अप्रतिम साहस ! रूसी सेना के टैंकों को रोकने के लिए यूक्रेनी सैनिक ने खुद को पुल के साथ उड़ाया

अप्रतिम साहस ! रूसी सेना के टैंकों को रोकने के लिए यूक्रेनी सैनिक ने खुद को पुल के साथ उड़ाया
प्रतिरूप फोटो

कीव में भीषण संघर्ष के बीच में एक यूक्रेनी सैनिक ने अप्रतिम साहस का उदाहरण पेश किया। यूक्रेनी सैनिक ने अपने देश में रूसी सेना के टैंको को घुसने से रोकने के लिए खुद को पुल के साथ उड़ा लिया। जिसकी वजह से रूसी सैनिको को दूसरे छोर पर जाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी।

कीव। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है। ऐसे में तरह-तरह की चौंका देने वाली खबरें सामने आ रही हैं। आपको बता दें कि रूसी सैनिक यूक्रेन की राजधानी कीव में प्रवेश कर चुके हैं। राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के सलाहकार मिखाइलो पोदोलिक ने बताया कि रूसी सेना के छोटे समूहों ने कीव में घुसपैठ करने की कोशिश की और यूक्रेनी सैनिकों के साथ उनकी मुठभेड़ हुई। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन-रूस युद्ध के बीच PM मोदी ने की सीसीएस की बैठक, मौजूदा हालात पर हुई विस्तृत चर्चा 

कीव में भीषण संघर्ष के बीच में एक यूक्रेनी सैनिक ने अप्रतिम साहस का उदाहरण पेश किया। यूक्रेनी सैनिक ने अपने देश में रूसी सेना के टैंको को घुसने से रोकने के लिए खुद को पुल के साथ उड़ा लिया। जिसकी वजह से रूसी सैनिको को दूसरे छोर पर जाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। ऐसे में इस यूक्रेन सैनिक के बलिदान की चौतरफा तारीफ हो रही है।

यूक्रेनी सैनिक ने ऐसे उड़ाया था पुल

खुद को पुल के साथ उड़ाने वाले सैनिक की पहचान मरीन बटालियन इंजीनियर विटाली शकुन के तौर पर हुई है। यूक्रेन के जनरल स्टाफ ऑफ ऑर्म्ड फोर्सेज ने खुद इसकी पुष्टि की है। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर बताया कि बटालियन ने रूसी सेना को रोकने के लिए पुल को उड़ाने का निर्णय किया। ऐसे में पुल के चारों तरफ विस्फोटक लगा दिए गए लेकिन वहां से बाहर निकलने का समय कम था और धमाका करने वाले सैनिक की मौत भी निश्चित थी। ऐसे में विटाली शकुन ने मैसेज भेजा की वह पुल को उड़ाने जा रहे हैं और फिर कुछ वक्त बाद धमाके की आवाज आई। इस मुश्किल वक्त में सभी यूक्रेनी एक साथ खड़े हैं। यूक्रेनी लोग सभी दिशाओं से रूसी सैनिकों को खदेड़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: आर्थिक प्रतिबंधों को कुंद करने के लिए रूस की एक मात्र उम्मीद चीन से, फिर भी रूस सावधान

यूक्रेन पर कब्जा नहीं करेगा रूस ?

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को देश की सुरक्षा परिषद के साथ एक बैठक की थी। जिसमें उन्होंने दावा किया था कि रूसी सेना यूक्रेन पर कब्जा नहीं करेंगे। इसके साथ ही हम यूक्रेन को परमाणु हथियार नहीं बनाने देंगे। वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के सलाहकार मिखाइलो पोदोलिक ने बताया कि रूस कीव पर कब्जा करना चाहता है और देश के नेतृत्व को नष्ट करना चाहता है लेकिन रूसी सेना कोई बढ़त हासिल करने में विफल रही है।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...