रिपोर्ट में दावा, 16 में से 10 संक्रामक रोग के लिए बिल्कुल तैयार नहीं वैश्विक दवा कंपनियां

रिपोर्ट में दावा, 16 में से 10 संक्रामक रोग के लिए बिल्कुल तैयार नहीं वैश्विक दवा कंपनियां

रिपोर्ट के मुताबिक, Nipah वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप चीन में फैल रहा है और इसकी फर्टिलिटी रेट 75% घातक है। बता दें कि इस गंभीर संक्रमण के लक्षण सांस में परेशानी और मस्तिष्क में सूजन आना है। अन्य गंभीर महामारी में MERS और SARS संक्रमण शामिल हैं जो अन्य कोरोना वायरस के कारम फैलते है।

एक नई रिपोर्ट ने चेतावनी देते हुए बताया कि आने वाले समय में 10 में से एक संक्रामक रोग दुनिया भर में महामारी का कारण बन सकता है जिसके लिए वैश्विक दवा कंपनियां बिल्कुल भी तैयार नहीं हैं। जानकारी के मुताबिक, इन 10 में से, सबसे अधिक संक्रामक रोग निप्पा (Nipah) वायरस के आने की संभावना सबसे ज्यादा है।नीदरलैंड्स एक्सेस टू मेडिसिन फाउंडेशन, के संगठन की कार्यकारी निदेशक ने बताया कि Nipah वायरस एक अन्य उभरती हुई संक्रामक बीमारी है, जो बहुत चिंता का कारण है और यह किसी भी पल तेजी से बढ़ सकता है। 

इसे भी पढ़ें: UN में अमेरिका के मिशन में दो अहम पदों पर भारतवंशी महिलाओं की हुई नियुक्ति

रिपोर्ट के मुताबिक, Nipah वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप चीन में फैल रहा है और इसकी फर्टिलिटी रेट 75% घातक है। बता दें कि इस गंभीर संक्रमण के लक्षण सांस में परेशानी और मस्तिष्क में सूजन आना है। अन्य गंभीर महामारी में MERS और SARS संक्रमण शामिल हैं जो अन्य कोरोना वायरस के कारम फैलते है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा पहचाने जाने वाले 16 सबसे अधिक संक्रामक रोगों में से, इबोला और चिकनगुनिया शामिल हैं जिसके लिए फार्मास्युटिकल दिग्गजों के पास 16 में से 10 के लिए कोई भी पर्याप्त संसाधन नहीं है।  

इसे भी पढ़ें: UN के लिए अमेरिका की दूत लिंडा थॉमस ने चीन को ‘रणनीतिक प्रतिद्वंद्वी’ बताया

रिपोर्ट में कहा गया है कि "Covid19 ड्रग्स विकसित तब ही विकसित हुई है जब यह स्पष्ट हो गया कि महामारी अमीर और साथ ही गरीब देशों को प्रभावित करने जा रही है। बता दें कि ज्यादातर मामलों में, शैक्षणिक और छोटे बायोटेक संगठन आर एंड डी और उत्पादन दोनों को बढ़ाने की क्षमता के साथ बड़े फार्मा दिग्गजों के समर्थन के बिना, अगले खतरनाक प्रकोप के लिए तैयारी करने का अनुमान लगाने में जुटी हुई है।