मस्क की ‘ट्विटर फाइल्स’अमेरिकी राजनीति में मच सकता है बवाल, क्यों सेंसर हुई बाइडेन के बेटे के कारनामों की कहानी? विजया गाड्डे ने रचा था सारा ‘खेल’

Hunter Biden
Creative Common
अभिनय आकाश । Dec 03, 2022 1:45PM
ट्विटर पर पारदर्शिता लाने की पहल कर रहे मस्क ने इसके छिपे रहस्यों को ट्विटर पर उजागर किया। उन्होंने ट्विट करते हुए कहा कि ये शानदार होगा, इसके कुछ देर बाद हंटर लैपटॉप स्टोरी का पूरा किस्सा उजागर कर दिया।

ट्विटर के नए बॉस एलन मस्क ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन के कारनामों की जानकारी देने की घोषणा करके दुनियाभरमें सनसनी मचा दी है। उन्होंने बताया कि माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर साल 2020 में टीम बाइडेन के दबाव में इस रिपोर्ट को दबाया गया था। 2 दिसंबर की शाम को ट्विटर के नए मालिक ने आंतरिक 'ट्विटर फाइल्स' जारी करते हुए बताया कि कंपनी ने 2020 के चुनाव के दौरान 'टीम बाइडेन' के एक अनुरोध का जवाब दिया। मस्क ने स्वतंत्र पत्रकार और लेखक मैट टैबी के अकाउंट का लिंक ट्वीट किया, जिन्होंने हंटर बिडेन की लैपटॉप स्टोरी के सेंसरशिप के पीछे के फैसले के बारे में कहानी का खुलासा करते हुए ट्वीट्स की एक सीरिज पोस्ट की।

इसे भी पढ़ें: दक्षिण कोरिया ने सैन्य तैयारियों को लेकर उत्तर कोरिया पर नये प्रतिबंध लगाए

ट्विटर पर पारदर्शिता लाने की पहल कर रहे मस्क ने इसके छिपे रहस्यों को ट्विटर पर उजागर किया। उन्होंने ट्विट करते हुए कहा कि ये शानदार होगा, इसके कुछ देर बाद हंटर लैपटॉप स्टोरी का पूरा किस्सा उजागर कर दिया। उन्होंने कहा कि ट्विटर फ़ाइलें" दुनिया के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली सोशल मीडिया प्लेटफार्मों में से एक के अंदर से एक अविश्वसनीय कहानी बताती हैं। यह एक मानव निर्मित तंत्र की एक फ्रेंकस्टीनियन कहानी है जो इसके डिजाइनर के नियंत्रण से विकसित हुई है।

इसे भी पढ़ें: UN में बोलीं रुचिरा कंबोज, लोकतंत्र के मामले में हमें किसी से सीखने की जरूरत नहीं

मस्क ने कहा कि साल 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान कंपनी ने रिपोर्ट को हटाने के टीम बाइडेन के आग्रह को मान लिया था। द न्यूयॉर्क पोस्ट ने ये मीडिया रिपोर्ट हंटर बाइडेन के लैपटॉप से रिकवर किए गए ईमेल पर तैयार किया था। इस स्टोरी को लेकर रूसी हैकिंग की बात कही है और कहा गया कि एफबीआई ने इसे हटाने के लिए दबाव डाला था।  स्वतंत्र पत्रकार और लेखक मैट टैबी इसे ‘द ट्विटर फाइल्स, पार्ट वन’ नाम दिया है। कंपनी ने लिंक हटा दिए और चेतावनी पोस्ट की कि यह ‘असुरक्षित’ हो सकता है। टैबी ने आगे कहा, “ट्विटर ने डाइरेक्ट मैसेज के माध्यम से इसके प्रसारण को भी ब्लॉक कर दिया, जैसे कि चाइल्ड पोर्नोग्राफी को किया जाता है।” मैटबी ने दावा किया कि इस सामग्री को सेंसर करने का फैसला ट्विटर के उच्चाधिकारियों ने किया था। इसमें कंपनी की पूर्व कानूनी मामलों की प्रमुख विजया गाड्डे ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

अन्य न्यूज़