मिलिए भारतवंशी विनय रेड्डी से, जिनका लिखा भाषण अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने पढा

मिलिए भारतवंशी विनय रेड्डी से, जिनका लिखा भाषण अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने पढा

विनय रेड्डी ओहियो के डायटेन में पले बढ़े है। उन्होंने मियामी विश्वविद्यालय से बैचलर्स डिग्री की उपाधि प्राप्त की और ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी मोरिट्ज़ कॉलेज ऑफ़ लॉ से ज्यूरिस डॉक्टर की। उनके पिता नारायण रेड्डी, जो कि करीमनगर के तेलंगाना के पोथिरेड्डीपेटा गाँव के निवासी हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन  ने कांग्रेस के संयुक्त सत्र में गुरूवार को अपना पहला औपचारिक संबोधन दिया। सभी की निगाहें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के भाषण पर बनी हुई थी क्योंकि वह कांग्रेस के संयुक्त सत्र में अपना पहला भाषण दे रहे थे। क्या आपको यह पता है कि जो बाइडेन का भाषण लिखने वाले एक भारतीय मूल के लेखक है। जी हां, अमेरिकी राष्ट्रपति का भाषण तैयार करने वाले भारतीय मूल निवासी विनय रेड्डी है। विनय रेड्डी ने जो बाइडेन के इस ऐतिहासिक भाषण को तैयार किया है। टीओआई में छपी एक खबर के मुताबिक, रेड्डी एक भारतीय-अमेरिकी है जोकि व्हाइट हाउस में डायरेक्टर ऑफ़ स्पीचराइटिंग के पद में नियुक्त है। वह लंबे समय से जो बाइडेन के साथ जुड़े हुए है, बता दें कि ओबामा के कार्यकाल के समय जब जो बाइडेन उपराष्ट्रपति का पद संभाल रहे थे तो अपने  दूसरे कार्यकाल के दौरान भाषण लेखक के रूप में विनय रेड्डी को ही शामिल किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: सबसे लंबी लड़ाई होगी खत्म, अफगानिस्तान से सैनिकों को घर बुलाने का आया समय: जो बाइडेन

आप शायद विनय को नहीं जानते होंगे क्योंकि वह ट्विटर पर नहीं है और सुर्खियों में  भी नहीं आए है। लेकिन आपको बता दें कि जो बाइडेन के लगभग हर प्रमुख भाषण में उनका हाथ है। विनय न केवल शानदार लेखक हैं, बल्कि अविश्वसनीय रूप से दयालु और सभ्य शख्स भी हैं। व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रपति पिछले कुछ हफ्तों से वरिष्ठ सलाहकार माइक डोनिलन और विनय रेड्डी के साथ "लाइन एडिटिंग" बैठकों में भाषण पर काम कर रहे हैं। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने कहा, "राष्ट्रपति भाषण का उपयोग अपनी कई अन्य प्राथमिकताओं के बारे में बात करने के अवसर के रूप में भी करेंगे, जिनमें पुलिस सुधार, आव्रजन, बंदूक सुरक्षा, महामारी को नियंत्रण में रखना और अमेरिकियों को काम पर वापस लाना शामिल है।" 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस में राष्ट्रपति बाइडेन के पहले संबोधन में हैरिस और पेलोसी ने रचा इतिहास

विनय रेड्डी ओहियो के डायटेन में पले बढ़े है। उन्होंने मियामी विश्वविद्यालय से बैचलर्स डिग्री की उपाधि प्राप्त की और ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी मोरिट्ज़ कॉलेज ऑफ़ लॉ से ज्यूरिस डॉक्टर की। उनके पिता नारायण रेड्डी, जो कि करीमनगर के तेलंगाना के पोथिरेड्डीपेटा गाँव के निवासी हैं, साल 1970 में हैदराबाद से एमबीबीएस पूरा करने के बाद अमेरिका चले गए थे। परिवार गाँव से नाता रखता है, जहाँ विनय के दादा तिरुपति रेड्डी सरपंच थे। कुछ रिपोर्टों के अनुसार, रेड्डी भारतीय मूल के पहले अमेरिकी राष्ट्रपति भाषण लेखक नहीं हैं। यह सम्मान सरदा पेरी का है, जिन्होंने ओबामा की भाषण लेखन टीम में सेवा की।