आधिकारिक आवास में मरम्मत के कार्य के कारण ब्लेयर हाउस में ठहरी हैं कमला हैरिस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2021   11:44
आधिकारिक आवास में मरम्मत के कार्य के कारण ब्लेयर हाउस में ठहरी हैं कमला हैरिस

अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस अभी अस्थायी रूप से ऐतिहासिक ब्लेयर हाउस में ठहरी हैं क्योंकि उनके आधिकारिक आवास में मरम्मत का काम चल रहा है। उपराष्ट्रपति के एक प्रवक्ता ने इस बारे में बताया।

वाशिंगटन। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस अभी अस्थायी रूप से ऐतिहासिक ब्लेयर हाउस में ठहरी हैं क्योंकि उनके आधिकारिक आवास में मरम्मत का काम चल रहा है। उपराष्ट्रपति के एक प्रवक्ता ने इस बारे में बताया। पेनसिल्वेनिया एवेन्यू पर स्थित समूचे व्हाइट हाउस में ब्लेयर हाउस अमेरिका के राष्ट्रपति का आधिकारिक अतिथि गृह है। उपराष्ट्रपति का आधिकारिक आवास नेवल ऑब्जर्वेट्री परिसर में है जो व्हाइट हाउस के करीब चार मील उत्तर पश्चिम में स्थित है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने फ्रांस के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने के लिए मैक्रों से की बातचीत

उपराष्ट्रपति की मुख्य प्रवक्ता साइमन सैंडर्स ने शनिवार को पत्रकारों को बताया कि हैरिस बृहस्पतिवार को अपने नए आधिकारिक आवास में जाएंगी। सैंडर्स ने कहा, ‘‘नेवल ऑब्जर्वेट्री में स्थित उपराष्ट्रपति के आवास में मरम्मत का काम चल रहा है इसलिए अभी वह ब्लेयर हाउस में ठहरी हैं।’’

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने जापान, दक्षिण कोरिया और ब्रिटेन के अपने समकक्षों से की बातचीत

ब्लेयर हाउस का निर्माण 1824 में एक निजी आवास के तौर पर हुआ था और 1942 से यह अमेरिका के राष्ट्रपति का अतिथि गृह है, जहां विदेश से आने वाले गणमान्य लोगों को आमतौर पर ठहराया जाता है। हाल के वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई अन्य भारतीय नेता इस ऐतिहासिक भवन में ठहरे थे। पूर्व चीफ ऑफ प्रोटोकॉल और ब्लेयर हाउस पुननिर्माण कोष बोर्ड की मौजूदा सदस्य कैप्रीसिया मार्शल ने कहा, ‘‘यह बेहद खूबसूरत और बेहतरीन जगह है। इस जगह से इतिहास के कई किस्से जुड़े हैं। कई राष्ट्रपति इस भवन यहां रह चुके हैं। यहां घर जैसा अनुभव होता है।’’ अपने शपथ ग्रहण से पहले राष्ट्रपति जो बाइडन प्रथम महिला के साथ यहीं ठहरे थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...