रशिया, रशिया, रशिया का नारा, अमेरिका को चेतावनी, क्रेमलिन समारोह में पुतिन ने यूक्रेनी क्षेत्रों के विलय की घोषणा के साथ कहा- हमला किया तो...

Putin
Creative Common
अभिनय आकाश । Sep 30, 2022 7:42PM
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को एक समारोह में यूक्रेन के चार क्षेत्रों के विलय की घोषणा की। क्रेमलिन के सेंट जॉर्ज हॉल में सैकड़ों गणमान्य व्यक्तियों के साथ बोलते हुए, पुतिन ने कहा कि ये लाखों लोगों की इच्छा है।"

रूस और यूक्रेन की जंग में अब पुतिन ने एक नई चाल चल दी है। पूर्व सोवियत देशों के खुफिया प्रमुखों के साथ एक बैठक में पुतिन ने कहा कि ये देखने के लिए पर्याप्त है कि रूस और यूक्रेन के बीच  क्या हो रहा है और कुछ दूसरे सीआईएस देशों की सीमाओं पर क्या हो रहा है। ये सब निश्चित रूप से सोवियत संघ के पतन का परिणाम है। पुतिन की तरफ से यूएसएसआर से निकले देशों से एक होने की अपील की है। व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि नया वर्ल्ड ऑर्डर बनाने में मेरी मदद करें। हमारी जमीन पर पश्चिमी देश युद्ध की साजिश कर रहे थे। पुतिन ने पुराने साथियों से रूसी एजेंसियों के साथ सहयोग बढ़ाने की भी अपील की है। पुतिन ने ये अपील ऐसे वक्त में जारी की है जब यूक्रेन के चार इलाकों को रूस में शामिल करने का कदम बढ़ाया जा चुका है। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन के 18 फीसदी हिस्से पर आज से रूस का कब्जा, संधियों पर होंगे हस्ताक्षर

विलय पर हस्ताक्षर के बाद रशिया का नारा 

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को एक समारोह में यूक्रेन के चार क्षेत्रों के विलय की घोषणा की। क्रेमलिन के सेंट जॉर्ज हॉल में सैकड़ों गणमान्य व्यक्तियों के साथ बोलते हुए, पुतिन ने कहा कि ये लाखों लोगों की इच्छा है।" रूसी शीर्ष अधिकारियों को संबोधित करते हुए पुतिन ने चेतावनी देते हुए कहा कि डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जापोरिजिया, खेरसॉन के लोग अब रूसी नागरिक हो चुके हैं। अगर इन पर हमला हुआ तो उसे रूस पर हमला माना जाएगा। रूस अपने नागरिकों की संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत से जवाबी कार्रवाई करेगा। विलय पर हस्ताक्षर के बाद पुतिन और अन्य अधिकारियों ने रशिया, रशिया, रशिया का नारा भी लगाया।  

इसे भी पढ़ें: गोलीबारी के बाद जेलेंस्की ने रूस को बताया ''आतंकवादी देश'', कहा- हर जीवन का आपको जवाब देना होगा

जेलेंस्की बोले- पुतिन को रोकना होगा 

पुतिन के यूक्रेनी समकक्ष जेलेंस्की ने कहा कि अगर रूस को युद्ध के सबसे हानिकारक परिणामों से बचना है तो पुतिन को रोकना होगा। रूस द्वारा डोनेट्स्क, लुहान्स्क, खेरसॉन और ज़ापोरिज्जिया के रूसी कब्जे वाले क्षेत्रों पर कब्जा करने की पश्चिम में व्यापक रूप से निंदा की गई है। एसोसिएटेड प्रेस ने एक अधिकारी के हवाले से बताया कि शुक्रवार को ज़ापोरिज्जिया में रूसी मिसाइल हमले के दौरान यूक्रेनी नागरिकों को ले जा रहे वाहनों के एक मानवीय काफिले को टक्कर मार दी गई थी, जिसमें 23 लोगों की मौत हो गई थी और 28 लोग घायल हो गए थे। 

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी दौरे पर विदेश मंत्री जयशंकर ने की 100 बैठकें, समझिये इस पूरी कवायद से भारत को क्या लाभ हुआ?

गौरतलब है कि 25 दिसंबर 1991 को सोवियत संघ टूट गया था। जिसके बाद दुनिया के नक्शे पर 15 नए देशों ने आकार लिया। इनमें अर्मिनिया, अजरबैजान, बेलारूस, स्टोनिया, जॉर्जिया, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, लाटविया, लिथुआनिया, मालोवार, रूस, ताजकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, उज्बेकिस्तान और यूक्रेन शामिल हैं।  

अन्य न्यूज़