जापान के पूर्व PM शिंजो आबे के हत्यारे का खुला बड़ा राज, मां के कारण तबाह हुई जिंदगी

shinjo abe
common creative
निधि अविनाश । Aug 27, 2022 2:35PM
शिंजो आबे की हत्या करने वाला हत्यारा तेत्सुया यामागामी एक अच्छे परिवार से आता है लेकिन उसकी मां की एक गलती के कारण आज उसकी जिदंगी तबाह हो गई है।बताया जा रहा है कि यामागामी की मां ने विवादास्पद यूनिफिकेशन चर्च को भारी रकम दान कर दी थी जिसके बाद उसका परिवार आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई थी।

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की जुलाई में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शिंजो आबे की हत्या करने वाला हत्यारा तेत्सुया यामागामी इस समय पुलिस की हिरासत में है। आबे की गोली मारकर हत्या करने वाले यामागामी के बारे में बड़ी जानकारी सामने आई है, जिससे सभी लोग काफी हैरान हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमलावर यामागामी एक अच्छे परिवार से आता है लेकिन उसकी मां की एक गलती के कारण आज उसकी जिदंगी तबाह हो गई है।

इसे भी पढ़ें: Donald Trump की मुश्किलें बढ़ी! FBI ने घर पर की छापेमारी, 15 बॉक्स में भरे मिले अमेरिकी सुरक्षा से जुड़े सीक्रेट डाक्यूमेंट्स

बताया जा रहा है कि यामागामी की मां ने विवादास्पद यूनिफिकेशन चर्च को भारी रकम दान कर दी थी जिसके बाद उसका परिवार आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई थी। यामागामी अपनी मां के इस काम से बहुत ज्यादा नाराज था। यामागामी के अनुसार, उसकी मां ने चर्च को भारी रकम दान कर दी और इसका असर उसके पूरे परिवार पर पड़ा। उसने एक पत्र भी लिखा था जिसमें उसने बताया कि "'मेरी माँ के चर्च से जुड़़ने के बाद (1990 के दशक में), मेरी पूरी किशोरावस्था बर्बाद हो गई, लगभग 10 करोड़ येन (7,35,000 अमेरिकी डॉलर) बर्बाद हो गए। उसकी मां ने लगभग छह करोड़ येन का दान दिया। पिता की मौत के बाद सकी मां ने पारिवारिक कंपनी की चार करोड़ येन की संपत्ति बेच दी जिससे 2002 में परिवार दिवालिया हो गया।

पूर्व प्रधानमंत्री की गोली मारकर हत्या करने वाले हमालवर के लिए जापान के कई नागरिक सहानुभूति जता रहे है। ये लोग यामागामी की उम्र के है और भारी संख्या में हमलावर का समर्थन कर रहे है। ये लोग तीन दशकों की आर्थिक और सामाजिक उथल-पुथल के दौरान अपनी पीड़ा को यामागामी के स्थिति से खुद को जोड़ है।

इसे भी पढ़ें: आर्टेमिस 1: अंतरिक्ष यान की पहली उड़ान मनुष्यों को चंद्रमा पर ले जाने के लिए तैयार

सोशल मीडिया पर लोग सुझाव दे रहे हैं कि यामागामी के हिरासत केन्द्र को पैकेज देना चाहिए। इससे हमलावर को खुशी महसूस होगी। बता दें कि लगभग 7 हजार लोगों ने यामागामी के लिए अपना समर्थन दिखाया है और अभियोजन पक्ष से नरमी का अनुरोध करते हुए एक याचिका पर हस्ताक्षर किए हैं। यामागामी को मानसिक जांच के लिए पुलिस हिरासत में रखा गया है। इससे पहले भी यामागामी ने यूनिफिकेशन चर्चको लेकर अपनी नफरत व्यक्त की थी।

अन्य न्यूज़