पाकिस्तान में कोविड-19 के 3,097 नये मामले, एक महीने में सर्वाधिक संख्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 14, 2021   18:17
  • Like
पाकिस्तान में कोविड-19 के 3,097 नये मामले, एक महीने में सर्वाधिक संख्या

पाकिस्तान में कोविड-19 के3,097 नये मामले सामने आए है। देश में कोविड-19 से और 46 लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतक संख्या बढ़ कर 10,818 पहुंच गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवाएं मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में सिंध प्रांत में 1,769 नये मामले सामने आए।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 3,097 नये मामले सामने आए, जो करीब एक महीने में सर्वाधिक संख्या है। इसके साथ ही, देश में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़ कर511,921 हो गई।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका की राजदूत कैली क्राफ्ट का ताइवान दौरा रद्द, चीन ने दी थी चेतावनी

देश में कोविड-19 से और 46 लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतक संख्या बढ़ कर 10,818 पहुंच गई। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवाएं मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में सिंध प्रांत में 1,769 नये मामले सामने आए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




एक्शन में आए जो बाइडेन, ट्रंप की अहम नीतियों के विपरीत 15 कार्यकारी आदेशों पर किए हस्ताक्षर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   11:42
  • Like
एक्शन में आए जो बाइडेन, ट्रंप की अहम नीतियों के विपरीत 15 कार्यकारी आदेशों पर किए हस्ताक्षर

जो बाइडेन ने 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए है।व्हाउट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बुधवार को अपनी पहली प्रेस वार्ता में कहा कि बाइडन ने 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने संवाददाताओं को इन आदेशों से पड़ने वाले प्रभावों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने पदभार संभालते ही 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए ,जिनमें से कुछ पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अहम विदेश नीतियों और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित कुछ फैसलों को पलटने वाले हैं। इन कार्कारी आदेशों में पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते में पुन: शामिल होने, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से अमेरिका को बाहर होने से रोकने, मुस्लिम देशों से लोगों की यात्रा पर प्रतिबंध को हटाने और मैक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण को तत्काल रोकना आदि शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: कमला हैरिस ने कैपिटल की सीढ़ियों पर खड़े होकर पेंस को दी विदाई

बाइडन ने बुधवार को कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर के बाद व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में संवाददाताओं से कहा,‘‘ मैं आज के कार्यकारी कदमों से गौरवान्वित हूं, और मैंने अमेरिका की जनता से जो वादा किया किया था, उन्हें मैं पूरा करने जा रहा हूं, अभी लंबी यात्रा करनी है।ये बस कार्यकारी आदेश हैं। वे जरूरी हैं, लेकिन जो हम करने वाले हैं उनके लिए हमें विधेयकों की जरूरत पड़ेगी। ’’ राष्ट्रपति ने कहा कि आने वाले दिनों में वह और कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर करने वाले हैं। बाइडन का पहला कार्यकारी आदेश 100 दिन मास्क लगाने वाला था, जिसमें देश की जनता से 100दिन तक मास्क लगाने की अपील की गई है। व्हाउट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बुधवार को अपनी पहली प्रेस वार्ता में कहा कि बाइडन ने 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए हैं। उन्होंने संवाददाताओं को इन आदेशों से पड़ने वाले प्रभावों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




वैश्विक चुनौतियों के समाधान में भारत-अमेरिका की साझेदारी होगी अहम साबित: USISPF

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   11:06
  • Like
वैश्विक चुनौतियों के समाधान में भारत-अमेरिका की साझेदारी होगी अहम साबित: USISPF

यूएस-इंडिया स्ट्रेटजिक एंड पार्टनरशिप फोरम ने कहा वैश्विक चुनौतियों के समाधान में भारत एवं अमेरिका की मजबूत भागीदारी अहम साबित होगी।समूह ने बाइडन से द्विपक्षीय वार्ता को भी आगे ले जाने का आग्रह किया है।

वाशिंगटन।वैश्विक समुदाय को प्रभावित करने वाली विभिन्न चुनौतियों के समाधान के लिए भारत और अमेरिका के बीच मजबूत और स्थायी भागीदारी महत्वपूर्ण साबित होगी। भारत केंद्रित एक अमेरिकी कारोबार हितैषी समूह ने यह बात कही है। ‘यूएस-इंडिया स्ट्रेटजिक एंड पार्टनरशिप फोरम’ (यूएसआईएसपीएफ) ने दोनों देशों के रिश्तों को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए जो बाइडन के नेतृत्व वाली सरकार से कई सिफारिशें की है। समूह ने बाइडन से द्विपक्षीय वार्ता को भी आगे ले जाने का आग्रह किया है।

इसे भी पढ़ें: कमला हैरिस ने कैपिटल की सीढ़ियों पर खड़े होकर पेंस को दी विदाई

समूह ने भारत, अमेरिका के बीच रणनीतिक ‘टू प्लस टू’ वार्ता को उपयोगी बताया है, जिसका विस्तार करते हुए इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा हितों के वाणिज्यिक मुद्दों को भी शामिल किया जा सकता है। एशिया की तरफ ध्यान केंद्रित करने की सिफारिश करते हुए यूएसआईएसपीएफ ने ‘क्वाड’ (चार देशों के अनौपचारिक वार्ता समूह) और अन्य समूहों की वार्ता को भी आगे बढ़ाने की अपील की है। यूएसआईएसपीएफ ने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका के वाणिज्यिक और रणनीतिक हितों के लिए भारत विशेष अहमियत रखता है। इसका एक कारण यह भी है कि कई देश चीन पर अपनी निर्भरता कम करने के प्रयास में जुटे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




जो बाइडेन के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद UN के महासचिव ने दिया बड़ा बयान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   10:44
  • Like
जो बाइडेन के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद UN के महासचिव ने दिया बड़ा बयान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि जो बाइडेन प्रशासन के साथ ‘‘बेहद सक्रिय और सकारात्मक’’ तरीके से काम करेंगे।दुजारिक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘ शांति और सुरक्षा के मामलों पर अंतरराष्ट्रीय लक्ष्य पूरे करने में अमेरिका की एक अहम भूमिका है।

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के प्रवक्ता ने अंतरराष्ट्रीय लक्ष्यों को पूरा करने में अमेरिका की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करते हुए बुधवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन ‘‘बेहद सक्रिय और सकारात्मक’’ तरीके से मिलकर काम करेंगे। प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि गुतारेस सही समय आने पर अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन से बात करेंगे। दुजारिक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘ शांति और सुरक्षा के मामलों पर अंतरराष्ट्रीय लक्ष्य पूरे करने में अमेरिका की एक अहम भूमिका है। हम सतत विकास के लिए और दुनिया के सभी लोगों के लिए मानवाधिकारों को सुनिश्चित करने के लक्ष्य से बाइडन प्रशासन के साथ काम करने को उत्साहित हैं।’’

इसे भी पढ़ें: कमला हैरिस ने कैपिटल की सीढ़ियों पर खड़े होकर पेंस को दी विदाई

दुजारिक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने जलवायु, वैश्विक स्वास्थ्य, विश्व स्वास्थ्य संगठन और कोरोना वायरस के मुद्दों पर बाइडन प्रशासन के कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करने से जुड़ी खबरें देखी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ हम इन खबरों का स्वागत करते हैं। हम इन घटनाक्रमों का स्वागत करते हैं। इन कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर होने के बाद इनके नीति बनते ही हम इसका आधिकारिक रूप से भी स्वागत करेंगे।’’ दुजारिक ने कहा कि महासचिव और नया बाइडन प्रशासन ‘‘ बेहद सक्रिय और सकारात्मक तरीके से’’ मिलकर काम करेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept