बाइडेन के शपथ से पहले ट्रंप व्हाइट हाउस से हुए रवाना, 20 एकड़ में फैला है ये नया ठिकाना

  •  अभिनय आकाश
  •  जनवरी 20, 2021   19:29
  • Like
बाइडेन के शपथ से पहले ट्रंप व्हाइट हाउस से हुए रवाना, 20 एकड़ में फैला है ये नया ठिकाना

अपने चार वर्षों के कार्यकाल के दौरान ट्रंप ने मार-ए-लागो में खासा वक्त बिताया है जिसे विंटर व्हाइट हाउस का नाम भी दिया जाता रहा है। सितंबर 2019 के महीने में ही ट्रंप ने अपने कानूनी निवास को न्यूयाॅर्क के ट्रंप टावर से बदलकर मार-ए-लागो कर दिया था।

अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ ग्रहण से पहले ही व्हाइट हाउस से रवाना हो गए। डोनाल्ड ट्रंप फ्लेरिडा में पाम बीच तट के पास स्थित अपने मार-ए-लागो एस्टेट को ही अपना स्थायी आवास बनाएंगे। अपने चार वर्षों के कार्यकाल के दौरान ट्रंप ने मार-ए-लागो में खासा वक्त बिताया है जिसे विंटर व्हाइट हाउस का नाम भी दिया जाता रहा है। सितंबर 2019 के महीने में ही ट्रंप ने अपने कानूनी निवास को न्यूयाॅर्क के ट्रंप टावर से बदलकर मार-ए-लागो कर दिया था। 

इसे भी पढ़ें: अभूतपूर्व सुरक्षा के बीच जो बाइडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति पद की लेंगे शपथ, ट्रंप समारोह में नहीं होंगे शामिल

 20 एकड़ में फैला है स्टेट

करीब 20 एकड़ में फैले इस स्टेट को 1985 में ट्रंप ने एक करोड़ डाॅलर में यह घर खरीदा था। जिसे बाद में एक निजी क्लब में बदल दिया था। ट्रंप के शासनकाल के दौरान ये उनका विंटर होम रहा। इसमें 128 कमरे हैं। एस्टेट के सामने अटलांटिक महासागर का शानदार नजारा दिखता है। इसमें 20000 वर्ग फुट का बाॅलरूम, पांच क्ले टेनिस कोर्ट और एक वाटरफ्रंट पूल शामिल हैं। 

व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद ट्रंप ने दिया विदाई भाषण 

अमेरिकी राष्ट्रपति अपने कार्यकाल के समापन पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि ये 4 साल अविश्वसनीय रहे हैं। हमने एक साथ बहुत कुछ पूरा किया। मैं अपने परिवार, दोस्तों और अपने कर्मचारियों को धन्यवाद देना चाहता हूं। लोगों को नहीं पता कि इस परिवार ने कितनी मेहनत की है। हमारे पास दुनिया का सबसे महान देश और अर्थव्यवस्था है। करोना ने हमको बुरी तरह से प्रभावित किया था। लेकिन हमने चमत्कार कर 9 महीने के अंदर कोरोना की वैक्सीन बना ली। 







अमेरिका ने संघर्ष विराम पर भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का किया स्वागत, जानिए क्या कुछ कहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   10:02
  • Like
अमेरिका ने संघर्ष विराम पर भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का किया स्वागत, जानिए क्या कुछ कहा

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा, ‘‘अमेरिका, भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का स्वागत करता है कि दोनों देश नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का सख्ती से पालन करने पर सहमत हुए हैं और यह 25 फरवरी से प्रभावी हो गया है।’’

वाशिंगटन। अमेरिका ने नियंत्रण रेखा तथा अन्य क्षेत्रों में संघर्षविराम के सभी समझौतों का सख्ती से पालन करने के भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का स्वागत किया और इसे दक्षिण एशिया में शांति एवं स्थिरता की दिशा में एक सकारात्मक कदम बताया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बृहस्पतिवार को अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बाइडन प्रशासन पाकिस्तान सहित क्षेत्र के नेताओं और अधिकारियों के साथ संपर्क में है। साकी ने कहा, ‘‘अमेरिका, भारत और पाकिस्तान के संयुक्त बयान का स्वागत करता है कि दोनों देश नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का सख्ती से पालन करने पर सहमत हुए हैं और यह 25 फरवरी से प्रभावी हो गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: रिश्ते सुधारने की दिशा में आगे बढ़े भारत-पाक, सीमा पर शांति के लिए बनाई आपसी सहमति 

भारत और पाकिस्तान ने संयुक्त बयान जारी कर जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा एवं अन्य क्षेत्रों में संघर्षविराम के सभी समझौतों का सख्ती से पालन करने पर सहमति जतायी है। इस बारे में पूछे जाने पर प्रेस सचिव ने कहा, ‘‘यह दक्षिण एशिया में शांति एवं स्थिरता की दिशा में एक सकारात्मक कदम है, जिसमें हमारे साझा हित जुड़े हैं। हम दोनों देशों को इस प्रगति को बनाये रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पर्याप्त कदम उठा रहा है, इस पर उन्होंने कहा ‘‘ उस आकलन के बारे में मैं आपको विदेश मंत्रालय या खुफिया विभाग की ओर इशारा करूंगी।’’ 

इसे भी पढ़ें: गृह मंत्री ने पूर्वी लद्दाख की मौजूदा स्थिति के बारे में दी जानकारी, जानिए दिनभर सदन में क्या कुछ हुआ  

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने एक अलग संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रशासन ने एलओसी पर तनाव कम करने के लिए दोनों पक्षों से 2003 में हुए संघर्ष विराम समझौते का पालन करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा, ‘‘हम नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों की निंदा करते हैं।’’ प्राइस ने कहा, ‘‘अमेरिका की भूमिका की बात करें तो हम कश्मीर एवं अन्य संबंधित मुद्दों पर भारत और पाकिस्तान के बीच सीधी वार्ता का समर्थन करते हैं और निश्चित रूप से इस समझौते का स्वागत करते हैं, जो 25 फरवरी से प्रभावी हो गया है।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक महत्वपूर्ण सहयोगी है जिसके साथ अमेरिका के कई साझा हित जुड़े हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




टीको की कमी झेल रहे ब्राजील ने भारतीय कंपनी के साथ किया समझौता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   09:11
  • Like
टीको की कमी झेल रहे ब्राजील ने भारतीय कंपनी के साथ किया समझौता

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो के प्रशासन ने बताया कि ‘कोवैक्सीन’ टीके की 80 लाख खुराक की पहली खेप मार्च में आएगी। 80 लाख खुराक की दूसरी खेप के अप्रैल में और अन्य 40 लाख खुराक के मई में आने की संभावना है।

साओ पाउलो। ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 के टीके ‘कोवैक्सीन’ की दो करोड़ खुराक खरीदने के लिए भारत की दवा कम्पनी ‘भारत बायोटेक’ के साथ समझौता किया है। ‘कोवैक्सीन’ के इस्तेमाल को हालांकि स्थानीय नियामकों ने अभी तक मंजूरी नहीं दी है। यह समझौता उस दिन किया गया, जब ब्राजील में संक्रमण से मौत का आंकड़ा ढाई लाख पर पहुंच गया है। 

इसे भी पढ़ें: चीन ने कोविड-19 के दो और टीको को वृहद उपयोग की मंजूरी दी, अब टीकाकरण के लिए चार टीके हैं 

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो के प्रशासन ने बताया कि ‘कोवैक्सीन’ टीके की 80 लाख खुराक की पहली खेप मार्च में आएगी। 80 लाख खुराक की दूसरी खेप के अप्रैल में और अन्य 40 लाख खुराक के मई में आने की संभावना है। ब्राजील टीकों की कमी के कारण अपनी 21 करोड़ की आबादी में से केवल चार प्रतिशत लोगों को ही टीके लगा पाया है। देश की दवा कंपनी ‘प्रीसीसा मेडिकामेंटोस’ और ‘भारत बायोटेक’ दोनों में से किसी ने इस समझौते की पुष्टि नहीं की है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




चीन ने कोविड-19 के दो और टीको को वृहद उपयोग की मंजूरी दी, अब टीकाकरण के लिए चार टीके हैं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   08:39
  • Like
चीन ने कोविड-19 के दो और टीको को वृहद उपयोग की मंजूरी दी, अब टीकाकरण के लिए चार टीके हैं

कैनसिनो बायोलोजिक्स ने कहा कि एक खुराक वाला उसका टीका खुराक दिये जाने के 28 दिन के बाद 65.28 फीसदी प्रभावी है। उसका दो से लेकर आठ डिग्री के तापमान में तक भंडारण किया जा सकता है।

ताइपे। चीन ने बृहस्पतिवार को कोविड-19 के दो और टीको को वृहद उपयोग की मंजूरी दी और उसके टीकों की संख्या बढ़ गयी है। नेशनल मेडिकल प्रोडक्ट्स एडमिनिस्ट्रेशन ने कैनसिनो बायोलोजिक्स और सरकारी कंपनी सिनोफार्म के एक-एक टीके को सशर्त मंजूरी दी। दोनों ही टीके आपात उपयोग मंजूरी के तहत पहले ही लोगों के चुनिंदा समूहों में लगाये जा रहे हैं। चीन के पास अब अपने लोगों का टीकाकरण करने के लिए चार टीके हैं। 

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में कोरोना का कोहराम जारी, अब तक संक्रमण के कारण पांच लाख लोगों की हुई मौत 

कैनसिनो ने कहा कि एक खुराक वाला उसका टीका खुराक दिये जाने के 28 दिन के बाद 65.28 फीसदी प्रभावी है। उसका दो से लेकर आठ डिग्री के तापमान में तक भंडारण किया जा सकता है। किसी चीनी कंपनी का यह पहला कोविड-19टीका है जिसकी एक खुराक की ही जरूरत होगी। वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलोजिक्स की सहायक कंपनी सिनोफार्म ने कहा कि उसका टीका 72.51 फीसद कारगर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept