पाकिस्तान ने कश्मीर में अपने नागरिक की मौत पर भारत के समक्ष विरोध जताया

Pakistan protests
Google Free License
कश्मीर में एक पाकिस्तानी कैदी की मौत पर कड़ा विरोध दर्ज कराने के लिए पाकिस्तान ने यहां भारतीय दूतावास के प्रभारी (चार्ज डी अफेयर्स) को तलब किया। पाकिस्तान ने अपने नागरिक की मौत को ‘फर्जी मुठभेड़’ करार दिया है।

इस्लामाबाद। कश्मीर में एक पाकिस्तानी कैदी की मौत पर कड़ा विरोध दर्ज कराने के लिए पाकिस्तान ने यहां भारतीय दूतावास के प्रभारी (चार्ज डी अफेयर्स) को तलब किया। पाकिस्तान ने अपने नागरिक की मौत को ‘फर्जी मुठभेड़’ करार दिया है। पाकिस्तानी विदेश विभाग द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, भारतीय दूतावास के प्रभारी को शुक्रवार को विदेश मामलों के मंत्रालय में बुलाया गया था।

इसे भी पढ़ें: 'क्या है कांग्रेस की अंदरूनी स्थिति', गुलाम नबी के इस्तीफे पर बोले सिंधिया, वरिष्ठ नेता भी हो गए आजाद

बयान के अनुसार, भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा ‘‘फर्जी मुठभेड़’’ में पाकिस्तानी कैदी मोहम्मद अली हुसैन की हत्या के खिलाफ कड़ा विरोध दर्ज कराया गया। हुसैन 2006 से ही कश्मीर के कोट भलावल जेल में कैद था। विदेश विभाग के अनुसार, ‘‘वास्तविकता यह है कि हुसैन की मौत और कुछ नहीं, बल्कि सोच-समझकर की गई हत्या है।’’ विदेश विभाग द्वारा जारी बयान के अनुसार, भारत की हिरासत में कैद पाकिस्तान के अन्य कैदियों की रक्षा, सुरक्षा और कल्याण को लेकर चिंता बढ़ गयी है।

इसे भी पढ़ें: झारखंड में सियासी संकट गहराया! शुरू हुई 'रिसॉर्ट पॉलिटिक्स', CM आवास से वॉल्वो बस में रवाना हुए विधायक

पाकिस्तान ने मांग की है कि भारत सरकार उक्त घटना की पूरी जानकारी, मौत का कारण स्पष्ट करने वाला सही पोस्टमार्टम रिपोर्ट जल्द उसे उपलब्ध कराए और पाकिस्तानी कैदी की हत्या के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की जवाबदेही तय करने के लिए पारदर्शी तरीके से मामले की जांच कराए। विदेश विभाग ने कहा, ‘‘भारत सरकार से अनुरोध किया गया है कि वह मृतक के पार्थिव शरीर को उसके परिजनों के इच्छानुसार तत्काल पाकिस्तान भेजने का प्रबंध करे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़