कौशल की कमी नोट्रे डेम के पुनर्निर्माण को रोक सकती है: ब्रिटिश वास्तुकार

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 17 2019 10:56AM
कौशल की कमी नोट्रे डेम के पुनर्निर्माण को रोक सकती है: ब्रिटिश वास्तुकार
Image Source: Google

यहां भी उनकी कंपनी काम कर रही है, गौरतलब है कि 1992 में विंडसर कैसल में भीषण आग लगने के बाद ब्रिटिश राजपरिवार ने उस शाही इमारत को फिर से खड़ा करने में मदद के लिए मोद की फर्म को लगाया था।

लंदन। विनाशकारी आग से तबाह विंडसर कैसल के पुनर्निर्माण में मदद करने वाले वास्तुकारों में से एक का विचार है कि कारीगरों की कमी नोट्रे-डेम के पुनर्निर्माण के काम को रोक सकती है। डोनाल्ड इनसाल एसोसिएट्स आर्किटेक्ट फर्म के निदेशक फ्रांसिस मोद ने एएफपी को बताया, ‘‘इतने पत्थर, इतनी लकड़ी, इतनी बड़ी खिड़कियों के लिए अधिक मात्रा में कांच के साथ काम करने वाले कुशल व दक्ष शिल्पकारों की उपलब्धता ऐसी चीज है, जिसे वर्तमान समय में पूरा करना यूरोप भर के उद्योगों के लिए चुनौती जैसा होगा।’’

इसे भी पढ़ें: पेरिस का ऐतिहासिक गिरजाघर नोट्रे-डेम आग लगने से तबाह

हाउसेज ऑफ पार्लियामेंट का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा, ‘‘अन्य कई बड़ी-बड़ी परियोजनाएं हैं जो इन्हीं कमियों से जूझ रही हैं।’’ यहां भी उनकी कंपनी काम कर रही है, गौरतलब है कि 1992 में विंडसर कैसल में भीषण आग लगने के बाद ब्रिटिश राजपरिवार ने उस शाही इमारत को फिर से खड़ा करने में मदद के लिए मोद की फर्म को लगाया था।

गौरतलब है कि पेरिस के ऐतिहासिक गिरजाघर नोट्रे-डेम कैथेड्रल में सोमवार को आग लग गई, हालांकि मुख्य ढांचे को बचा लिया गया है लेकिन आगजनी से ऐतिहासिक इमारत बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई और सदियों की विरासत खाक हो गई। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप