कहा था कि वह उस क्षेत्र के आसपास पहाड़ों में और अधिक सुरक्षित और नए संयंत्र का निर्माण करेगा। ग्रोसी ने कहा, उन्होंने शुरू किया है लेकिन अभी काम पूरा नहीं हुआ है। यह लंबे समय तक चलने वाला काम है।” उन्होंने विस्तारपूर्वक न बताते हुए कहा कि यह गोपनीय जानकारी है। संयुक्त राष्ट्र में ईरान के प्रतिनिधि की ओर से इस पर कोई त्वरित प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़