UN ने फारस की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हमले की निंदा की

united-nations-security-council-asked-maximum-restraint-in-the-gulf
परिषद का कहना है कि टैंकरों पर हमले ‘‘समुद्री नौवहन और ऊर्जा आपूर्ति के लिए गंभीर खतरे को दर्शाते हैं।’’ संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन प्रमुख रोजमेरी डिकार्लो द्वारा इन हमलों पर चर्चा और परामर्श के बाद सोमवार को यह बयान पढ़ा गया।

वॉशिंगटन। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने फारस की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हालिया हमलों की निंदा करते हुए सभी पक्षों से ‘‘अधिकतम संयम बरतने और तनाव कम करने की दिशा में कदम उठाने को कहा है।’’ परिषद का कहना है कि टैंकरों पर हमले ‘‘समुद्री नौवहन और ऊर्जा आपूर्ति के लिए गंभीर खतरे को दर्शाते हैं।’’

इसे भी पढ़ें: कांगों में भारतीय महिला शांतिसैनिकों ने संभाला कार्यभार, पीड़ित महिलाओं-बच्चों की करेंगी मदद

संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन प्रमुख रोजमेरी डिकार्लो द्वारा इन हमलों पर चर्चा और परामर्श के बाद सोमवार को यह बयान पढ़ा गया।

इसे भी पढ़ें: भारत के फलस्तीनी NGO के खिलाफ दिए वोट का फलस्तीनी मुद्दे से संबंध नहीं: विदेश मंत्रालय

संयुक्त राष्ट्र की सबसे शक्तिशाली संस्था सुरक्षा परिषद ने कहा कि ये हमले नौवहन की स्वतंत्रता और समुद्री परिवहन की आजादी के अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करते हैं और अंतरराष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करते हैं। अमेरिका ने इन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं ईरान ने इनमें किसी भी संलिप्तता से इंकार किया है।

इसे भी देखें- 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़