मुल्ला बरादर नहीं होगा तालिबानी सरकार का प्रमुख, इस शख्स को मिल सकता है पद

मुल्ला बरादर नहीं होगा तालिबानी सरकार का प्रमुख, इस शख्स को मिल सकता है पद

अफगान मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हिबतुल्ला अखुंजादा ने मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद के नाम का प्रस्ताव रखा है। इन्हें रईस-ए-जम्हूर या फिर रईस-उल-वजारा का पद मिल सकता है।

काबुल। अफगानिस्तान में जल्द ही तालिबान की सरकार का गठन होने वाला है। इसी बीच एक बड़े उलटफेर की खबर सामने आ रही है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर का पत्ता कट गया है और अब नई सरकार का प्रमुख मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: तालिबान के ठिकानों पर अज्ञात विमानों ने की बमबारी । करनाल में धारा 144 लागू 

इन लोगों को मिल सकता है अहम पद 

अफगान मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हिबतुल्ला अखुंजादा ने मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद के नाम का प्रस्ताव रखा है। इन्हें रईस-ए-जम्हूर या फिर रईस-उल-वजारा का पद मिल सकता है।

इसके अलावा नई सरकार में हक्कानी नेटवर्क का सिराजुद्दीन हक्कानी और तालिबान के संस्थापक मुल्ला उमर का बेटा मुल्ला याकूब भी शामिल हो सकता है। सूत्रों ने बताया कि सिराजुद्दीन हक्कानी को गृह मंत्री और मुल्ला याकूब को रक्षा मंत्री बनाया जा सकता है।

बुधवार को होगा नई सरकार का गठन !

आपको बता दें कि पिछले हफ्ते नई सरकार का गठन होने वाला था लेकिन फिर वह टल गया और अब कहा जा रहा है कि बुधवार को सरकार का गठन हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के फिदायिनों के दम पर तालिबान ने जीती जंग, PAF का भी मिला था सहारा 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक तालिबान ने नई सरकार के गठन समारोह के निमंत्रण पाकिस्तान समेत 6 देशों को भेजा है। जिसमें पाकिस्तान, चीन, रूस, कतर, ईरान और तुर्की शामिल हैं।