ओमीक्रोन का उप स्वरूप बीए.2मूल स्वरूप पर हो रहा हावी : ब्रिटेन का अध्ययन

Omicron
तीसरे टीके के बाद यह प्रभावशीलता दो सप्ताह में बढ़कर बीए.1 के लिए 63 प्रतिशत और बीए.2 के लिए 70 प्रतिशत हो गयी। यूकेएचएसए की मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ सुसान हॉपकिंस ने कहा, अब हम जानते हैं कि बीए.2 की वृद्धि दर बढ़ी है

(अदिति खन्ना) लंदन, कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप का उप स्वरूप बीए.2 मूल स्वरूप बीए.1 की तुलना में तेजी से फैल रहा है लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि टीका इसके खिलाफ बचाव में कारगर है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उप स्वरूप बीए.2 को ब्रिटेन में फिलहाल जांच के अंतर्गत स्वरूप की श्रेणी में रखा गया है। यूके हेल्थ सिक्युरिटी एजेंसी (यूकेएचएसए) ने कहा है कि बीए.2 की वृद्धि दर इंग्लैंड के उन सभी क्षेत्रों में बीए.1 की तुलना में बढ़ी है जहां इसका आकलन करने के लिए पर्याप्त मामले हैं। वहीं, 24 जनवरी तक जीनोम अनुक्रमण में इंग्लैंड में बीए.2 के 1,072 मामलों की पहचान की गई है। इस संबंध में सभी आकलन प्रारंभिक हैं, वहीं मामलों की संख्या अपेक्षाकृत कम है। यूकेएचएसए ने कहा, नए स्वरूप के शुरुआती विश्लेषण में वृद्धि दर को कम करके आंका जा सकता है लेकिन वर्तमान में यह अपेक्षाकृत कम है।

विशेषज्ञों ने कहा कि संपर्क में आए लोगों के आंकड़ों के विश्लेषण से संकेत मिलता है कि 27 दिसंबर 2021 से 11 जनवरी 2022 के बीच ओमीक्रोन की संक्रमण दर 10.3 प्रतिशत की तुलना में बीए.2 की संक्रमण दर 13.4 प्रतिशत रहने की संभावना है। संबद्ध प्रारंभिक मूल्यांकन में बीए.1 की तुलना में बीए.2 के लिए बीमारी के खिलाफ टीके की प्रभावशीलता में अंतर का संकेत नहीं मिला। दो खुराक लेने की स्थिति में 25 से ज्यादा सप्ताह के बाद, बीए.1 और बीए.2 के लिए टीके की प्रभावशीलता क्रमशः नौ प्रतिशत और 13 प्रतिशत थी।

तीसरे टीके के बाद यह प्रभावशीलता दो सप्ताह में बढ़कर बीए.1 के लिए 63 प्रतिशत और बीए.2 के लिए 70 प्रतिशत हो गयी। यूकेएचएसए की मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ सुसान हॉपकिंस ने कहा, अब हम जानते हैं कि बीए.2 की वृद्धि दर बढ़ी है जिसे इंग्लैंड के सभी क्षेत्रों में देखा जा सकता है। हमने यह भी जाना है कि बीए.1 की तुलना में बीए.2 की संक्रमण दर कुछ अधिक है। उन्होंने कहा, अस्पताल में भर्ती और मौत के कम मामले हैं। हालांकि कुछ क्षेत्रों और कुछ आयु समूहों में मामले अभी भी अधिक हैं, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम सावधानी से काम करना जारी रखें क्योंकि प्रतिबंध हटा दिए गए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़