नेपाल में ISI एजेंट लाल मोहम्मद की हत्या, भारत भेजता था नकली नोट, डी गैंग से भी था संबंध

crime
Prabhasakshi
अंकित सिंह । Sep 22, 2022 3:25PM
बताया जा रहा है कि कार से उतरते समय ही इसपर हमलावरों ने हमला कर दिया और गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं, लाल मोहम्मद के डी गैंग से भी संबंध थे। पाकिस्तान नेपाल के जरिए भारत के खिलाफ लगातार साजिश रच रहा था जिसमें लाल मोहम्मद के भी अहम भूमिका थी।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का एक पहुंचा हुआ एजेंट नेपाल में ढेर कर दिया गया है। एजेंट की पहचान 55 वर्षीय लाल मोहम्मद उर्फ मोहम्मद दर्जी के रूप में हुई है। दावा किया जा रहा है कि यह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करता था और उसी के इशारे पर भारत में नकली नोटों का खेप भिजवाा था। इसकी हत्या उसी के घर के बाहर हुई है। लेकिन यह हत्या क्यों की गई है, इसका सही कारण अब तक पता नहीं चल सका है। बताया जा रहा है कि कार से उतरते समय ही इसपर हमलावरों ने हमला कर दिया और गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं, लाल मोहम्मद के डी गैंग से भी संबंध थे। पाकिस्तान नेपाल के जरिए भारत के खिलाफ लगातार साजिश रच रहा था जिसमें लाल मोहम्मद के भी अहम भूमिका थी। 

इसे भी पढ़ें: होमवर्क नहीं करने पर 12 साल के बच्चे को मिली खौफनाक सजा, पिता ने तेल डालकर जिंदा जलाया

जानकारी के मुताबिक आईएसआई के ही कहने पर लाल मोहम्मद पाकिस्तान और बांग्लादेश से नेपाल के जरिए भारत में नकली करेंसी भेजता था। लाल मोहम्मद आईएसआई को लॉजिस्टिक सपोर्ट में भी काफी मदद करता था। इसके अलावा दाऊद इब्राहिम के साथ भी उसके संपर्क थे और उसके लिए भी काम करता था। उसने नेपाल में अपने साथ कई आईएसआई एजेंटों को भी चरण दी थी। वह जाली नोटों के कारोबार के साथ-साथ ड्रग्स सप्लाई में भी माहिर था। वह काठमांडू के कोठाटार इलाके में रहता था। 

अन्य न्यूज़