पाक PM शहबाज शरीफ का हुआ लीक, भारत का है जिक्र

Shahbaz
एक क्लिप में प्रधानमंत्री शहबाज और एक अज्ञात अधिकारी मरयम की इस इच्छा के बारे में बात करते सुनाई देते हैं कि उनके एक रिश्तेदार को भारत से कुछ मशीन आयात करने की अनुमति दी जाए।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान सरकार के नेताओं की कथित बातचीत की और ऑडियो क्लिप रविवार को सामने आईं, जिससे महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा और वहां हुई बैठकों को लेकर सवाल उठ रहे हैं। स्पष्ट रूप से एक क्लिप में कड़ी सुरक्षा वाले पीएम हाउस में सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के कई वरिष्ठ नेताओं के बीच हुई बातचीत सुनाई देती है। इसमें गृह मंत्री राणा सनाउल्ला, रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ, कानून मंत्री आजम तरार और आर्थिक मामलों के मंत्री अयाज सादिक को वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल की किस्मत और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सांसदों के नेशनल असेंबली से इस्तीफे के बारे में बात करते हुए सुना जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने पेरिस क्लब से कर्ज भुगतान की अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया

वहीं, एक अन्य ऑडियो क्लिप में कथित तौर पर पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरयम नवाज और प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के बीच वित्त मंत्री इस्माइल के बारे में बातचीत होती सुनाई देती है। तीन बार प्रधानमंत्री रहे नवाज शरीफ की बेटी मरयम का सरकार में काफी प्रभाव है और वह इस्माइल की आलोचक हैं। मरयम को इसमें यह कहते सुना जा सकता है, वह (इस्माइल) जिम्मेदारी नहीं लेता है... टीवी पर अजीब चीजें कहता है, जिसके लिए लोग उसका मजाक उड़ाते हैं...।’’ बीच में, प्रधानमंत्री शहबाज की आवाज सुनाई देती है। मरयम यह कहती सुनाई देती हैं, अंकल, उसे नहीं पता कि वह क्या कर रहा है।’’ 

इसे भी पढ़ें: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में चीन-पाकिस्तान की लगाई क्लास, बोले- भारत बड़ी जिम्मेदारी को तैयार

इसके साथ ही वह पीएमएल-एन के दिग्गज इशाक डार की वापसी की कामना करती हैं, जिन्हें वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभालने के लिए अगले सप्ताह वापस आने के लिए कहा गया है। दोनों क्लिप से पहले आई एक क्लिप में प्रधानमंत्री शहबाज और एक अज्ञात अधिकारी मरयम की इस इच्छा के बारे में बात करते सुनाई देते हैं कि उनके एक रिश्तेदार को भारत से कुछ मशीन आयात करने की अनुमति दी जाए। सरकार ने लीक क्लिप के बारे में कुछ नहीं कहा है, लेकिन विपक्षी पीटीआई पहले ही इस मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर आक्रामक है और उसने सरकार की निंदा की है। पीटीआई के नेता और पूर्व सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ दल पारिवारिक मामलों की सुरक्षा में अधिक रुचि रखता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़